गर्भवती महिला का 22 दिन चला इलाज फिर हुई मौत, अस्पताल ने थमाया 18 लाख का बिल

फरीदाबाद। अस्पतालों में इलाज के नाम पर लाखों रुपए वसूलने का चलन खत्म नहीं हो रहा है। गुड़गांव के नामी हॉस्पिटल के बाद अब फरीदाबाद के एशियन हॉस्पिटल में चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहां एक गर्भवती महिला को बुखार की शिकायत पर हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। 22 दिन इलाज के बाद महिला की मौत हो गई। इसके बाद भी हॉस्पिटल प्रशासन ने महिला के परिजनों को करीब 18 लाख रुपए का बिल थमा दिया। न्यूज एजेंसी एएनआई की खबर के अनुसार इतने दिनों तक चले इलाज के बाद ना महिला बची और ना ही उनके गर्भस्थ शिशु को बचाया जा सका। मामले में अब महिला के परिजनों ने हॉस्पिटल के खिलाफ जांच की मांग की है। मृतक महिला के चाचा ने बताया कि उनकी भतीजी को बुखार था फिर भी उसे आईसीयू में शिफ्ट किया गया। हॉक्टरों ने बताया कि उसे टाइफाइड है। बाद में बताया गया कि आंत में छेद हैं। ऑपरेशन के लिए हमसे तीन लाख रुपए जमा कराने के लिए कहा गया। कहा गया कि पूरी रकम जमा कराने के बाद महिला का ऑपरेशन हो जाएगा। मृतक के चाचा ने आगे बताया कि वह अभी तक 10-12 लाख रुपए जमा कर चुके हैं। उनसे 18 लाख रुपए मांगे गए हैं। मामले में अब हॉस्पिटल के क्वालिटी और सेफ्टी विभाग के चैयरमेन डॉक्टर रमेश चंदाना ने प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा, ‘महिला 32 सप्ताह से गर्भवती थी। उसे पिछले 8-10 दिनों से बुखार था। टाइफाइड के शक आधार पर आईसीयू में इलाज शुरू किया गया।। बाद में महिला की आंत में छेद होने की जानकारी सामने आई। इसकी सर्जरी भी की गई। लेकिन महिला को बचाया नहीं जा सका।’ बता दें कि इससे पहले गुरुग्राम के फोर्टिस हॉस्पिटल ने डेंगू पीड़िता के परिजनों को इलाज का भारी-भरकम बिल थमा दिया था। हालांकि इसके बाद हॉस्पिटल के ब्लड बैंक और आइपीडी फार्मेसी के लाइसेंस निलंबित कर दिए गए। हरियाणा के खाद्य व औषधि प्रशासन विभाग की तरफ से इस बाबत आदेश जारी किए। विभाग ने यह कार्रवाई अस्पताल की तरफ से कारण बताओ नोटिस पर मिले जवाब का अध्ययन करने के बाद की। हरियाणा के स्टेट ड्रग कंट्रोलर नरेंदर आहूजा विवेक ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि यह निलंबन तब तक जारी रहेगा जब तक की फोर्टिस अस्पताल जांच के दौरान पाई गई खामियों को दूर नहीं कर लेता और उन खामियों को दूर करने की पुष्टि विभाग द्वारा नहीं कर दी जाती है।

रोहतक में कबड्डी खिलाड़ी की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या

सीसीटीवी में कैद हुई मर्डर की पूरी वारदात
रोहतक: राष्ट्रीय स्तर के कबड्डी खिलाड़ी की रोहतक के रिठाल गांव में हथियारों से लैस दो अज्ञात लोगों ने गोली मारकर हत्या कर दी लेकिन घटनास्थल के समीप एक घर में लगे सीसीटीवी कैमरे में हत्या की तस्वीरें कैद हो गई। मंगलवार शाम 24 साल के खिलाड़ी सुखविंदर सिंह अभ्यास के बाद घर लौट रहे थे जब गोली मारकर उनकी हत्या कर दी गई। लिस अधिकारी ने बताया, ‘स्कूटर पर आए दो लोगों ने शाम सुखविंदर की उसके घर के समीप पिस्टल से गोली मारकर हत्या कर दी।’ यह घटना पास के एक घर में लगे सीसीटीवी कैमरे पर कैद हो गई। सीटीवी फुटेज में सुखविंदर घर लौटते हुए अपने फोन पर किसी से बात करते हुए दिख रहा है। दो अज्ञात हमलावर स्कूटर पर उसके पास आए और उसकी छाती और माथे पर गोली मारी जिसके बाद वह जमीन पर गिर गया। लिस ने बताया कि अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया गया है और हत्यारों को पकड़ने के लिए अभियान चलाया जा रहा है। सुखविंदर के माता पिता के अनुसार उसकी किसी से निजी दुश्मनी नहीं थी।

More Articles...

  1. प्रद्युम्न मर्डर केस: वारदात स्पॉट पर क्राइम सीन रीक्रिएट करेगी सीबीआई,, आरोपी..
  2. मकान में अय्याशी, आपत्तिजनक हालत में मिलीं 3 लड़कियां, ऐसे लाई जाती थीं
  3. पलवल : साइको किलर ने एक ही इलाके में की 6 लोगों की हत्या, ग‌िरफ्तार
  4. पीड़ितों से मिलने रोहतक पहुंचे सीएम खट्टर को दिखाए काले झंडे
  5. दर्जनों वारदातों को अंजाम देने वाले शातिर चोर ग़िरफ़्तार पुलिस ने ली चैन की सांस
  6. प्रद्युम्न के हत्यारे को 3 तीन दिन की पुलिस हिरासत में भेजा, स्कूल प्रिंसिपल सस्पेंड
  7. रेयान इंटरनेशनल: प्रद्युम्न मर्डर केस की सीबीआई जांच में नया मोड़
  8. हर जवान को मिलेगा वन रैंक वन पेंशन का लाभ: मोदी
  9. रोहतक में सेना का फ्लैग मार्च, दिल्ली पहुंची जाट आरक्षण की आग, गुड़गांव में प्रदर्शन
  10. शिवसैनिकों ने जबरन बंद करवाया केएफसी, चिकन खा रहे लोगों को भगाया

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3