क्या राजस्थान में है राम रहीम की राजदार हनीप्रीत, मोबाइल ट्रेस!

जयपुर डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरुमीत राम रहीम की कथित बेटी और प्रमुख राजदार हनीप्रीत सिंह की तलाश में तमाम सुरक्षा एजेंसी जुटी हुई हैं। अब हनीप्रीत के राजस्थान में होने के संकेत मिले हैं। राजस्थान के पाक बॉर्डर के सटे जिले बाड़मेर में हनीप्रीत का मोबाइल ट्रेस होने की जानकारी के सामने आ रही है। न्यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार सरहदी जिले बाड़मेर से हनीप्रीत के मोबाइल के सिग्नल मिले हैं। हालांकि बाड़मेर के पुलिस अधीक्षक गगनदीप सिंगला का कहना है, यह सिर्फ अफवाह है। इस तरह की कोई जानकारी पुलिस के पास नहीं है। इससे पहले हनीप्रीत के महाराष्ट्र और उत्तर प्रदेश से लेकर नेपाल भाग जाने तक की खबरें सामने आती रही हैं।गौरतलब है बाब राम रहीम को बीते 25 अगस्त को पंचकुला की विशेष सीबीआई कोर्ट ने दोषी करार दिया था। इसी दिन हनीप्रीत को आखिरी बार देखा गया था। उसके बाद हरियाणा पुलिस ने हनीप्रीत के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया था। हनीप्रीत तभी से गायब है। हाल ही में उत्तर प्रदेश के नेपाल से बॉर्डर से लगते जिले लखीमपुर खीरी के नजदीक एक पंजाब नंबर की कार मिली थी। जिसके बाद अटकले तेज हुई थी कि हनीप्रीत नेपाल भाग गयी है। लेकिन अभी तक सुरक्षा एजेंसिंया खाली हाथ ही हैं।

जयपुर बवाल: 84 घंटे बाद कर्फ्यू में दो घंटे की ढील, असमाजिक तत्वों पर रहेगी नजर

जयपुर जयपुर में हुए बवाल के बाद 84 घंटों से जारी कर्फ्यू में दो घंटे की ढील दी गई है। रामगंज थाना इलाके में हुए बवाल में मारे गए युवक आदिल के शव को पोस्टमार्टम के बाद दफना दिया गया है। पुलिस के अनुसार हालात धीरे-धीरे सामान्य होते जा रहे हैं। पुलिस कमिश्नर संजय अग्रवाल के अनुसार ये ढील दोपहर 3.30 से शाम 5.30 के बीच दी गई है। ये राहत चारों थाना इलाकों में दी गई है। इस दौरान लोग बाहर आ निकले और उन्होंने जरूरत का सामान खरीद रहे हैं। बाजारों में एक बार फिर से चहल पहल देखने को मिली। गौरतलब है कि कुछ घंटे पहले ही आदिल को सुपुर्द-ए-खाक करने के लिए सैंकड़ों लोग पहुंचे। इसके बाद अब हालात सामान्य होते नजर आ रहे हैं। ऐसे में अब कर्फ्यू में दो घंटे की छूट दी गई। आदिल को दफनाए जाने के बाद अब माना जा रहा है कि हालात सुधरेंगे।गौरतलब है कि शुक्रवार देर रात रामगंज में हुए उपद्रव के बाद चार थानों, रामगंज थाना, गलता गेट थाना, माणक चौक थाना और सुभाष चौक थाना में कर्फ्यू लगाया गया था। अब दी गई छूट के दौरान कमिश्नर ने निर्देश दिए हैं कि असमाजिक तत्वों पर खास नजर रखी जा रही है। इस दौरान ड्रॉन से भी नजर रखी जा रही है और पुलिस का भारी जाब्ता मौजूद है। इससे किसी भी तरह की आशंका से निपटा जा सके।

More Articles...

  1. आॅपरेशन थियेटर में झगड़ा करने वाले डॉक्टर्स की छुट्टी, कोर्ट ने लिया प्रसंज्ञान
  2. राम रहीम मामला: गायब हुई 25 वर्षीय महिला अनुयायी मामले में 7 को सुनवाई
  3. सरकारी गौशाला में गायों की बचाने आगे आया मुस्लिम व्यापारी
  4. ज्वैलरी फर्म के 38 ठिकानों पर आयकर छापे, चार राज्यों में एक साथ कार्यवाही
  5. रेगिस्तान में चली हरियाली बढ़ाने की बयार
  6. भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने दलित कार्यकर्ता के यहां खाया खाना
  7. भीषण सड़क हादसे में नौ लोगों की मौत, 25 से ज्यादा लोग घायल
  8. 34 मामलों के आरोपी हिस्ट्रीशीटर को गोलियों से किया छलनी, मौके पर मौत
  9. राजस्थान में नदी के तेज बहाव में बह गए कुशलगढ़ एसडीएम, गाड़ी का ड्राइवर बचा
  10. आनंदपाल जैसे गैंगस्टर के लिए धड़कता है राजपूतों का दिल?

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3