पूर्व चीफ खालसा चड्ढा के बेटे ने की सुसाइड, मामले में पुलिस की बड़ी कार्रवाई

बर्खास्त सीकेडी प्रधान के बेटे इंद्रप्रीत खुदकशी मामले में दो महिलाओं सहित 11 पर केस दर्ज अमृतसर। चीफ खालसा दीवान (सीकेडी) के अध्यक्ष पद से बर्खास्त हो चुके चरणजीत सिंह चड्ढा के बेटे इंद्रप्रीत सिंह चड्ढा की खुदकशी मामले में दो महिलाओं सहित 11 लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर दिया गया है। यह मामला इंद्रप्रीत के बेटे प्रभप्रीत सिंह चड्ढा की शिकायत पर दर्ज किया गया। नामजद आरोपियों में वह महिला प्रिंसिपल भी है, जिसके साथ चरणजीत सिंह की अश्लील वीडियो वायरल हुई है। इसके अलावा मामले में सीकेडी सदस्य निर्मल सिंह, सीकेड़ी के पूर्व ऑनरेरी सेक्रेटरी भाग सिंह अणखी, होटल मुलाजिम गुरसेवक सिंह, इंद्रजीत सिंह के अलावा इमिग्रेशन कंपनी के मालिक दविंदर सिंह संधू, व्यापारी इंदरप्रीत सिंह आनंद आदि शामल हैं। वहीं, अभी पुलिस ने सुसाइड नोट सार्वजनिक नहीं किया है। फिलहालत शव का पोस्टमार्टम किया जा रहा है। वहीं, पुलिस की इस बात पर भी नजर है कि चरणजीत सिंह चड्ढा बेटे के अंतिम संस्कार में शामिल होते हैं या नहीं। यदि वह आते हैं तो पुलिस उन्हें गिरफ्तार कर सकती है। पुलिस ने चरणजीत चड्ढा के खिलाफ लुक आउट सर्कुलर जारी किया हुआ है। बता दें, इंद्रप्रीत ने बुधवार दोपहर अजनाला रोड पर खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली थी। घटना को अंजाम देने से पहले उन्होंने अपने ड्राइवर को बहाने से कार से बाहर भेज दिया था। बताया जा रहा है कि इंद्रप्रीत सिंह पिता की अश्लील वीडियो वायरल होने से काफी परेशान थे। गौरतलब है कि चीफ खालसा दीवान सिखों की एक चैरिटेबल संस्था है, जिसकी स्थापना 115 साल पहले हुई थी। यह संस्था कई स्कूल कॉलेज चलाती है। इसके अध्यक्ष चरणजीत सिंह चड्ढा को महिला के यौन शोषण के आरोपों के बाद बर्खास्त कर दिया गया था। उनकी अश्लील वीडियो वायरल होने के बाद से इंद्रजीत लगातार दबाव में थे। इंद्रप्रीत सिंह अच्छे लेखक भी थे। उन्होंने कुछ समय पहले अंग्रेजी में दो किताबें भी लिखी थीं। उनकी पहली किताब 'द अदर डोर' और 'द रेमडेंट्स' है। उनकी किताबें पढ़ने वाले बताते हैं कि इंद्रप्रीत काफी संवेदनशील व्यक्ति थे। इसके अलावा उन्होंने नए कलाकारों को प्रमोट करने के लिए संस्था 'द क्रिएटर सोसायटी' बना रखी थी। सीकेडी के बर्खास्त प्रधान चरणजीत सिंह चड्ढा ने न्यायाधीश अमरजीत सिंह की अदालत में बुधवार को अपनी अंतरिम जमानत दायर की है। इस मामले में अदालत ने याचिका पर सुनवाई करने का समय 10 जनवरी रखा है। गौर रहे पुलिस ने आरोपी चरणजीत सिंह चड्ढा पर महिला से अश्लील हरकतें करने के आरोप में केस दर्ज किया था। बेटे इंद्रप्रीत पर आरोप था कि उसने महिला को धमकियां दी थी। इससे पहले अदालत इंद्रप्रीत सिंह को अंतरिम जमानत स्वीकार कर से जांच में शामिल होने के आदेश जारी कर चुकी थी।

चीफ खालसा दीवान के प्रधान को हटाया गया, जानिए वायरल वीडियो में क्या था?

अमृतसर(पंजाब) चीफ खालसा दीवान (सीकेडी) के प्रधान चरणजीत सिंह चड्ढा को पद से हटा दिया गया है, क्योंकि उनका एक अश्लील वीडियो वायरल हुआ था। वीडियो में वे एक महिला के साथ आपत्तिजनक हालात में दिखाई दे रहे हैं और वह महिला एक प्रतिष्ठित घराने की बहू है। महिला ने सीकेडी प्रधान के खिलाफ शारीरिक शोषण की शिकायत पुलिस कमिश्नर से की है लेकिन इस मामले में अब तक कोई कार्रवाई नहीं की गई। उधर, चरणजीत सिंह चड्ढा को आनन-फानन में पदमुक्त कर दिया गया है। उनकी जगह धनराज सिंह धन्नू को नया प्रधान बनाया गया है। वीडियो वायरल होने के बाद जहां चरणजीत सिंह चड्ढा अपने व महिला के बचाव में आ गए हैं, वहीं महिला के परिजन इसे साजिश करार दे रहे हैं। बता दें कि चड्ढा बादल परिवार के काफी करीबी हैं। यही वजह है कि उन्हें विवादों में रहने के बावजूद कई महत्वपूर्ण पदों पर बैठाया गया है। उनका होटल भी विवादों में रहा है। ताजा मामले के तूल पकड़ने के बाद चड्ढा दिल्ली कूच कर गए हैं। चरणजीत सिंह चड्ढा चीफ खालसा दीवान चेरिटेबल ट्रस्ट के प्रधान हैं। इसके साथ ही वह खालसा कालेज गवर्निंग काउंसिल के उप प्रधान, जीएनडीयू के सिंडीकेट सदस्य, पंजाब लॉन टेनिस एसोसिएशन के जनरल सेक्रेटरी, पंचशील हाउसिंग बिल्डिंग सोसाइटी के प्रधान, पंजाब एंड हरियाणा फाइनेंस कंपनी एसोसिएशन के कार्यकारिणी सदस्य, चड्ढा चेरिटेबल ट्रस्ट के चेयरमैन हैं। विवादित वीडियो वायरल होने के बाद चरणजीत सिंह चड्ढा से बुधवार को चीफ खालसा दीवान का अध्यक्ष पद छीन लिया गया। जानकारी मिली है कि सीकेडी ने उनसे इस्तीफा मांगा था लेकिन उन्होंने नहीं दिया तो आनन-फानन में कार्यकारिणी की बैठक बुलाकर उन्हें पद से निलंबित कर दिया गया। चरणजीत सिंह चड्ढा के खिलाफ महिला शोषण का मामला दर्ज होना चाहिए। उन्हें तुरंत गिरफ्तार करना चाहिए।- भाग सिंह अणखी, पूर्व ऑनरेरी सेक्रेटरी, सीकेडी मुझे ब्लैक मेल किया जा रहा है। यह साजिश है। वीडियो में छेड़खानी की गई है। जांच होनी चाहिए।- चरणजीत सिंह चड्ढा, अध्यक्ष, सीकेडी चरणजीत सिंह चड्ढा का खुलासा दुनिया ने देखा है। उसे तुरंत गिरफ्तार किया जाना चाहिए।- मनदीप सिंह मन्ना, पूर्व सचिव, अमृतसर कांग्रेस

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3