गर्भवती महिला का 22 दिन चला इलाज फिर हुई मौत, अस्पताल ने थमाया 18 लाख का बिल

फरीदाबाद। अस्पतालों में इलाज के नाम पर लाखों रुपए वसूलने का चलन खत्म नहीं हो रहा है। गुड़गांव के नामी हॉस्पिटल के बाद अब फरीदाबाद के एशियन हॉस्पिटल में चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहां एक गर्भवती महिला को बुखार की शिकायत पर हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। 22 दिन इलाज के बाद महिला की मौत हो गई। इसके बाद भी हॉस्पिटल प्रशासन ने महिला के परिजनों को करीब 18 लाख रुपए का बिल थमा दिया। न्यूज एजेंसी एएनआई की खबर के अनुसार इतने दिनों तक चले इलाज के बाद ना महिला बची और ना ही उनके गर्भस्थ शिशु को बचाया जा सका। मामले में अब महिला के परिजनों ने हॉस्पिटल के खिलाफ जांच की मांग की है। मृतक महिला के चाचा ने बताया कि उनकी भतीजी को बुखार था फिर भी उसे आईसीयू में शिफ्ट किया गया। हॉक्टरों ने बताया कि उसे टाइफाइड है। बाद में बताया गया कि आंत में छेद हैं। ऑपरेशन के लिए हमसे तीन लाख रुपए जमा कराने के लिए कहा गया। कहा गया कि पूरी रकम जमा कराने के बाद महिला का ऑपरेशन हो जाएगा। मृतक के चाचा ने आगे बताया कि वह अभी तक 10-12 लाख रुपए जमा कर चुके हैं। उनसे 18 लाख रुपए मांगे गए हैं। मामले में अब हॉस्पिटल के क्वालिटी और सेफ्टी विभाग के चैयरमेन डॉक्टर रमेश चंदाना ने प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा, ‘महिला 32 सप्ताह से गर्भवती थी। उसे पिछले 8-10 दिनों से बुखार था। टाइफाइड के शक आधार पर आईसीयू में इलाज शुरू किया गया।। बाद में महिला की आंत में छेद होने की जानकारी सामने आई। इसकी सर्जरी भी की गई। लेकिन महिला को बचाया नहीं जा सका।’ बता दें कि इससे पहले गुरुग्राम के फोर्टिस हॉस्पिटल ने डेंगू पीड़िता के परिजनों को इलाज का भारी-भरकम बिल थमा दिया था। हालांकि इसके बाद हॉस्पिटल के ब्लड बैंक और आइपीडी फार्मेसी के लाइसेंस निलंबित कर दिए गए। हरियाणा के खाद्य व औषधि प्रशासन विभाग की तरफ से इस बाबत आदेश जारी किए। विभाग ने यह कार्रवाई अस्पताल की तरफ से कारण बताओ नोटिस पर मिले जवाब का अध्ययन करने के बाद की। हरियाणा के स्टेट ड्रग कंट्रोलर नरेंदर आहूजा विवेक ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि यह निलंबन तब तक जारी रहेगा जब तक की फोर्टिस अस्पताल जांच के दौरान पाई गई खामियों को दूर नहीं कर लेता और उन खामियों को दूर करने की पुष्टि विभाग द्वारा नहीं कर दी जाती है।

पलवल : साइको किलर ने एक ही इलाके में की 6 लोगों की हत्या, ग‌िरफ्तार

फरीदाबाद। राजधानी दिल्ली से सटे पलवल में एक के बाद एक लगातार 6 लोगों की हत्याओं को अंजाम देने वाले आरोपी साइको किलर का नाम नरेश धनखड़ है। फरीदाबाद में मछगर के रहने वाले हत्यारोपी रिटायर्ड फौजी नरेश को लेकर अब नए-नए खुलासे हो रहे हैं। बताया जा रहा है कि इतने वीभत्स तरीके से 6 हत्याओं को अंजाम देने वाला नरेश पढ़ाई में अव्वल था, लेकिन इस तरह वह छह हत्याएं करेगा, इस पर परिजनों को भी यकीन नहीं आ रहा है। फौज से रिटायर होने के बाद वह जन स्वास्थ्य विभाग में एसडीओ भी रह चुका है।भाई चंद्र प्रकाश के मुताबिक, नरेश की पत्नी भी अक्सर उसे धमकाती रहती थी कि तुझे पागल कर दूंगा। शब्दों पर गौर फरमाएं। बकौल चंद्रप्रकाश के अनुसार, उसकी पत्नी सीमा पुरुषों की तरह भाषा इस्तेमाल करती थी। वहीं, DSP अभिमन्यु लोहान ने बताया कि प्रारंभिक जांच में पता चला है कि आरोपी ने बिना किसी वजह के इस वारदात को अंजाम दिया है। पुलिस पूछताछ के दौरान आरोपी बहकी-बहकी बातें कर रहा है। उसने सबसे पहले एक अस्पताल में महिला की हत्या कर दी। इसके बाद उसके सिर पर खून सवार हो गया। बताया जा रहा है कि अस्पताल से फरार होने के बाद रास्ते में उसे जो भी दिखा, उसे मौत की नींद सुलाता चला गया। सभी हत्याएं 100 मीटर के दायरे में लोहे की रॉड से मंगलवार की अल सुबह 2 से 4 बजे के बीच की गई हैं। इतना ही नहीं, हमले की कड़ी में आरोपी ने पुलिस टीम पर भी जानलेवा हमला कर दिया।

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3