गुजरात में 12 शेरों से घिरी एंबुलेंस में महिला ने दिया बच्चे को जन्म

अहमदाबाद। शेरों से भरा गिर का घना जंगल और अंघेरी स्याह रात, ऐसे में अपके सामने शेर आ जाए तो क्या करेंगे। सोच कर ही डर लगता है ना लेकिन गुजरात के गिर में एक महिला ने ऐसी हालत में 12 शेरों के झुंड के बीच अपने बच्चे को जन्म दिया है। दरअसल गुजरात के गिर के जंगलों में एक महिला ने एंबुलेंस में ही बच्चे को जन्म दिया और जब यह सब हो रहा था तब एंबुलेंस को 12 शेरों के झुंड ने घेर रखा था। खबरों के अनुसार घटना गुजरात के गिर स्थित जंगलों की है। गिर के अमरेली जिले की रहने वाली मंगूबेन मकवाना नाम की महिला को 29 जून को प्रसव पीड़ा हुई। इसके बाद उसे एंबुलेंस में अस्पताल ले जाया जाने लगा लेकिन रास्ते में गिर का घना जंगल और अंधेरी रात थे। जब एंबुलेंस जंगल से गुजर रही थी तब उसे 12 शेरों ने घेर लिया। इसके बाद एंबुलेंस आगे नहीं बढ़ सकी और मंगूबेन ने इसी में बच्चे को जन्म दिया। अमरेली के 108 अपातकालीन प्रबंधन कार्यकारी अधिकारी चेतन ने बताया कि घटना गुरुवार रात ढाई बजे की है। बच्चे के जन्म के बाद उसे वॉर्मर में रखा गया और फिर धीरे-धीरे शेरों ने वहां से हटना शुरू किया। इसके बाद ड्रायवर ने भी एंबुलेंस को धीमी रफ्तार से वहीं से निकाला।

केंद्र की उपलब्धियां बताने पहुंचीं स्मृति ईरानी पर युवक ने फेंकी चूडि़यां

अहमदाबाद। गुजरात के अमरेली जिले में सोमवार को केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी पर एक युवक ने चूडि़यां फेंकी। स्मृति तब एक सभा को संबोधित कर रही थीं। हालांकि चूडि़यां उन्हें लगी नहीं। पुलिस ने केतन कसवाणा नाम के इस युवक को पकड़ लिया है। इसकी उम्र 20 साल के आसपास है। वह जिले के मोता भंडारिया गांव का निवासी है। घटना तब हुई जब मोदी सरकार की 3 साल की उपलब्धियां जनता को बताने के लिए आयोजित देशव्यापी 'सबका साथ सबका विकास' सम्मेलनों की कड़ी में आयोजित कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री सरकार की किसान संबंधी नीतियों की चर्चा कर रही थी। तभी अचानक युवक पीछे से उठा और वंदे मातरम चिल्लाते हुए दो-तीन चूडि़यां मंच की ओर फेंकी। पुलिस ने उसे तुरंत उसे पकड़ लिया। इस पूरी घटना पर स्मृति ईरानी ने कहा, 'गुजरात में चुनाव का समय नजदीक आ रहा है, इसलिए इस तरह के करतबों की मुझे अपेक्षा है। एक पुरुष को भेजा है, महिला पर आक्रमण करने के लिए, कांग्रेस की यह रणनीति थोड़ी गलत है।' हालांकि स्थानीय कांग्रेस नेता का दावा है कि युवक किसान है और राज्य में कर्ज माफी की मांग कर रहा था। अमरेली एस पी जगदीश पटेल ने कहा कि युवक ने इसके अलावा कोई नारा नहीं लगाया। जब पुलिस उसे ले जा रही थी तो स्मृति ने कहा कि उसे कार्यक्रम में बैठने दें। यह शख्‍स जितनी चूडि़यां फेंकना चाहता है उसे फेंकने दें। वह ये चूडि़यां उसकी पत्नी को तोहफे में दे देंगी। बता दें कि इससे पहले पिछले माह भावनगर में एक पाटीदार युवक ने केंद्रीय मंत्री मनसुख मांडविया के कार्यक्रम के दौरान उनकी तरफ जूता फेंका था।

More Articles...

  1. मोदी के गुजरात दौरे के विरोध में हार्दिक पटेल ने कराया मुंडन
  2. गुजराती डिप्टी सीएम के बेटे को नशेड़ी कहने पर तेजस्वी यादव को पड़ी लताड़, लोग बोले- अपने गिरेबान में झांको
  3. सिमी आतंकियों पर कोर्ट का बड़ा फैसला, सभी को उम्रकैद
  4. 6 महीने का वनवास खत्म कर हार्दिक पटेल लौटे गुजरात, टोल नाके पर समर्थकों का हंगामा
  5. 10वीं के छात्र ने बनाया ड्रोन, गुजरात सरकार से 5 करोड़ की डील
  6. पुलिस की वर्दी पहनकर अपनी बेटी के घर पहुंचे अहमदाबाद के कारोबारी महेश शाह, तस्वीर वायरल
  7. अहमदाबाद: कार में मिले 500 और 2000 के 12.4 लाख के नए नोट
  8. क्या सच में गुजरात के इस व्यापारी ने बैंक में 6000 करोड़ रुपये जमा कराए, खबर वायरल
  9. गुजरात में रूपानी राज की शुरुआत, सीएम पद की ली शपथ, सीनियर नेताओं की छुट्टी
  10. गुजरात में दलित हिंसा के बाद तनाव बढ़ा, बांटवा में 3 और युवकों ने की खुदकुशी की कोशिश

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3