होमवर्क नहीं करने पर टीचर ने बच्ची को दी ऐसी सजा

देखकर रुह कांप जाएगी,आंख पर मार दिया डंडा
जैसलमेर। बारमेड़ स्‍थित एक प्राइवेट स्‍कूल में कक्षा तीन की सात वर्षीया छात्रा को होमवर्क न करने पर टीचर ने बड़ी बेरहमी से पीटा। जब यह बात छात्रा की मां को पता चला तो उसने पुलिस के पास केस दर्ज कराया और इस मामले में जांच शुरू हो गई। अभी बच्‍ची काफी डरी हुई है। इस घटना से अभिभावकों के बीच असंतोष के साथ गुस्‍सा भी है और वे आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग कर रहे हैं। यह घटना जसनाथ एजुकेशन अकेडमी में घटी है। डाली भाटी नाम की इस मासूम ने सोमवार को अपना होमवर्क पूरा नहीं किया था। उसकी इस गलती के कारण टीचर को इतना गुस्‍सा आ गया कि डंडे से उसकी पिटाई कर दी। पिटाई के बाद जब डाली घर आई तो उसकी हालत देख घरवाले हैरान रह गए। उसकी एक आंख पूरी तरह खुल नहीं रही थी। आंख के ठीक नीचे बड़ा नीला निशान था और छात्रा को कुछ दिखाई नहीं दे रहा था। डर के कारण वह किसी को कुछ नहीं बता रही थी। बच्ची की दशा पर मां रोने लगी, पिता दिलीप भाटी भी घबरा गए और पुलिस स्टेशन पहुंचे। वहां पुलिस ने आरोपी महिला टीचर के खिलाफ बाल शोषण का मुकदमा दर्ज कर लिया।

फलाहारी बाबा की असलियत आई सामने, पीड़िता के पिता बोले- शादीशुदा हैं महाराज

रेप की कोशिश के आरोप में घिरे फलाहारी महाराज पुलिस हिरासत में अलवर पुलिस ने बलात्कार की कोशिश के मामले में फंसे जगदगुरु रामानुजाचार्य स्वामी कौशलेंद्र प्रपन्नाचारी फलाहारी महाराज को हिरासत में ले लिया है. छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले की रहने वाली एक युवती ने फलाहारी बाबा के खिलाफ रेप की कोशिश का केस दर्ज कराया है. पुलिस ने बाबा को राजस्थान के अलवर में एक अस्पताल से हिरासत में लिया है. रेप की कोशिश के आरोप में फंसे फलहारी महाराज खुद को बीमार बताकर अस्पताल में भर्ती थे. इसी दौरान शनिवार की सुबह पुलिस की टीम वहां पहुंची और बाबा को हिरासत में ले लिया. पुलिस मेडिकल के लिए बाबा को लेकर सरकारी अस्पताल गई है. कागजी कार्रवाई के बाद उनसे पूछताछ की जाएगी. जानकारी के मुताबिक, छत्तीसगढ़ के बिलासपुर के महिला थाने में पीड़ित युवती ने शिकायत दर्ज कराई है कि फलाहारी बाबा ने उसके साथ रेप की कोशिश की थी. पीड़िता के परिजन इस बाबा के शिष्य हैं. यह युवती जयपुर में रह कर कानून की पढ़ाई कर रही थी. बाबा की सिफारिश पर सुप्रीम कोर्ट के एक वकील के यहां उसने अपनी इंटर्नशिप पूरी की थी. इंटर्नशिप खत्म होने के बाद पीड़िता बाबा का आशीर्वाद लेने 7 अगस्त को अलवर के दिव्य धाम पहुंची. उसने महाराज को तीन हजार रुपये की भेंट भी चढ़ाई. रक्षा बंधन का दिन होने की वजह से फलहारी बाबा ने उसे आश्रम में ही रुकने के निर्देश दिए. उससे कहा कि रात में उसे गुप्त दिव्य मंत्र दिया जाएगा. उसे हाई कोर्ट का जज बनाने का प्रलोभन भी दिया. पीड़िता के मुताबिक, रात में युवती जब बाबा के कमरे में पहुंची, तो उसने अंदर से दरवाजा बंद कर दिया. पीड़िता के साथ छेड़खानी करते हुए रेप की कोशिश करने लगा. उसी समय किसी ने बाहर से दरवाजा खटखटा दिया. बाबा की पकड़ ढीली होने से लड़की तुरंत उसके चंगुल से छूटकर कमरे से भाग गई. लेकिन बाबा के प्रभुत्व के डर से उसने मुंह बंद रखा. रेप केस में राम रहीम के जेल जाने के बाद पीड़िता के अंदर हिम्मत आई. उसने हिम्मत जुटाकर फलाहारी बाबा को सबक सिखाने की ठान ली. इसके बाद उसने अपने भाई के साथ थाने जाकर केस दर्ज कराया. इसकी सूचना मिलते ही फलाहारी बाबा बीमारी का हवाला देकर अस्पताल में भर्ती हो गया था. पुलिस ने अस्पताल के चारों ओर कड़ा पहरा लगा रखा था.

More Articles...

  1. उदयपुर-अहमदाबाद हाईवे पर ट्रक पलटा, चार जनों की मौत
  2. लड़ाकू विमान उड़ाने वाली पहली महिला रक्षामंत्री बनीं सीतारमण, बोलीं- ये गर्व की बात
  3. दर्दनाक हादसा, एमपी की कार टैंकर से भिड़ी, पांच की मौत
  4. भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ने कटौती पर साधी चुप्पी, कहा सरप्लस है बिजली
  5. राजीव गांधी का नाम हटाकर 'अटल' जोड़ना सरकार को पड़ा भारी, कोर्ट ने निरस्त किए आदेश
  6. हिरण शिकार केस में कोर्ट में बोले सलमान- पब्लिसिटी के लिए मुझे फंसाया
  7. जीएसटी के लिए संसद रात 12 बजे खुल सकती है, किसान के लिए 10 मिनट चर्चा नहीं कर सकती
  8. पद्मावत' पर आए फैसले के बाद मची हलचल, वसुंधरा सरकार ने बुलाई बैठक
  9. जोधपुर में इमारत पर गिरा मिग 27, इमारत में लगी आग, दोनों पायलट सुरक्षित
  10. राजस्थान हाईकोर्ट ने रद्द किया गुर्जरों समेत 5 जातियो का आरक्षण

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3