बायोडीजल फैक्ट्री में लगी आग, 120 करोड़ से ज्यादा के नुकसान का अनुमान

 विशाखापट्टनम आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम शहर में एक भीषण हादसा हुआ है। शहर की एक बायोडीजल फैक्ट्री आग की चपेट में आ गई है। हालांकि इस दुर्घटना में अब तक किसी के हताहत होने की कोई खबर नहीं आई है। शहर के दुव्वाडा स्पेशल इकोनोमिक जोन में पड़ने वाली बायोमैक्स कंपनी में मंगलवार रात को अचानक आग लग गई। आग इतनी भयंकर थी कि फायर ब्रिगेड की 40 गाड़ियां आग बुझाने के लिए लगाई गई। आग लगने के कारणों का अभी ठीक से पता नहीं चल पाया है। पुलिस के अनुसार शाम 7.30 बजे जब आग लगी तब फैक्ट्री में 18 टैंकर थे जिनमें से 12 आग की चपेट में आ चुके हैं। कड़ी मेहनत के बाद फायर ब्रिगेड ने 4 टैंकरों में लगी आग पर काबू पा लिया है 8 टैंकर अभी भी प्रभावित हैं। दमकल कर्मियों का कहना है कि बुधवार सुबह तक भी कुछ टैंकरों से धुआं निकल रहा था। टैंकरों में भरे ज्वालनशील पदार्थ को पहले जलने दिया जाएगा। उसके बाद ही उसे बुझाने का काम किया जा सकता है। वहीं वहां मौजूद लोगों का कहना है आग की वजह से छह टैंकरों में धमाका हुआ था। जब आग लगी उस समय फैक्ट्री में 15 लोग काम कर रहे थे सभी के सभी समय रहते फैक्ट्री से बाहर निकलने में कामयाब रहे। अनुमान है कि इस आग से करीब 120 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। अधिकारियों का कहना है कि दमकल विभाग के सतर्कता की वजह से छह टैंकों का नुकसान होने से बचा लिया गया है। नौसेना के क्षेत्र के कमांडर रवींद्र ने कहा कि हमने आठ दमकल की गाड़ियों को भेजा है।

करोड़पतियों से भी बड़े दिल वाला है ये भिखारी, मंदिर में दान कर दिए चांदी के तीन मुकुट

विजयवाड़ा। आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा में एक भिखारी ने भगवान राम को चांदी का मुकुट भेंट किया है। 75 साल के यदिरेड्डी मंदिर के बाहर भीख मांगकर गुजारा करते हैं। भीख में मिले पैसों से उन्होंने भगवान राम के मंदिर में चांदी के तीन मुकुट भेंट किए। मंदिर में मौजूद कई लोग इस घटना के गवाह बने। किसी के चेहरे पर खुशी थी तो कोई यदिरेड्डी की श्रद्धा देखकर हैरान था। नोटबंदी के इस दौर में एक भिखारी का भगवान को इतना बड़ा दान किसी को भी हैरान कर सकता है। लेकिन इन बातों से बेपरवाह येदिरेड्डी अपनी आस्था को सिर पर उठाए मंदिर के अंदर पहुंचे। और फिर पुजारियों ने विधि विधान से मुकुट का पूजन किया। उसके बाद मंदिर के मुख्य पुजारी ने चांदी के मुकुट भगवान को अर्पित किए। दान करने के बाद येदिरेड्डी फिर उसी जगह पहुंच गए जहां वो भीख मांगकर गुजारा करते हैं। लेकिन उनकी आस्था की चर्चा आंध्र प्रदेश के कोने कोने में हो रही है।

More Articles...

  1. सीएम चंद्रबाबू नायडू ने केंद्र को दी धमकी, कहा- 'न्याय नहीं मिला तो सरकार को होगा दर्द'
  2. कर्नाटक विधानसभा चुनाव: शाह बोले सत्ता में आए तो यूपी की तर्ज पर 90 दिनों में होगा किसानों का कर्ज माफ
  3. येचुरी ने संभाली माकपा की कमान
  4. प्रक्षेपण के कुछ देर बाद ही कक्षा में स्‍थापित हुआ रिसोर्ससैट-2ए
  5. कर्नाटक: बाहुबली महामस्तकाभिषेक महोत्सव के लिए श्रवणबेलगोला पहुंचे पीएम मोदी
  6. आंध्र प्रदेश-ओडिशा बॉर्डर पर एनकाउंटर, पुलिस ने 23 माओवादियों को किया ढेर
  7. भारत आए ईरानी राष्ट्रपति, मुस्लिम समुदायों को एकजुट रहने का दिया संदेश
  8. आंध्र प्रदेश : बस गोदावरी नदी में गिरी, 22 की दर्दनाक मौत
  9. ओवैसी के बोल- ना मोदी का और ना कांग्रेस, केवल हमारा हरा रंग रहेगा
  10. गर्मी का कहर, आंध्रा व तेलंगाना में 100 से ज्यादा की मौत

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3