वाईसी मोदी होंगे एनसीए के प्रमुख, शरद कुमार की जगह संभालेंगे कार्यभार

नई दिल्ली: वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी वाई.सी. मोदी को आज राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) का प्रमुख और रजनीकांत मिश्रा को सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) का महानिदेशक नियुक्त किया गया। वाई.सी.मोदी, वर्ष 2002 के गुजरात दंगों की जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित विशेष जांच टीम का हिस्सा रह चुके हैं। संघीय जांच एजेंसी पर आतंकवाद और आंतक-वित्तपोषण से संबंधित मामलों की जांच का जिम्मा है। कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग (डीओपीटी) की ओर से जारी एक आदेश में कहा गया है कि केंद्रीय मंत्रिमंडल की नियुक्ति समिति (एसीसी) ने एनआईए के महानिदेशक के तौर पर मोदी की नियुक्ति को स्वीकृति दी है। भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) के एक अन्य वरिष्ठ अधिकारी, रजनी कांत मिश्रा को सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) का महानिदेशक नियुक्त किया गया है। आदेश में कहा गया कि मोदी अपनी सेवानिवृत्ति यानि 31 मई, 2021 तक इस पद पर आसीन रहेंगे। एसीसी ने तत्काल प्रभाव से एनआईए में विशेष ड्यूटी अधिकारी (ओएसडी) के तौर पर भी मोदी की नियुक्ति को स्वीकृति दे दी है। मोदी, 1984 बैच के असम-मेघालय कैडर के आईपीएस अधिकारी हैं और वह फिलहाल केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) में विशेष निदेशक हैं। आदेश के मुताबिक, वह शरद कुमार की जगह लेंगे जिनका कार्यकाल 30 अक्तूबर को पूरा हो रहा है। जुलाई 2013 में एनआईए महानिदेशक नियुक्त किए गए कुमार का कार्यकाल दो बार बढ़ाया जा चुका है। पिछले साल अक्तूबर में उनका कार्यकाल एक साल के लिए बढ़ाया गया था ताकि वह कुछ जरूरी जांचों में एजेंसी की मदद कर सकें। इन जांचों में पठानकोट आतंकी हमला, कश्मीर में आंतकी घटनाएं, बर्दवान विस्फोट मामला और समझौता एक्सप्रेस विस्फोट मामला शामिल है। डीओपीटी के आदेश में बताया गया है कि मिश्रा अपनी सेवानिवृत्ति की तिथि यानि 31 अगस्त, 2019 तक एसएसबी महानिदेशक का पद संभालेंगे। मिश्रा 1984 बैच के उत्तर प्रदेश कैडर के आईपीएस अधिकारी हैं और वह वर्तमान में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के अतिरिक्त महानिदेशक का पद संभाल रहे हैं।

वायुपुत्र अर्जन सिंह को राजकीय सम्मान के साथ दी गई अंतिम विदाई

नई दिल्ली। वायुसेना के एकमात्र मार्शल अर्जन सिंह को सोमवार सुबह पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई। उनका अंतिम संस्कार ब्रार स्क्वेयर पर किया गया। इसके पहले श्रद्धांजलि दी गई जिसके लिए रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के अलावा लालकृष्ण आडवाणी और तीनों सेनाओं के प्रमुखों के अलावा कई लोग मौजूद थे। अर्जन सिंह के सम्मान में सोमवार को यहां सभी सरकारी इमारतों में राष्ट्रध्वज आधा झुका दिया गया। देश के एकमात्र वायुसेना मार्शल अर्जन सिंह को अंतिम विदाई देने से पहले उन्हें 21 तोपों की सलामी दी गई साथी है वायुसेना के फायटर जेट और हेलीकॉप्टर्स ने ब्रार स्क्वेयर के ऊपर से उड़ान भरी। इससे पहले रविवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने घर जाकर अर्जन सिंह के अंतिम दर्शन किए और उन्हें श्रद्धांजलि दी। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने अर्जन सिंह के पार्थिव शरीर पर पुष्पचक्र चढ़ा कर श्रद्धांजलि दी। इस दौरान वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल बीएस धनोआ, नौसेना प्रमुख एडमिरल सुनील लाम्बा, थलसेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत और केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी भी मौजूद थे। अर्जन सिंह को श्रद्धांजलि देने वालों में वित्त मंत्री अरुण जेटली, केंद्रीय मंत्री और पूर्व थलसेना प्रमुख वीके सिंह, पूर्व रक्षा मंत्री एके एंटनी और कांग्रेस सांसद कर्ण सिंह में शामिल हैं। रक्षा मंत्री सीतारमण ने बताया कि अर्जन सिंह का अंतिम संस्कार सोमवार सुबह साढ़े नौ बजे बरार स्क्वायर में किया जाएगा। शवयात्रा सुबह साढ़े आठ बजे उनके निवास सात-ए, कौटिल्य मार्ग से शुरू होगी। अगर मौसम ठीक रहा तो उनके सम्मान में फ्लाई पास्ट का भी आयोजन किया जाएगा। उप राष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने अपने शोक संदेश में अर्जन सिंह को भारतीय नौसेना का 'आइकन' बताया और 1965 के भारत-पाक युद्ध के दौरान उनके योगदान का याद किया। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने अर्जन सिंह के निधन पर शोक जताया और उन्हें उत्कृष्ट सैनिक और राजनयिक बताया। भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने कहा कि उनके निधन से सेना ने अगुआ और नेतृत्व करने वाली रोशनी को खो दिया है। मार्शल अर्जन सिंह का शनिवार को सेना के रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल में निधन हो गया था। वह 98 साल के थे। वह वायुसेना एकमात्र अधिकारी थे जिन्हें फाइव स्टार रैंक दिया गया था। उन्हें 44 वर्ष की आयु में ही भारतीय वायुसेना का नेतृत्व करने की जिम्मेदारी दी गई जिसे उन्होंने शानदार तरीके से निभाया।

More Articles...

  1. क्यों भारत-जापान के नॉर्थ ईस्ट प्लान से डर गया 'चीन'
  2. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भारत के इकलौते फाइव स्टार मार्शल अर्जन सिंह को दी श्रद्धांजलि
  3. डूसू में जीत पर बोली कांग्रेस- राहुल के यंग इंडिया पर युवाओं को भरोसा
  4. दरवाजा खुला था और सुरंग के भीतर दौड़ती रही दिल्ली मेट्रो
  5. दिल्ली एनसीआर में पटाखों पर प्रतिबंध के लिए बने कमेटी: सुप्रीम कोर्ट
  6. रेयान स्कूल मालिकों ने फर्जी कंपनी के जरिए कमाए करोड़ों, सेबी की रिपोर्ट में खुलासा
  7. दिल्ली: स्कूल परिसर में 5 साल की बच्ची से दुष्कर्म, चपरासी गिरफ्तार,मजिस्ट्रेट जांच के आदेश
  8. जेएनयू छात्रसंघ पर वाम गठबंधन का फ‍िर कब्‍जा, गीता कुमारी बनीं अध्‍यक्ष
  9. जेएनयू छात्रसंघ चुनाव : 58.69% हुई वोटिंग, आज आ सकते हैं नतीजे, 11 को होगी घोषणा
  10. पद संभालते ही रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने दिया पूर्व सैनिकों को तोहफा

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3