स्वर्ण मंदिर के अकाल तख्त पर दो गुटों में खूनी संघर्ष, कई घायल

अमृतसर : ऑपरेशन ब्लू स्टार की बरसी के मौके पर स्वर्ण मंदिर के अकाल तख्त पर दो गुटों में तलवारें चलीं। कार्यक्रम में सिमरन जीत सिंह मान के समर्थकों और स्वर्ण मंदिर की टास्क फोर्स के बीच झड़प हो गई। इस झड़प में कई लोगों के घायल होने की खबर है। कार्यक्रम के दौरान माइक पर बोलने को लेकर विवाद हुआ जिसके बाद दोनों गुटों में हिंसक झड़प हो गई। श्रद्धांजलि कार्यक्रम शुरू हुआ तो सिमरन जीत सिंह मान माइक को पर कुछ संबोधित करना चाहते थे, लेकिन अकाल तख्त और स्वर्ण मंदिर प्रबंधन नहीं चाहती थी कि वो कुछ बोले जब उन्हें मना किया गया तो उनके समर्थकों ने माइक छीनने की कोशिश की, जिसके बाद टास्क फोर्स और सिमरन जीत सिंह मान के समर्थकों के बीच तलवारें चलने लगीं। हमले के बाद स्वर्ण मंदिर में भगदड़ मच गई। इस दौरान कुछ मीडियाकर्मियों के कैमरे तोड़ दिए गए और कुछ कैमरों से फोटो डिलीट कर दी गई। दल खालसा के प्रवक्ता कंवरपाल सिंह और उनके 50 समर्थकों को पुलिस ने स्वर्ण मंदिर के बाहर रोक रखा है। भटिंडा और जालंधर से पुलिस का दंगा निरोधी दस्ता अमृतसर रवाना हो चुका है। स्वर्ण मंदिर के बाहर पुलिस की गश्त जारी है। जानकारी के मुताबिक, हिंसक झड़प में शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (SGPC) और दूसरे सिख गुट से जुड़े लोग शामिल थे। गौरतलब है कि स्वर्ण मंदिर में किसी तरह के आयोजन आदि करने का जिम्मेदारी एसजीपीसी की है। शिरोमणि अकाली दल के सांसद प्रेम सिंह ने हिंसक घटना की निंदा करते हुए कहा, `एक अहम मौके पर इस तरह की घटना बेहद दुर्भाग्‍यपूर्ण है।` उन्‍होंने कहा कि गुरुद्वारा कमेटी द्वारा इस मामले की जांच कराई जाएगी। अगर इसका कोई सदस्‍य हिंसा में शामिल पाया गया, तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।


The Betst bookmaker bet365 Review
How to register at bookamkersHere