प्रद्युम्न मर्डर केस में एक और स्टूडेंट का नाम, सीबीआई कर सकती है गिरफ्तारी

गुडगांव प्रद्युम्न मर्डर केस में सीबीआई की टीम ने अहम खुलासा किया है. सीबीआई के मुताबिक स्कूल की गैलरी में लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज में आरोपी छात्र प्रद्युम्न के साथ बाथरूम की तरफ जाता दिख रहा है. यहां तक कि प्रद्युम्न के कंधे पर उसका हाथ भी दिख रहा है. सीबीआई ने फुटेज के हवाले से खुलासा किया है कि वारदात के दिन आरोपी छात्र प्रद्युम्न के साथ बाथरूम में गया था. कुछ देर बाद वह अकेले ही बाथरुम से बाहर आता दिख रहा है. जबकि फुटेज में वारदात से पहले ही बस कंडक्टर को बाथरूम में जाते और बाहर निकलते देखा जा सकता है. सीबीआई सूत्रों के मुताबिक एफएसएल हरियाणा ने चाकू की जांच की है और हत्या में इस्तेमाल किए गए हथियार के रूप में उसकी पहचान भी कर ली है. सही बात ये है कि हत्या में प्रयुक्त चाकू सोहना की एक विशेष दुकान से खरीदा गया था. गुरुवार की देर शाम को सीबीआई की टीम प्रद्युम्न मर्डर केस के आरोपी छात्र को लेकर सोहना अनाज मंडी पहुंची और वहां चाकू बेचने वाले दुकानदार से आरोपी छात्र की पहचान करवाने की कोशिश भी की. हालांकि दुकानदार ने आरोपी छात्र को पहचानने से इनकार कर दिया. दुकानदार ने सीबीआई के अधिकारियों से बताया कि दो महीने पहले उसकी दुकान पर किसने चाकू खरीदा, ऐसे उसे याद नहीं है. साथ ही उसकी दुकान के आस-पास कोई सीसीटीवी कैमरा भी नहीं लगा है. इसलिए वह इस बारे में कोई पुख्ता जानकारी नहीं दे पाया. जब सीबीआई की टीम ने दुकानदार को वारदात में इस्तेमाल किए गए चाकू की फ़ोटो दिखाई, तो दुकानदार ने सीबीआई को बताया कि कुछ दिनों पहले वैसे चाकू उसने अपनी दुकान पर बेचे हैं. इसके बाद सीबीआई की टीम ने उसकी दुकान से करीब आधा दर्जन वैसे ही चाकू बतौर सैंपल खरीद लिए. जिनका भुगतान भी दुकानदार को किया गया. उधर, सीबीआई के सूत्रों से पता चला कि प्रद्युम्न मर्डर केस की शुरूआती जांच में गुडगांव पुलिस की जल्दबाजी और लापरवाही के चलते ही बस कंडक्टर अशोक कुमार को आरोपी बनाया गया था. यहां तक कि पुलिस ने ही हत्या में प्रयुक्त चाकू बताकर, वो हथियार भी प्लांट किया था. उस वक्त गुड़गांव पुलिस ने दावा किया था कि आरोपी अशोक ने वह चाकू आगरा की किसी दुकान से खरीदकर बस की टूल किट में रखा था. वही चाकू वह स्कूल में लेकर गया था.

अब मुंडका-बहादुरगढ़ रूट पर स्पीड से होगा मेट्रो ट्रायल रन

मेट्रो का ट्रायल होगा तेज, डीएमआरसी चीफ ने लगाई मुहर बहादुरगढ़। मुंडका-बहादुरगढ़ रूट पर तीन-चार दिन तक प्री ट्रायल के बाद बुधवार को डीएमआरसी के एमडी मंगू सिंह ने टिकरी कलां मेट्रो स्टेशन से हरी झंडी दिखाकर मेट्रो गाड़ी को रवाना किया। अब इस रूट पर मेट्रो का ट्रायल रन स्पीड से होगा। डीएमआरसी अधिकारियों के अनुसार यह ट्रायल तीन महीने तक चलेगा। फिलहाल मुंडका से बहादुरगढ़ लाइन मौजूदा ग्रीन लाइन का एक्सटेंशन है और इसकी लंबाई 11.18 किलोमीटर है। यह पूरी एलिवेटेड लाइन है और अब तक की सबसे सीधी लाइन भी है। इस लाइन पर एक जगह करीब 300 मीटर जमीन का विवाद चल रहा है। डीएमआरसी अधिकारियों के अनुसार बहादुरगढ़ में मेट्रो चलाने की डेडलाइन जून 2018 है लेकिन अप्रैल तक इसे चलाने का पूरा प्रयास है। मुंडका-बहादुरगढ़ मेट्रो परियोजना पर पिछले कई वर्षों से काम चल रहा है। लगभग 95 फीसदी काम हो चुका है। मेट्रो स्टेशनों पर फिनिशिंग का काम चल रहा है। अब लोग बेसब्री से मेट्रो चलने का इंतजार कर रहे हैं। बुधवार को डीएमआरसी के एमडी मंगू सिंह द्वारा मेट्रो के ट्रायल का शुभारंभ विधिवत तरीके से किया गया। मेट्रो चलने का इंतजार अब लोगों के लिए कम हो गया है। उन्होंने दिल्ली के टिकरी कलां मेट्रो स्टेशन पर हरी झंडी दिखाई। यहां पर स्टेशन का काम भी पूरा हो चुका है। पिछले कई दिनों से बेहद धीमी गति में चल रही गाड़ी बुधवार को ट्रैक पर तेज गति में दौड़ी। मेट्रो ट्रायल का अधिकारियों ने कई दिनों से बारीकी से निरीक्षण भी किया है। इसके बाद ही इसे तेज गति में चलाया गया। अब यह गाड़ी दिनभर में चार से अधिक चक्कर लगाएगी। बुधवार को मेट्रो के विधिवत तौर पर शुभारंभ के बाद शहरवासियों में भी काफी उत्साह है। शहरवासियों का कहना है कि बहादुरगढ़ में मेट्रो चलने के बाद लोगों को काफी राहत मिलेगी और दिल्ली जाना आसान होगा। समय की भी बचत होगी। शहर में भी रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। उनका कहना है कि वे तो सिर्फ अब मेट्रो के चलने की बाट जोह रहे हैं। कब मेट्रो चलेगी और वे कब इसमें सफर कर सकेंगे। बुधवार को दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन के एमडी मंगू सिंह द्वारा ट्रायल के विधिवत शुभारंभ के दौरान सभी अधिकारियों व कर्मचारियों ने सफर किया। इस दौरान मेट्रो में काफी भीड़ रही। स्टेशन पर सुरक्षा व्यवस्था भी पूरी तरह चौकस रही। चारों तरफ सिक्योरिटी गार्ड व सीआरपीएफ के जवान तैनात रहे। मेट्रो स्टेशन की तरफ आने वाले लोगों की चेकिंग की गई। दिल्ली के टिकरी कलां मेट्रो स्टेशन पर बुधवार को माहौल काफी भीड़भाड़ वाला रहा, क्योंकि ट्रायल का विधिवत रूप से शुभारंभ किया गया था। न केवल निचले स्तर के कर्मचारी बल्कि उच्चाधिकारी भी मौके पर मौजूद रहे। मेट्रो ट्रायल रन के पहले दिन किसी तरह की कोई दिक्कत नहीं देखने को मिली। ट्रैक और प्लेटफार्म के बीच के डिस्टेंस, दरार, किनारों के लिए ट्रायल पहले किया जा चुका है। स्पार्किंग या सप्लाई प्रभावित होने की कहीं दिक्कतें नहीं आई। प्लेटफार्म की सेटिंग भी सही है। थोड़ी बहुत जो खामियां प्री ट्रायल में आई थी उन्हें दूर किया जा चुका है। 11.82 किलोमीटर का एलेवेटेड ट्रैक पूरी तरह से तैयार है। बुधवार को ट्रायल रन शुरू हो गया। 25 हजार केवी लाइन को चार्ज करने का काम पहले ही निपट चुका है। मेट्रो स्टेशनों पर सिर्फ फिनिशिंग का काम बाकी है। वैसे तो डीएमआरसी ने जून 2018 डेड लाइन तय की है, लेकिन अधिकारियों की मानें तो अप्रैल तक इस रूट पर मेट्रो गाड़ी चलने की प्रबल संभावना है। मुंडका से बहादुरगढ़ तक ये होेंगे सात स्टेशन -मुंडका इंडस्ट्रियल एरिया स्टेशन (दिल्ली) -घेवरा मोड़ स्टेशन (दिल्ली) -टीकरी कलां स्टेशन (दिल्ली) -टीकरी बॉर्डर मेट्रो स्टेशन (दिल्ली) -एमआईई मेट्रो स्टेशन (बहादुरगढ़) -बस स्टैंड मेट्रो स्टेशन (बहादुरगढ़) -सिटी पार्क मेट्रो स्टेशन (बहादुरगढ़) मुंडका-बहादुरगढ़ मार्ग पर मेट्रो का कॉमर्शियल ट्रायल बुधवार को आरंभ हो गया है। यह ट्रायल पहले ट्रायल की दृष्टि से पर्याप्त तेज गति में हुआ और सफल रहा। परियोजना का हर तरह का कार्य सुचारू रूप से चल रहा है। ट्रायल करीब तीन महीने तक चलेगा। हालांकि इस रूट पर गाड़ी चलाने के लिए जून 2018 तक का समय निर्धारित किया गया है, मगर हो सकता है कि इससे पहले भी गाड़ी चला दी जाए।

More Articles...

  1. गर्भवती महिला का 22 दिन चला इलाज फिर हुई मौत, अस्पताल ने थमाया 18 लाख का बिल
  2. रोहतक में कबड्डी खिलाड़ी की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या
  3. प्रद्युम्न मर्डर केस: वारदात स्पॉट पर क्राइम सीन रीक्रिएट करेगी सीबीआई,, आरोपी..
  4. मकान में अय्याशी, आपत्तिजनक हालत में मिलीं 3 लड़कियां, ऐसे लाई जाती थीं
  5. पलवल : साइको किलर ने एक ही इलाके में की 6 लोगों की हत्या, ग‌िरफ्तार
  6. पीड़ितों से मिलने रोहतक पहुंचे सीएम खट्टर को दिखाए काले झंडे
  7. दर्जनों वारदातों को अंजाम देने वाले शातिर चोर ग़िरफ़्तार पुलिस ने ली चैन की सांस
  8. प्रद्युम्न के हत्यारे को 3 तीन दिन की पुलिस हिरासत में भेजा, स्कूल प्रिंसिपल सस्पेंड
  9. रेयान इंटरनेशनल: प्रद्युम्न मर्डर केस की सीबीआई जांच में नया मोड़
  10. हर जवान को मिलेगा वन रैंक वन पेंशन का लाभ: मोदी

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3