भोपाल गैंगरेप: लापरवाही बरतने पर 3 थाना इन्चार्ज सस्पेंड, दो डीएसपी हटाए गए

भोपाल गैंगरेप मामले में छह पुलिस वालों पर गिरी गाज, शिवराज ने किया अफसरों को तलब भोपाल: मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में छात्रा के साथ चार बदमाशों द्वारा सामूहिक दुष्कर्म का सनसनीखेज मामला सामने आया है। पुलिस ने इसमें शामिल एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है और अन्य आरोपियों को भी जल्द पकडऩे का दावा किया है। शासकीय रेलवे पुलिस (जीआरपी) के सूत्रों ने आज बताया कि घटना 31 अक्टूबर शाम साढ़े सात से रात 10 बजे के बीच की है। छात्रा आईएएस परीक्षा की कोचिंग ले रही है। वह कोचिंग के लिए हबीबगंज स्टेशन के पास स्थित सरकारी आवास से एमपी नगर जाती थी। सूत्रों के अनुसार छात्रा जब कोचिंग से लौट रही थी, तब हबीबगंज स्टेशन के आउटर पर पुलिया के पास उसे चार बदमाशों ने घेर लिया। उन्होंने पहले उसके साथ छेडख़ानी की और फिर पकड़कर नाले के पार जंगल में ले गए। वहां चारों ने उसके साथ दुष्कर्म किया। पीड़तिा के साथ मारपीट भी की गई। पीड़तिा के अनुसार आरोपी दुष्कर्म के बाद उसकी हत्या भी करना चाहते थे। छात्रा के पिता रेलवे सुरक्षा बल में कार्यरत हैं। छात्रा ने रात में घर पहुंचकर घटना की जानकारी दी। दूसरे दिन उन्होंने थाने पहुंचकर मामला दर्ज कराया। जीआरपी के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक धर्मेंद्र सिंह ने बताया कि पीड़तिा कल रात आठ बजे परिजन के साथ जीआरपी थाने पर पहुंची। इसके बाद मामला दर्ज कर छानबीन शुरू की गई। एक आरोपी गोलू चिड़ार को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। तीन अन्य आरोपियों को भी चिह्नित कर लिया गया है। उन्हें भी जल्द पकड़ लिया जाएगा। जीआरपी के अनुसार आरोपी पन्नी बीनते हैं और हबीबगंज स्टेशन के आउटर पर बनी झुग्गियों में रहते हैं। घटना के समय वे रेल पटरी के किनारे जुआ खेल रहे थे। वहीं वहीं इस मामलें को सीएम शिवराज ने नाराजगी जाहिर की है जिसके बाद तीन टीआई, दो एसआई निलंबित, एक सीएसपी को हटाया गया। शिवराज सिंह चौहान ने घटना को निंदनीय बताते हुए कहा कि घटना को चिन्हित अपराधों की श्रेणी में रखकर फास्ट ट्रैक कोर्ट में ट्रायल किया जाएगा।

तीन तलाकः सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर 'मंथन' करेगा मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड, भोपाल में शुरू हुई बैठक

भोपाल। तीन तलाक पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद इस मामले पर आज आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड मध्य प्रदेश के भोपाल में बैठक कर रहा है। बैठक में हिस्सा लेने के लिए बोर्ड के सदस्य पहुंच चुके हैं। गौरतलब है कि तीन तलाक की संवैधानिक वैधता पर सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुनाते हुए इसे असंवैधानिक करार दिया था। पांच जजों की बेंच में 3-2 के बहुमत से इसके खिलाफ फैसला दिया गया था, जिसके बाद तत्काल प्रभाव से तीन तलाक अवैध घोषित हो गया था। हालांकि चीफ जस्टिस जेएस खेहर ने इस पर कानून बनाने के लिए संसद को छह माह का समय दिया था। उन्होंने अपना फैसला देते हुए कहा था कि फिलहाल इसे असंवैधानिक नहीं माना जा सकता, और इस पर फैसला लेने का हक केंद्र सरकार का है उसे ही इस पर कानून बनाना चाहिए। तत्कालीन चीफ जस्टिस ने छह माह के लिए तीन तलाक पर रोक भी लगा दी थी। हालांकि बाकी तीन जजों की राय जुदा होने और तीन तलाक के खिलाफ होने के कारण यह तत्काल रद्द हो गया था। भोपाल के इंद्रा प्रियदर्शिनी कॉलेज खानूगांव में जारी इस मीटिंग में शामिल होने मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के अध्यक्ष मौलाना रब्बे हाशमी नदवी, महासचिव मौलाना मोहम्मद वली रहमानी, उपाध्यक्ष डॉ. सईद कलबा सादिक, उपाध्यक्ष मोहम्मद सलीम कासमी, सचिव जफरयाब जिलानी और सांसद असदुद्दीन ओवैसी समेत वर्किंग कमेटी के सभी 40 से ज्यादा सदस्य पहुंचे हैं। इस मीटिंग के एजेंडा में दो महत्वपूर्ण बिंदू सुप्रीम कोर्ट द्वारा तीन तलाक पर दिए गए फैसले और बाबरी मस्जिद शामिल हैं। एक दिन चलने वाली इस मीटिंग में ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड सुप्रीम कोर्ट के तीन तलाक पर दिए गए फैसले पर अपने पक्ष पर निर्णय लेगी। इससे पहले बोर्ड के सचिव जफरयाब जिलानी ने इस मुद्दे पर जारी सियासत पर नाखुशी जताई और कहा कि रूलिंग पार्टी हिन्दू और मुसलमानों को लड़ाकर सियासी फायदा उठाना चाहती है। बैठक में तीन महिला मेम्बर भी शामिल हैं।

More Articles...

  1. कांग्रेस ने शिवराज सरकार पर साधा निशाना, कहा मध्य प्रदेश में हुआ 10 हजार करोड़ का घोटाला
  2. पेंशनरों का मामला अटका, नियमित कर्मचारियों को मिलेगा सातवां वेतनमान
  3. शिवराज के मंत्री को चुनाव आयोग ने ठहराया अयोग्य, पेड न्यूज का आरोप साबित (2)
  4. मध्य प्रदेश में किसानों का आंदोलन जारी, मुंबई में बिगड़े हालात
  5. शिवराज का दावा, आतंकियों ने ट्रेन में बम रखने के बाद सीरिया भेजी तस्वीर
  6. एमपी में भोपाल-उज्जैन पैसेंजर ट्रेन में रखे सूटकेस में ब्लास्ट, कई यात्री घायल
  7. लिव इन पार्टनर की हत्या, चबूतरा बनाकर घर में ही दफनाई लाश
  8. एमपी में निकाय चुनावों में भाजपा की एकतरफा जीत, नोटबंदी के बाद लगातार पांचवां चुनाव जीता
  9. शहीद की बेटी की हुई शाही शादी, सीएम ने निभाईं सारी रस्में, दिया ये गिफ्ट
  10. भोपाल एनकाउंटर: सिमी आतंकियों की जेल के ही किसी व्‍यक्ति ने की थी मदद

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3