पीड़ितों से मिलने रोहतक पहुंचे सीएम खट्टर को दिखाए काले झंडे

जाट आंदोलन: लगे मुर्दाबाद के नारे  
रोहतक हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर मंगलवार को जाट आंदोलन के दौरान हिंसा से प्रभावित लोगों से मिलने रोहतक पहुंचे। लेकिन उन्हें यहां भारी विरोध का सामना करना पड़ा। पीड़ितों के दर्द पर मरहम लगाने पहुंचे खट्टर के खिलाफ जमकर नारेबाजी हुई। उन्हें काले झंडे दिखाए गए। मुख्यमंत्री ने जैसे ही बोलना शुरू किया वहां मौजूद लोगों ने ‘मुर्दाबाद-मुर्दाबाद’ नारे लगाने शुरू कर दिए। स्थानीय लोगों ने सीएम खट्टर पर सवालों की बौछार शुरू कर दी। उन्होंने आरोप लगाया कि हिंसा के दौरान पुलिस प्रशासन ने कोई ठोस कार्रवाई नही की और खामोश बैठी रही। ज्ञात हो कि जाट आंदोलन की शुरुआत रोहतक जिले के ही सांपला गांव से हुई थी और इस आंदोलन की वजह से सबसे ज्यादा तबाही रोहतक में ही हुई है।

प्रद्युम्न के हत्यारे को 3 तीन दिन की पुलिस हिरासत में भेजा, स्कूल प्रिंसिपल सस्पेंड

गुरुग्राम। रेयान इंटरनेशनल स्कूल में 7 साल के छात्र प्रद्युम्न की हत्या के मामले में बड़ी कार्रवाई करते हुए स्कूल प्रिंसिपल को सस्पेंड कर दिया है। वहीं स्कूल को सुरक्षा देने वाली एजेंसी के खिलाफ भी कार्रवाई हुई है। हत्या के आरोपी को कोर्ट में पेश किया गया जहां से उसे 3 दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है। इस सब के बीच एक बड़ा खुलासा हुआ है। मृतक छात्र के सहपाठी के पिता ने मीडिया से बात के दौरान बताया है कि हत्या के बाद स्कूल वालों ने प्रद्युम्न के सहपाठियों से उसकी बॉटल पर लगे खून के धब्बे धुलवाए थे। वहीं दूसरी तरफ हत्या के बाद से ही स्कूल प्रशासन की तरफ से कोई बयान नहीं आया है। हत्या को लेकर अन्य छात्रों के अभिभावकों में जबरदस्त गुस्सा है जिसके चलते वो स्कूल के बाहर प्रदर्शन कर रहे हैं। लोगों की मांग है कि स्कूल के प्रिंसिपल और मैनेजमेंट के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। इस बीच प्रद्युम्न के परिजन शनिवार सुबह कमिश्नर के दफ्तर पहुंचे और इस मामले की सीबीआई जांच की मांग की। स्कूल के बाहर भारी सुरक्षा इंतजाम किए गए हैं इसके बावजूद लोगों ने स्कूल के मुख्य दरवाजे का ताला तोड़कर अंदर घुसने का प्रयास किया लेकिन पुलिस ने लोगों को बाहर किया और फिर दरवाजा बंद कर दिया। हत्या के बाद प्रद्युम्न की मां को रो-रोकर बुरा हाल है। वो बार-बार अपने बेटे को याद कर रही है। उन्होंने कहा कि मैंने कभी नहीं सोचा था अपने बेटे को ऐसे हाल में देखूंगी। मेरे बेटे का स्कूल बस से कोई लेना देना नहीं था, वो तो स्कूल बस में जाता भी नहीं थी। स्कूल और उसके प्रिंसिपल के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए।

More Articles...

  1. पुलिस को मिली हार्ड डिस्क, खोलेगी राम रहीम के सारे राज, 45 लोगों को नोटिस
  2. रोहतक में सेना का फ्लैग मार्च, दिल्ली पहुंची जाट आरक्षण की आग, गुड़गांव में प्रदर्शन
  3. शिवसैनिकों ने जबरन बंद करवाया केएफसी, चिकन खा रहे लोगों को भगाया
  4. राम रहीम के दबाव में भक्त 'पत्नी' को कहते थे 'बहन', तो कई हो चुके थे समलैंगिक
  5. हरियाणा : आरक्षण की मांग को लेकर जाटों का प्रदर्शन
  6. गुड़गांवः मेट्रो स्टेशन के अंदर युवती का मर्डर
  7. रामरहीम केस में बड़ी कामयाबी राजस्थान में पकड़ा गया हनीप्रीत का ड्राइवर
  8. शत्रुघ्न की भाभी ने किया सुसाइड, सड़ता रहा शव
  9. रेयान मामला: बैकफुट पर हरियाणा सरकार, सीएम खट्टर सीबीआई जांच को राजी
  10. अपनी मर्जी से घर छोडा था शिप्रा ने, क्राइम पेट्रोल देखकर बनाई पूरी प्लानिंग: पुलिस

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3