शशिकला वीआईपी ट्रीटमेंट मामला: डीआईजी रूपा ने दोहराई जांच की मांग

बेंगलुरु। जेल में बंद एआईएडीएमके प्रमुख वी शशिकला को वीआईपी ट्रीटमेंट मिलने का आरोप लगाने वालीं डीआईजी डी रूपा अपने रुख पर कायम हैं और अब भी मामले की जांच करने की मांग कर रही हैं। वहीं अपने काम पर उठ रहे सवालों के जवाब में उन्‍होंने गुरुवार को कहा कि वह सरकार द्वारा स्‍वीकृत छुट्टी पर थीं। कहा जा रहा है कि उन्‍होंने अपनी ड्यूटी सही तरीके से नहीं निभाई है। आपको बता दें कि डीआईजी रूपा ने एक रिपोर्ट में दावा किया है कि परप्‍पन अग्रहर सेंट्रल जेल में बंद शशिकला को वीआईपी ट्रीटमेंट मिल रहा है। उनके खाने के लिए जेल में एक स्‍पेशल किचन बनाया गया है और इसके लिए उन्‍होंने अधिकारियों को दो करोड़ रुपए की रिश्‍वत दी थी। वहीं इसमें डीजीपी एचएन राव के भी शामिल होने की बात कही गई है। डीआईजी रूपा ने कहा, मैं सरकार द्वारा स्‍वीकृत छुट्टी पर थी और जब मैं वापस आई तो यह पाया। जो भी हो रहा है, उसकी जांच होने दीजिए। वहीं उन्‍होंने इस बात से भी इंकार किया कि रिपोर्ट ऑफिस ऑवर्स के बाद भेजी गई थी। उन्‍होंने कहा कि यह करीब शाम साढ़े चार बजे भेजी गई थी, जो वर्किंग ऑवर्स में शामिल है। गौरतलब है कि डीजीपी एचएन राव द्वारा अपने ऊपर लगे सभी आरोपों से इंकार किए जाने के बाद डीआईजी रूपा का यह स्‍पष्‍टीकरण बयान सामने आया है। डीजीपी एचएन ने कहा है कि रूपा द्वारा लगाए गए सभी आरोप बेबुनियाद हैं।

अब डीजल की भी होम डिलीवरी, बंगलुरु बना पहला शहर

नई दिल्ली,बंगलुरु, देश का ऐसा पहला शहर बन गया है, जहां पर लोग अपने घर के दरवाजे पर ईंधन मंगवा सकते हैं. ठीक वैसे ही जैसे आप घर बैठे आप पिज्जा, फूड, दूध जैसी चीजें ऑर्डर करते हैं. 15 जून को माईपेट्रोलपंप नाम के एक स्टार्ट अप ने इसकी शुरूआत की है. यह स्टार्ट अप एक साल पुराना है. बता दें कि माईपेट्रोलपंप ने इसकी शुरूआत 3 डिलीवरी वाहनों से की है. एक वाहन की क्षमता 950 लीटर है. अब तक इसके जरिए 5,000 से ज्यादा डीजल डिलीवर किए जा चुके हैं. डीजल की कीमत उस दिन की तय कीमत में एक निश्चित डिलीवरी चार्ज जोड़कर की जाती है.डीजल के लिए आप ऑनलाइन, फोन कॉल के जरिए या फिर फ्री एप डाउनलोड कर के ऑर्डर कर सकते हैं. अगर आपको एक बार में 100 लीटर तक डीजल चाहिए, तो इसके लिए 99 रूपये का डिलीवरी चार्ज देना होगा. 100 लीटर से ज्यादा डीजल के लिए डीजल कीमत के अलावा एक रूपये प्रति लीटर देना होगा. माईपेट्रोलपंप के संस्थापक आशीष कुमार गुप्ता ने आईआईटी धनबाद से पढ़ाई की हैं. 32 वर्षीय आशीष का कहना है- 'हमलोग सितंबर 2016 से ही पेट्रोलियम मंत्रालय के संपर्क में हैं. अधिकारीयों की स्वीकृति के बाद पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान के साथ दो बार मुलाकात हुई. उन्होंने हमारी खोज की तारीफ की.' आशीष ने 1,60,000 के सलाना आय वाले शेल ग्लोबल सैलुशन की नौकरी छोड़ अपने फर्म की शुरू किया है. फर्म सिर्फ डीजल सप्लाई करती है. आशीष का कहना है- 'पेट्रोल सिर्फ बाइक और कारों के काम आती है. जबकि डीजल कारखानों, बड़ी गाड़ियों और खेती में प्रयोग होती है. डीजल की सलाना खपत 7.7 करोड़ मेट्रिक टन होती है. जबकि पेट्रोल की सलाना खपत 2.2 करोड़ मेट्रिक टन होती है. हमलोग भविष्य में पेट्रोल भी सप्लाई करेंगे.' जहां तक वाहनों की सुरक्षा का सवाल है उनका निर्माण खास तौर से इसी काम के लिए हुआ है. आशीष ने बताया कि इन वाहनों को पेट्रोलियम एण्ड एक्सप्लोसिव सेफ्टी ऑर्गनाइजेशन से स्वकृति मिल चुकी है. इन वाहनों में वाल्व भी हैं. नॉन-कंडक्टिव इंधन ढोने के कारण इन सबको भूसम्पर्कित रखा गया है. यह वाहन मीटर और फिलट्रेशन सिस्टम से लैस है. इन वाहनों में एक ऐसा सिस्टम भी लगा है जो ईंधन चोरी और मिलावट से बचाएगा. आशीष का कहना है- 'हमलोग बस डीलिवरी एजेंट का काम कर रहे हैं. हमलोग तेल ना तो खरीद रहे हैं, ना जमा कर रहे हैं और ना ही बेच रहे हैं. जब हमे ऑडर मिलता है, हमारा वाहन पेट्रोल पंप जाता है, तेल भरता है और ग्रहक को डीलवर करता है.' इस फर्म को शुरू करने में 20 से 30 करोड़ की लागत आती है. जो कि इसके संस्थापक आशीष ने खुद लगाया है. अब वे और अधिक फंड की कोशिश में हैं जिससे ये कारोबार और बढ़ सके.

More Articles...

  1. बेंगलुरू: राहुल गांधी ने 'नेशनल हेराल्ड' अखबार का स्मारक एडिशन लांच किए
  2. येदियुरप्‍पा पर दलित के घर होटल का खाना खाने का आरोप, भाजपा ने बताया राजनीति से प्रेरित
  3. वायुसेना को मिला 'नेत्र', 200 किमी के दायरे में भी नहीं बचेंगे दुश्मन
  4. पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा- कांग्रेस को नेता नहीं, मैनेजर चाहिए
  5. बेंगलुरु छेड़छाड़ मामला: साली से शादी के लिए जीजा ने रची यौन हमला कराने की साजिश
  6. कर्नाटक में ईडी ने पकड़े 93 लाख के नए नोट, 7 दलाल गिरफ्तार
  7. कर्नाटक में आज टीपू जयंती, संघ, बीजेपी मनाएंगे काला दिवस
  8. रिश्वत मामले में सीबीआई की विशेष अदालत ने येदियुरप्पा को दी क्लीन चिट
  9. कावेरी से जल छोड़ने के विरोध में कर्नाटक बंद, विरोध प्रदर्शन के बीच सुरक्षा व्यवस्था कड़ी
  10. कर्नाटक ने तमिलनाडु के लिए कावेरी का जल छोड़ा, मांड्या सहित कई इलाकों में जबर्दस्त विरोध

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3