गोहत्या मामला: कश्मीर से कन्याकुमारी तक कांग्रेस का असली चेहरा देश के सामने- बीजेपी

यूथ कांग्रेस के 16 मेंबर्स के खिलाफ केस दर्ज, कांग्रेस ने दो को किया सस्पेंड केरल: केरल के कन्नूर में यूथ कांग्रेस के प्रदर्शन के दौरान बछड़ा काटने का वीडियो सामने आने के बाद विवाद बढ़ गया है. जगह-जगह पर प्रदर्शन हो रहा है. कांग्रेस ने इस मामले से पल्ला झाड़ते हुए बछड़ा काटनेवाले यूथ कांग्रेस के 3 कार्यकर्ताओं को सस्पेंड कर दिया है. बीजेपी कार्यकर्ताओं की शिकायत पर यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई है. बूचड़खानों में जानवरों को मारने के लिए बिक्री पर केंद्र के रोक के विरोध में यूथ कांग्रेस के प्रदर्शन के दौरान कथित तौर पर बछड़ा काटा गया था. कांग्रेस के नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि बछड़ा काटनेवाले कार्यकर्ता पार्टी से सस्पेंड कर दिए गए हैं. ऐसे लोगों के लिए कांग्रेस में जगह नहीं. इस घटना पर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट किया है कि केरल में कल जो हुआ वह सोच से परे, निर्मम और मेरे और कांग्रेस पार्टी के लिए पूरी तरह से अस्वीकार्य है. मैं इस घटना की कड़ी निंदा करता हूं. केरल भाजपा के अध्यक्ष के राजशेखरन ने इस रक्तरंजित घटना का वीडियो ट्विटर पर पोस्ट किया और कहा कि यह 'क्रूरता का चरम' है. उन्होंने कहा कि कोई भी सामान्य व्यक्ति इस तरह का आचरण नहीं कर सकता. माकपा के सांसद एमबी राजेश ने कहा कि विरोध के अतिरेक तरीके से बचा जाना चाहिए था और इससे संघ परिवार को मदद ही मिलेगी. उन्होंने रायबरेली से सांसद पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी से पूछा है कि खुलेआम गोवध करने वाले कांग्रेसियों पर पार्टी कार्यवाही कब करेगी? क्या उनकी चुप्पी को मूक सहमति माना जाये? बीजेपी प्रवक्ता ने कहा कि केरल में कांग्रेस के नेतृत्व वाली यूपीए की सरकार है. कांग्रेस ने खाली गोवध नहीं किया बल्कि 100 करोड़ बहुसंख्यक की अस्था से और देश के कानून के साथ खिलवाड़ किया है. मनीष शुक्ल ने कहा कि उत्तर प्रदेश में दो परिवारों के बीच हुए विवाद को विरोधी दल राजनीतिक रोटियां सेंकने में जुट गए. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी वहां भी पहुंच गए. इससे पहले देश के प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय जेएनयू में देश विरोधी नारे लगाने वालों के साथ राहुल गांधी के खड़े होने से कांग्रेस का चेहरा देश के सामने आ चुका है.

केरल: आर-पार लड़ाई के मूड में बीजेपी, जेटली पहुंचे आरएसएस कार्यकर्ता के घर

हाल ही में तिरुवनंतपुरम में आरएसएस कार्यकर्ता राजेश की हत्या का मामला राजनीतिक रूप से तूल पकड़ता जा रहा है. रविवार को केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली संबंधित कार्यकर्ता के घर पहुंचे हैं. उनके दौरे को दक्षिणी राज्य में बीजेपी की आर-पार की लड़ाई से जोड़कर देखा जा रहा है. बीजेपी का आरोप है कि केरल में बीजेपी और संघ कार्यकर्ताओं को निशाना बनाकर उनकी हत्याएं की जा रही हैं.केरल की सत्ता पर इस वक्त सीपीएम गठबंधन काबिज है. पिछले कुछ दिनों में यहां आरएसएस कार्यकर्ताओं की हत्याएं हुई हैं. राजेश के घरवालों से मुलाक़ात के बाद जेटली ने कहा, राजेश की बर्बर तरीके से हत्या की गई. मैं उनके घरवालों से मिला. जेटली ने कहा, केरल में ऐसी हिंसा से हमारी विचारधारा को दबाया नहीं जा सकता है. हमारे कार्यकर्ताओं डरने वाले नहीं.रविवार को तिरुअनंतपुरम पहुंचे जेटली आरएसएस के उन अन्य परिवारों से भी मिलने जाएंगे जो कथित तौर पर ऐसी हिंसा का शिकार हुए हैं. बता दें कि राजेश की पिछले दिनों हत्या कर दी गई थी. बीजेपी का आरोप है हत्या के पीछे सीपीएम सदस्यों का हाथ है.

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3