बिहार : छठ का माहौल हुआ मातमी, ट्रेन से कटकर दो बच्चों सहित 6 की मौत

दरभंगा: बिहार के दरभंगा में सोमवार को छठ घाट से पूजा करके लौट रहीं 6 महिलाएं की ट्रेन से कटकर मौत हो गई। ये हादसा समस्तीपुर जिले के रामभद्रपुर स्टेशन के पास हुआ। ख़बरों के अनुसार ये महिलाएं छठ घाट से पूजा कर लौट रही थीं और तभी ट्रेन के नीचे आ गईं। जानकारी के मुताबिक, दिल्ली से आने वाली स्वतंत्रता सेनानी एक्सप्रेस यहां से गुजर रही थी। उसी वक्त ये महिलाएं ट्रैक पार कर रही थीं और ट्रेन के नीचे आ गईं। इस घटना के बाद मौजूद लोगों ने हंगामा मचाया और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की। छठ पूजा के लिए तालाब पर बना घाट ट्रेन के ट्रैक के पास ही है। यहां आने और जाने वाले लोगों को ट्रैक पार करना पड़ता है। मीडिया रिपोर्टस के अनुसार ट्रेन किशनपुर से रामभद्रपुर स्टेशन की ओर आ रही थी। ट्रेन की गति काफी तेज थी और ये महिलाएं पटरी पार करते समय ट्रेन की चपेट में आ गई। घटना के बाद स्थानीय लोग काफी आक्रोशित हो गए और उन्होंने रेल्वे ट्रेक पर डेड बॉडी रखकर ट्रेनों का आवागमन बाधित करने का प्रयास किया। भीड़ ने इस दौरान आवागमनइस हादसे में कई लोगों के घायल होने की भी खबर है।
समस्तीपुर डिवीजन के वरिष्ठ डीसीएम बीरेन्द्र कुमार ने बताया कि समस्तीपुर शहर से करीब 35 किलोमीटर दूर रामभ्रदपुर रेलवे स्टेशन के नजदीक यह हादसा हुआ। उन्होंने बताया कि तीन व्यक्तियों की घटनास्थल पर ही मौत हो गयी जबकि एक व्यक्ति की मौत अस्पताल में मौत हो गयी। घायलों को दरभंगा मेडिकल कॉलेज एंड अस्पताल जे जाया गया है। शवों को लेकर आंदोलनकारी प्रदर्शन कर रहे हैं जिसके कारण समस्तीपुर और दरभंगा रेल खंड के बीच ट्रेन सेवा प्रभावित हुयी है। राज्य के तीन जिलों में आज सुबह छठ पूजा के दौरान सात बच्चे डूब गये। बाढ़ थाना के प्रभारी मनोज कुमार सिन्हा ने बताया कि मलाही घाट के नजदकी ग्रामीण पटना के बाढ़ उप संभाग में आठ और नौ साल के बीच की दो लड़कियां डूब गयी। उन्होंने बताया कि इसी धटनास्थल पर स्थानीय लोगों ने दो अन्य बच्चों को बचा लिया। छठ पूजा के दौरान आज सुबह खगड़िया जिले में बागमती नदी में भारपुरा घाट के नजदीक 14 से 16 साल उम्र के बीच के तीन लड़के डूब गये।
छठ पर सुबह के अर्घ्य के दौरान नहाने के लिये तीनों दोस्त गहरे पानी में चले गये। खगड़िया जिले में चौथम थाना के प्रभारी सुनील कुमार साहनी ने बताया कि जैसे ही एक डूबने लगा दो अन्य लड़कों ने उसे बचाने का प्रयास किया और आखिर में तीनों डूब कर मर गये। उन्होंने बताया कि पीड़ितों में से एक के चाचा ने उन्हें बचाने का भरसक प्रयास किया जो सुरक्षित तैर कर वापस आने में सफल रहे। छठ के अवसर पर एक अन्य हादसा मुजफ्फरनगर जिले में हुआ जहां गंडक की एक सहायक नदी कदानी नदी में पवित्र स्नान के दौरान दो बच्चे डूब गये। मनियारी थाना के प्रभारी अमित कुमार ने बताया कि स्थानीय लोगों ने दो अन्य लोगों को डूबने से बचा लिया गया।

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3