सुकमा में हमला करने वाले नौ नक्सलियों समेत 19 को पुलिस ने किया गिरफ्तार

रायपुर। छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित सुकमा जिले में पुलिस दल ने 19 नक्सलियों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार नक्सलियों में से नौ पर बुरकापाल हमले में शामिल होने का आरोप है। सुकमा जिले के पुलिस अधिकारियों ने आज भाषा को दूरभाष पर बताया कि पुलिस ने बुरकापाल हमले में शामिल नौ नक्सलियों को जिले के चिंतागुफा और चिंतलनार थाना क्षेत्र से गिरफ्तार किया है। वहीं 10 अन्य नक्सलियों को कुकानार थाना क्षेत्र से गिरफ्तार किया गया है। यह नक्सली बीते फरवरी माह में ट्रक में आग लगाने और पुलिस दल पर हमला करने की घटना में शामिल थे। अप्रैल महीने की 24 तारीख को सुकमा जिले के चिंतागुफा थाना क्षेत्र के अंतर्गत बुरकापाल में नक्सलियों ने पुलिस दल पर हमला कर दिया था। इस हमले में सीआरपीएफ के 25 जवान शहीद हो गए थे। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि घटना के बाद पुलिस दल ने चिंतलनार, चिंतागुफा और बुरकापाल क्षेत्र से लगभग 12 लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की थी। पूछताछ के दौरान नौ लोगों ने बुरकापाल हमले में शामिल होना स्वीकार किया है। उन्होंने बताया कि बुरकापाल हमले में शामिल होने के आरोप में पुलिस ने चिंतागुफा क्षेत्र से सोढ़ी लिंगा (30 वर्ष), सोढ़ी मुडा (45 वर्ष), पोडियामी जोगा (38 वर्ष), मड़कम भीमा (18 वर्ष), रावा आयता (20 वर्ष) और मड़कम सोमडू (34 वर्ष) को गिरफतार किया है। जबकि चिंतलनार क्षेत्र से वेटटी माला (26 वर्ष), मुचाकी नंदा (39 वर्ष) और माडवी कोसा (40 वर्ष) को गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार नक्सली माओवादियों के दंडकारण्य आदिवासी किसान मजदूर संगठन के सदस्य हैं। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि एक अन्य घटना में पुलिस ने 10 जनमिलिशिया सदस्यों को कुकानार पुलिस थाना क्षेत्र से गिरफ्तार किया है। नक्सलियों को सीआरपीएफ, डीआरजी और जिला बल के संयुक्त दल ने गिरफ्तार किया है। उन्होंने बताया कि यह 10 नक्सली बीते फरवरी माह की 26 तारीख को जगदलपुर सुकमा मार्ग पर कुकानार क्षेत्र में पुलिस दल पर गोलीबारी करने और दो ट्रकों में आग लगाने की घटना में शामिल थे। अधिकारियों ने बताया कि सभी गिरफ्तार नक्सलियों को आज स्थानीय अदालत में पेश किया गया जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया।

मोदी ने नया रायपुर में जंगल सफारी का किया लोकार्पण

रायपुर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को नया रायपुर में मानव निर्मित सबसे बड़ी जंगल सफारी का लोकार्पण किया। इस दौरान सीएम डॉ रनम सिंह ने बाघ की तस्वीर और स्मृति चिन्ह भेट किया। अब पर्यटक नया रायपुर की जंगल सफारी में वन्य जीवों को नजदीक से देखने का सपना पूरा कर सकेंगे।
बाघ आपके नजदीक होगा। घबराइए नहीं, क्योंकि आप फुल प्रूफ ओपन, सिक्योर बस में होंगे। सरकार अब तक प्रवेश, भ्रमण की दरें तय नहीं कर सकी है। सूत्रों के मुताबिक प्रवेश शुल्क मुफ्त या 10 रुपए हो सकता है, जबकि भ्रमण शुल्क 150-200 रुपए के बीच होगा। भारतीय नागरिक, विदेशी नागरिकों, कैमरा शुल्क, वाहनों के मुताबिक पार्किंग शुल्क भी अलग-अलग होंगे। जंगल सफारी में वन्य प्राणी कहां, कितने क्षेत्र में और कितनी संख्या में होंगे, 'नईदुनिया' ग्राफिक्स के जरिए आपको ये बता रहा है।
टाइगर सफारी- 50 एकड़
बाघ- बंगाल टाइगर विश्व में पाए जाने वाले कुल 6 बाघ की किस्मों में से एक है। सफारी के चारों तरफ 5.5 मीटर ऊंची चैनलिंक फेंसिंग बनाई गई है। बाघ देखने के लिए 2.3 किमी लंबी सड़क है।
सफारी में संख्या- 2 नर, 2 मादा
बीयर सफारी- 50 एकड़
भालू- इनकी प्रकृति को देखते हुए सफारी विकसित की गई है। यह चारों तरफ से 5.50 मी ऊंची चैनलिंक फेंसिंग से घिरा है।
सफारी में संख्या- 2 नर, 2 मादा
क्रोकोडाइल एक्जिबिट-9500 वर्गमीटर
क्रोकोडाइल- मार्श क्रोकोडलाइल प्रजाति प्रदेश में मिलती है, यही प्रजाति सफारी में रखी गई है। 350 वर्ग मीटर में खाने पीने की व्यवस्था, छोटे-बड़े रेत के बेड धूप सेंकने के लिए विकसित हैं।

More Articles...

  1. आईटीबीपी के कैंप पर पहली बार रॉकेट से हमला, तीन घंटे में चली 600 गोलियां
  2. 25 हजार समर्थकों के साथ कांग्रेस छोड़ने की तैयारी में जोगी
  3. छत्तीसगढ़: नक्सलियों से एनकाउंटर में बीएसएफ के दो जवान शहीद, चार घायल
  4. विपक्षी दलों का फोन टैप करा रही छत्तीसगढ़ सरकार : बघेल
  5. राजनाथ के दौरे से पहले सुकमा में दो टिफिन बम बरामद
  6. रक्षा मंत्री पर्रिकर ने किया विकास प्रदर्शनी का शुभारंभ
  7. मंत्रिमंडल विस्तार में क्षेत्र व जातीय समीकरण का खेल
  8. छत्तीसगढ़ में तैनात सीआरपीएफ जवान ने की खुदकुशी
  9. पुलिस ने मांगे शहीद के परिवार से अंतिम संस्कार के लिए पैसे
  10. बीजेपी सांसद के दबंग भाई ने स्कूल मालिक पर चढ़ाई गाड़ी

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3