ऑस्ट्रेलियाई संसद में अलग से नहीं बैठेंगी बुर्के वाली महिलाएं

मेलबर्न। ऑस्ट्रेलियाई संसद में बुर्का पहनकर आई महिलाओं को अलग से शीशे से बने साउंड प्रूफ एन्क्लोजर में बैठाने की योजना को खत्म कर दिया गया है। प्रधानमंत्री टोनी एबोटे के हस्तक्षेप के बाद यह फैसला किया गया। लिबरल सांसद बरनाडी ने भवन में बुर्का पहनकर आई, महिलाओं को अलग जगह पर बैठाने का अनुरोध किया था। बरनाडी का कहना था कि बुर्का जुल्म का प्रतीक है और यह गैर-ऑस्ट्रेलियाई है। इसलिए सुरक्षा कारणों से वह इस पर प्रतिबंध लगवाना चाहते हैं। इससे पहले संसद का कामकाज देखने वाले सरकारी विभाग ने घोषणा की थी कि प्रतिनिधि सभा अथवा सीनेट की खुली लोक दीर्घा में चेहरा ढककर आने वालों को बैठने की अनुमति नहीं दी जाएगी। इसके स्थान पर उन्हें स्कूली बच्चों के लिए आरक्षित दीर्घाओं के बगल में साउंड प्रूफ शीशे के बने एन्क्लोजर में बिठाने की योजना थी। बहरहाल, संसद की कार्यवाही शुरू होने से पहले संसदीय सेवा विभाग ने एक बयान में कहा है कि बुर्का पहनकर आने वालों को संसद भवन की सभी लोक दीर्घाओं में बैठने की अनुमति होगी।

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3