लालू की बेटी मीसा की बढ़ी मुसीबत, पालम फार्म हाऊस जब्त करेगी ईडी

पटना । राजद अध्यक्ष लालू यादव के परिवार की मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। लालू यादव की बड़ी बेटी और राज्यसभा सांसद मीसा भारती और दामाद शैलेश को बड़ा झटका लगा है। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने उनका 26 पालम फार्म हाऊस जब्त करने की बात कही है। ये कार्रवाई मनी लांड्रिंग एक्ट के तहत होगी। ईडी सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक विभाग मनी लांड्रिंग मामले में मीसा यादव और शैलेश के जवाबों से संतुष्ट नहीं है, इसीलिए एक बार फिर से मीसा और शैलेश से पूछताछ की जाएगी। ईडी से जुड़े अधिकारियों का कहना है कि 26 पालम फार्म हाऊस मीसा और शैलेश ने शैल कंपनियों से कमाए रुपयों से खरीदा था और इसे जल्द ही जब्त करने की कार्रवाई की जाएगी। ईडी के मुताबिक चार शैल कंपनियों के जरिए मीसा-शैलेश ने एक करोड़ बीस लाख रुपये कमाए थे और इसी रकम से ये फार्म हाऊस खरीदा गया है। आठ जुलाई को ईडी ने मीसा और शैलेश के ठिकानों पर छापेमारी की थी और दोनों से पूछताछ भी की गई थी। ईडी मीसा और शैलेश के सीए राजेश अग्रवाल के खिलाफ पहले ही आरोप पत्र दायर कर चुका है। राजेश अग्रवाल इस वक्त तिहाड़ जेल में हैं। ईडी की इस कार्रवाई से एक बार फिर विपक्षियों को मौका मिल गया है। लालू का पूरा परिवार अभी सीआइडी आयकर विभाग और ईडी की ओर से हो रही कार्रवाई से परेशान है। बेनामी संपत्ति के दायरे में लालू का पूरा परिवार आ गया है।

सीबीआइ की एफआईआर को कोर्ट में चुनौती देंगे तेजस्वी यादव

पटना। राजद अध्यक्ष के छोटे पुत्र और बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव पर रेल होटल घोटाला मामले में आरोप लगने के बाद बिहार की राजनीति हलचल तेज है। एक ओर जहां तेजस्वी पर इस्तीफा देने का दबाव बना हुआ है तो वहीं दूसरी ओर महागठबंधन पर संशय के काले बादल मंडरा रहे हैं। इस बीच तेजस्वी यादव मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात के बाद दिल्ली गए हैं, जहां वो वरिष्ठ वकीलों से मुलाकात कर सीबीआइ द्वारा अपने पिता और मां के साथ ही खुद पर किए गए एफआइआर को अदालत में चुनौती देने के बारे में राय मशविरा करेंगे। कहा जा रहा है कि तेजस्वी अपने विभागीय कार्यों को लेकर भी दिल्ली गए हैं, जिसमें वो केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी से भी मुलाकात करेंगे और साथ ही दिल्ली के द्वारिका में बन रहे बिहार भवन की बिल्डिंग का भी अवलोकन करेंगे। लालू परिवार के एक सदस्य के मुताबिक तेजस्वी को वकीलों ने सलाह दी है कि वो सीबीआइ की एफआइआर को कोर्ट में चुनौती दें और अगर अदालत किसी तरह का संतोषजनक निर्णय नहीं देती तो उन्हें जमानत के लिए भी सोचना चाहिए। लालू और उनके पुत्र इस समस्या से निपटने की पूरी तैयारी कर रहे हैं। लालू यादव जहां भ्रष्टाचार के केस में फंसे हुए हैं तो वहीं तेजस्वी अपने राजनीतिक कैरियर के पहले पायदान पर ही भ्रष्टाचार के आरोपों में घिर गए हैं। तेजस्वी अपने पिता और मां राबड़ी देवी पर भ्रष्टाचार, आपराधिक जालसाजी, धोखाधड़ी के साथ ही बेनामी संपत्ति के आरोप तब लगे हैं जब लालू रेलमंत्री थे।

More Articles...

  1. महागठबंधन में तकरार: सोनिया गांधी की पहल से टला बिहार का सियासी संकट
  2. तेजस्वी पर 18 जुलाई को फैसला संभव, राष्ट्रपति चुनाव तक एकजुट दिखने की कवायद
  3. महागठबंधन में दिखने लगी दरार, सीएम नीतीश के कार्यक्रम में नहीं पहुंचे तेजस्वी यादव
  4. तेजस्वी को हटाने पर अड़े नीतीश, ऐसा हुआ तो राजद के सभी मंत्री देंगे इस्तीफाः सूत्र
  5. तेजस्वी ने वीडियो किया पोस्ट: कहा-पत्रकारों पर हुए हमले पर अफसोस, होगी जांच
  6. हमनें नहीं दिया तेजस्वी को कोई अल्टीमेटम : केसी त्यागी
  7. आरोपों पर बोले तेजस्वी, 'मोदी-शाह के इशारे पर केस, आरोप के वक्त मैं बच्चा था'
  8. कैबिनेट बैठक के बाद बोले तेजस्वी- 14 साल की उम्र में तो मूंछ भी नहीं थी, घोटाला क्या करूंगा
  9. पार्टी विधायकों के साथ नीतीश की बैठक शुरू, महागठबंधन पर ले सकते हैं बड़ा फैसला
  10. चारा घोटाले में कोर्ट में पेश हुए लालू, कहा-मेरी कोई गलती नहीं थी

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3