रोहतक में सेना का फ्लैग मार्च, दिल्ली पहुंची जाट आरक्षण की आग, गुड़गांव में प्रदर्शन

जाट आरक्षण आंदोलन : हरियाणा में स्थिति तनावपूर्ण, दिल्ली यूनिवर्सिटी तक पहुंचा प्रदर्शन
चंढीगढ़: जाटों के लिए ओबीसी कोटे के तहत आरक्षण की मांग कर रहे जाट नेताओं ने हरियाणा सरकार की ओर से दिए गए प्रस्ताव को ठुकरा दिया और कहा कि उनका आंदोलन मांग पूरी होने तक जारी रहेगा। हरियाणा के वरिष्ठ मंत्री ओपी धनखड़ के मकान पर आज भीड़ ने आज पथराव किया, वहीं आरक्षण की मांग को लेकर जाटों का आंदोलन राज्य के अन्य हिस्सों में फैल रहा है। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि घटना में कोई घायल नहीं हुआ। उन्होंने बताया, भीड़ ने धनखड के मकान पर पथराव किया लेकिन कोई घायल नहीं हुआ। धनखड़ राज्य के प्रमुख जाट नेताओं में से एक हैं। अधिकारी ने बताया कि इलाके में तैनाव है और पुलिस तथाअर्धसैनिक बल स्थिति को नियंत्रण में करने के लिए प्रयास कर रहे हैं। झज्जर उन जिलों में शामिल हैं, जो आरक्षण के लिए जाटों की हड़ताल से सबसे अधिक प्रभावित हैं। जाट आरक्षण आंदोलन दिल्ली यूनिवर्सिटी तक पहुंचा, जाट समुदाय के छात्रों ने नॉर्थ कैम्पस के बाहर प्रदर्शन किया। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने पार्टी के जाट नेताओं से कहा कि प्रदर्शनकारियों से बात कर मामले का हल निकालें। उधर प्रदर्शनकारियों ने रोहतक में पेट्रोल पंप, सामुदायिक भवन और दुकानों में आग लगा दी है।
आरक्षण की मांग को लेकर जाट आंदोलन जारी है और कुछ अज्ञात व्यक्तियों ने आज जींद जिले में बूढ़ा खेड़ा रेलवे स्टेशन में आग लगा दी। पुलिस ने बताया कि रेलवे स्टेशन में आग लगाने पर फर्नीचर, रिकॉर्ड रूम और अन्य सामान जल गया। यह स्टेशन जींद पानीपत रेल प्रखंड में आता है। जींद आरक्षण की मांग को लेकर चल रहे जाट आंदोलन से बुरी तरह प्रभावित जिलों में से एक है। दिल्ली-अंबाला, दिल्ली-अमृतसर, दिल्ली-हिंसा-फजिल्का मार्ग और हिसार-धूरी खंड पर जाटों के विरोध प्रदर्शन को लेकर रेल सेवा गंभीर रूप से प्रभावित हुई है। कुल 37 ट्रेने रद्द की गई है जबकि 22 आंशिक रूप से रद्द करनी पड़ी। जाट आरक्षण की मांग को लेकर कई स्थानों पर रात में हुई ताजा हिंसा और आगजनी की घटनाओं के बीच सेना ने तनावग्रस्त क्षेत्रों में फ्लैग मार्च किया और साथ ही रोहतक के विभिन्न इलाकों तक पहुंचने के लिए हेलीकॉप्टर का उपयोग किया। राज्य के दो जिलों में पहले ही कर्फ्यू लगा दिया गया है और हिंसा करने वालों को देखते ही गोली मारने के आदेश दे दिये गए हैं। जाटों के प्रदर्शन के कारण जनजीवन बाधित है। रोहतक, जींद, भिवानी और राज्य के कई अन्य हिस्सों में सड़कें एवं रेल मार्ग बाधित है और आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति भी प्रभावित हो रही है।
हरियाणा सरकार ने कल राज्य के नौ जिलों में सेना को लगाया था। भिवानी और रोहतक जिले में कर्फ्यू लगाने के साथ ही देखते ही गोली मारने के आदेश दिये गए हैं। यह कदम जाटों के प्रदर्शन के हिंसक रूख अख्तियार करने के बाद उठायी गई जिसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई और 25 अन्य घायल हो गए।  केंद्र सरकार ने अव्यवस्था फैला रही भीड़ को नियंत्रित करने के लिए अर्धसैनिक बलों के 3,300 जवानों को तैनात किया था। बहरहाल, निषेधाज्ञा लागू होने के बावजूद रात भर कई जिलों में हिंसा और आगजनी की घटनाएं जारी रहीं जिनमें हिसार, झज्जर, जिंद, कैथल और पानीपत शामिल हैं।
आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि भिवानी में सेना ने आज सुबह फ्लैग मार्च किया। प्रशासन ने लोगों से अपने घरों में ही रहने को कहा है। सूत्रों ने बताया कि शुरू में सेना रोहतक में प्रवेश नहीं कर पायी क्योंकि प्रदर्शनकारियों ने कई स्थानों पर मार्ग अवरूद्ध कर दिया था जिसके कारण जवानों को हवाई मार्ग से पहुंचना पड़ा। उपद्रवी भीड़ ने कल कुछ पुलिस वालों को बंधक बना लिया था और राज्य के वित्त मंत्री अभिमन्यू के आवास एवं कई सरकारी इमारतों में आग लगा दी थी। इसके अलावा रोहतक, झज्जर, हांसी और कई स्थानों पर निजी संपति को नुकसान पहुंचाया गया।
पूरे राज्य में स्कूलों को बंद करने के आदेश दिये गए हैं और लगभग सभी जिलों में इंटरनेट सेवाएं निलंबित कर दी गई हैं। प्रदर्शनकारियों ने हिसार में हांसी और रोहतक के पास दो टॉल प्लाजा समेत कई कार्यालयों की इमारतों और पुलिस एवं निजी वाहनों को निशाना बनाया। कल एक प्रदर्शनकारी की उस समय मौत हो गई जब बीएसएफ के जवान ने उपद्रवी भीड़ द्वारा गोली चलाये जाने के बाद आत्मरक्षा में गोली चला दी। इस घटना में बीएसएफ का एक जवाब घायल हो गया।
राज्य में पिछले कुछ दिनों से विरोध प्रदर्शन जारी है और इस मुद्दे पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर द्वारा सर्वदलीय बैठक बुलाने और इस प्रदर्शन को वापस लेने की अपील के बाद इसने हिंसक रूप ले लिया था। सभी राजनीतिक दलों ने जाटों से विरोध प्रदर्शन वापस लेने की अपील कही है लेकिन जाटों ने इस अपील को अस्वीकार कर दिया है।
ऑल इंडिया जाट आरक्षण संगठन समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष यशपाल मलिक ने कहा, हरियाणा सरकार की ओर से कोई ठोस प्रस्ताव नहीं दिया गया है। भाजपा सरकार जाटों को मूर्ख बनाने का प्रयास कर रही है क्योंकि जाटों को आरक्षण देने के संदर्भ में उसके इरादे ठीक नहीं हैं। सर्वदलीय बैठक के बाद हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि जाट को आरक्षण देने के लिए बिल का मसौदा तैयार करेगी और इस संदर्भ में सभी दलों से सुझाव मांगे हैं। मलिक ने कहा, जाटों को आरक्षण देने में सिर्फ मुख्यमंत्री को समस्या है। भाजपा में शेष नेता आरक्षण देन के पक्ष में हैं। उन्होंने आरोप लगाया, खट्टर की जातिवादी मानसिकता है क्योंकि वह जाट नहीं है। वह खुद को गैर जाट नेता के तौर पर साबित करने का प्रयास कर रहे हैं।
हरियाणा में ओबीसी कोटे के तहत आरक्षण की मांग को लेकर जाटों का आंदोलन हिंसक होने के बाद शुक्रवार को राज्य के नौ जिलों में सेना बुला ली गयी और रोहतक तथा भिवानी में कर्फ्यू लगाने के साथ ही हिंसा भड़काने वालों को देखते ही गोली मारने के आदेश जारी कर दिए गए हैं। हिंसक भीड़ द्वारा राज्य के विभिन्न हिस्सों में की गयी आगजनी के दौरान एक व्यक्ति की मौत हो गयी और 25 अन्य घायल हो गए। केंद्र ने भी 3,300 अर्धसैनिक बलों को हरियाणा भेज दिया। रोहतक में हिंसक भीड़ ने कुछ पुलिसकर्मियों को बंधक बनाने के साथ ही राज्य के वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु के घर को आग लगा दी और रोहतक, झज्जर, हांसी तथा कई अन्य जगहों पर कई सरकारी और निजी संपत्तियों को को भी आग के हवाले कर दिया गया।

शिवसैनिकों ने जबरन बंद करवाया केएफसी, चिकन खा रहे लोगों को भगाया

यूपी के बाहर भी योगी इफेक्ट, गुरुग्राम में शिवसेना ने बंद कराई मीट की 300 दुकानें गुरुग्राम। उत्तर प्रदेश में बूचड़खानों पर योगी आदित्यनाथ सरकार की कार्रवाई के बीच अन्य राज्यों में भी मीट की दुकानें निशाने पर हैं। हरियाणा के गुरुग्राम में शिवसेना ने जबरन मीट और चिकन की 500 दुकानों को बंद करा दिया है। इनमें मल्टीनेशनल फूड चेन केएफसी भी शामिल है। गुड़गांव में करीब दो सौ शिवसैनिकों ने मीट की दुकानों पर धावा बोल दिया और नवरात्र तक सभी दुकानों को बंद करा दिया है। साथ ही शिवसैनिकों ने मीट दुकानदारों को हर मंगलवार को भी दुकान बंद रखने की चेतावनी दी है। शिवसेना ने केएफसी की एक दुकान में घुसकर वहां चिकन खाने आए लोगों को दुकान से बाहर निकाल दिया और दुकान बंद करा दी। शिवसेना ने दावा किया है कि उसे इस कार्रवाई में स्थानीय लोगों का समर्थन हासिल है और उन्हीं लोगों ने नवरात्रि के दौरान मीट की दुकानें बंद किए जाने की मांग की थी। उत्तर प्रदेश में अवैध मीट की दुकानों और बूचड़खानों को बंद कराने वाली राह पर झारखंड के बाद अब भाजपा शासित चार अन्‍य राज्‍य भी चल पड़े हैं। मंगलवार को राजस्‍थान, उत्तराखंड, छत्तीसगढ़ और मध्‍यप्रदेश में भी अवैध तौर पर चलाए जा रहे बूचड़खाने व मीट की दुकानों पर प्रशासन ने हमला बोलते हुए बंद करा दिया। हरिद्वार में तीन, रायपुर में 11 और इंदौर में एक मीट की दुकानों को सील कर दिया गया है। जयपुर में नगर निगम ने ऐसी दुकानों व बूचड़खानों पर अप्रैल से कार्रवाई करने की घोषणा कर दी है। यहां की करीब 4,000 अवैध दुकानों को बंद किया जा सकता है। मीट विक्रेताओं ने दावा किया कि इनमें से 950 दुकानें वैध है, लेकिन कॉर्पोरेशन ने पिछले वर्ष 31 मार्च के बाद इनके लाइसेंस को रिन्‍यू नहीं किया। जयपुर नगर निगम के एक अधिकारी ने बताया कि लाइसेंस को रिन्‍यू नहीं किया जा सकता है, क्‍योंकि नगर निगम ने 10 रुपए की लाइसेंस फी को बढ़ाकर 1000 रुपए करने के प्रस्‍ताव को मंजूरी दे दी थी, लेकिन इसके लिए अब तक गैजेट नोटिफिकेशन नहीं जारी किया गया है। न्‍यू जयपुर मीट असोसिएशन के अध्‍यक्ष अब्‍दुल राकुफ खुर्शी ने कहा, 'इसमें हमारी कोई गलती नहीं क्‍योंकि लाइसेंस के रिन्‍यूअल के लिए हमने आवेदन कर दिया था। हमारे आवेदन को स्‍वीकार नहीं किया गया। हम जयपुर नगर निगम के इस कार्रवाई के खिलाफ विरोध करेंगे। नगर निगम के सूत्रों ने बताया कि शुरुआत में अवैध मीट की दुकानों व बूचड़खानों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। जिन दुकानों के पास पहले लाइसेंस थे उनपर कार्रवाई नहीं होगी। पर कानून के अनुसार काम नहीं किए जाने पर इनके खिलाफ भी कार्रवाई होगी।' हरिद्वार में प्रशासन द्वारा की गयी छापेमारी में पता चला कि 6 में से मात्र तीन दुकानों के पास वैध लाइसेंस था। बाकि के तीन दुकानें अवैध तरीके से चलाई जा रही थीं। हरिद्वार के एसएसपी कृष्‍ण कुमार वीके ने अंग्रेजी अखबार टाइम्‍स ऑफ इंडिया को बताया, 'नवरात्र को देखते हुए एक लोक प्रतिनिधि की ओर से आई शिकायत के बाद यह कार्रवाई की गयी। वैसे मीट की दुकानें जो बगैर लाइसेंस चलाई जा रही हैं, उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी और जिनके पास वैध कागजात हैं उन्‍हें परेशान नहीं किया जाएगा।'

More Articles...

  1. हरियाणवी डांसर हर्षिता हत्याकांड में सनसनीखेज खुलासा, बहन ने कहा- मेरे पति ने मारा
  2. अटाली गांव में तनाव थमा, विस्थापित परिवार घर लौटे
  3. हरियाणा : आरक्षण की मांग को लेकर जाटों का प्रदर्शन
  4. गुड़गांवः मेट्रो स्टेशन के अंदर युवती का मर्डर
  5. पुलिस को मिली हार्ड डिस्क, खोलेगी राम रहीम के सारे राज, 45 लोगों को नोटिस
  6. शत्रुघ्न की भाभी ने किया सुसाइड, सड़ता रहा शव
  7. राम रहीम के दबाव में भक्त 'पत्नी' को कहते थे 'बहन', तो कई हो चुके थे समलैंगिक
  8. अपनी मर्जी से घर छोडा था शिप्रा ने, क्राइम पेट्रोल देखकर बनाई पूरी प्लानिंग: पुलिस
  9. रामरहीम केस में बड़ी कामयाबी राजस्थान में पकड़ा गया हनीप्रीत का ड्राइवर
  10. 5 साल की सजा में अंडर ट्रायल की अवधि भी जुड़ेगी

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3