कार्ति के ठिकानों पर छापेमारी, चिदंबरम बोले- ईडी के पास जांच का कोई अधिकार नहीं

नई दिल्ली पूर्व वित्तमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम की मुश्किलें थमने का नाम नहीं ले रही है। प्रवर्तन निदेशालय ने कार्ति के दिल्ली और चेन्नई में स्थित ठिकानों पर छापेमारी की है। एयरटेल-मैक्सिस डील में हुई धांधली के आरोप में ईडी की ओर से ये छापेमारी की गई। बेटे के खिलाफ उठाए जा रहे कदमों पर पी चिदंबरम ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की और कहा कि साजिश के तहत कार्रवाई को अंजाम दिया जा रहा है। चिदंबरम ने कहा कि मनी लॉन्ड्रिंग के तहत ईडी की ओर जांच का कोई मतलब नहीं बनता है, लेकिन फिर भी छापेमारी की जा रही है। उन्होंने कहा कि जोरबाग में स्थित बंगला कार्ति का नहीं मेरा है। वहीं उन्होंने छापेमारी के दौरान कुछ भी नहीं मिलने की पुष्टि करते हुए कहा कि घर के किचन, ड्राइंग रूम और बाकी जगहों को तलाशा गया लेकिन ईडी को कुछ नहीं मिला। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरेजवाला ने कहा कि पी चिदंबरम और उनके बेटे के खिलाफ साजिश से मुझे हैरानी नहीं है। पीएम मोदी और उनकी सरकार सीबीआई और ईडी का इस्तेमाल विपक्ष के खिलाफ कर रही है।ऑनलाइन मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ईडी ने जिस वक्त छापेमारी की उस दौरान वहां कार्ति और पी चिदंबरम भी मौजूद थे।सीबीआई द्वारा विशेष अदालत में दाखिल चार्जशीट के अनुसार, मैक्सिस की सहायक कंपनी ग्लोबल कम्यूनिकेशन सर्विसेज होल्डिंग्स लिमिटेड ने एयरसेल में 800 मिलियन डॉलर के निवेश के लिए मंजूरी मांगी थी। आर्थिक मामलों की कैबिनेट कमेटी इस मामले में अनुमति के लिए सक्षम थी। हालांकि तत्कालीन वित्त मंत्री चिदंबरम द्वारा इस संबंध में अनुमोदन प्रदान किया गया था। इस संबंध में आगे की जांच जारी है। इस मामले में कार्ति के शामिल होने का आरोप है।

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3