'पद्मावती' पर विहिप का तीखा बयान, केंद्र रोके फिल्म नहीं तो 'जो होगा इतिहास देखेगा'

जयपुर संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती की परेशानी कम होने का नाम ही नहीं ले रही है। एक तरफ जहां लोकसभा की एक समिति के सामने पहुंचे सेंसर बोर्ड चैयरमेन ने इतिहास कारों की फिल्म दिखाने की बात कही है, वहीं दूसरी तरफ विश्व हिंदू परिषद के नेता प्रवीण तोगड़िया ने तीखे बयान दिए हैं। जयपुर के प्रेस क्लब में तोगडिया ने कहा कि केंद्र सरकार फिल्म पद्मावती पर रोक लगाए। ऐसा नहीं होने पर भारी विरोध किया जाएगा। इसमें सिनेमा घरों में बहुत कुछ होगा। ऐसा कुछ जिसे इतिहास याद रखेगा। गौरतलब है कि पद्मावती के कथानक को लेकर विवाद जारी है। आरोप है कि फिल्म में दिखाई जाने वाली कहानी में इतिहास से छेड़छाड़ की गई है। इसे लेकर राजस्थान तो विरोध प्रदर्शन चल ही रहा है, कई राज्यों ने भी इसके प्रदर्शन पर अभी रोक लगा दी है।रवीण तोगड़िया ने इसके साथ ही राममंदिर व लवजिहाद पर भी अपनी राय रखी। तोगड़िया ने राम मंदिर के निर्माण के बारे में कहा कि अब तक किसी तरह की कोई तिथि तय नहीं की गई है, लेकिन हम चाहते हैं कि जल्द से जल्द मंदिर निर्माण शुरू किया जाए। लव जिहाद के मामले में तोगड़िया ने कहा कि किसी भी हिंदू की बेटी को इसका भोग बनने नहीं देंगे और एक बेटी की करोड़ों हिंदु रक्षा करेंगे। परिषद भी इस मामले में आवश्यक कदम उठायेगी।

आत्मा के खौफ के कारण बदला इस किले का नाम, अब लटकी मिली लाश

नई दिल्ली: जयपुर के नाहरगढ़ किले में एक युवक का शव लटका मिला है. शव के पास पत्थर पर लिखा गया है, 'पद्मावती का विरोध, हम पुतले नहीं जलाते, लटकाते हैं.' जयपुर पुलिस को सुबह शव लटके होने की सूचना मिली थी लेकिन अब तक शव को उतारा नहीं गया है. सिविल डिफेंस की टीम भी मौके पर पहुंच गई. पुलिस हत्या और आत्मह्तया दोनो एंगल से मामले की जांच कर रही है. शव मिलने पर करणी सेना के प्रमुख ने लोकेंद्र कालवी ने एबीपी न्यूज़ से कहा, ''जो कुछ हुआ वो बहुत गलत है. लोग जिस तरह आक्रोशित हो रहे हैं जोश में होश खो रहे हैं, उसे तुरंत बंद कर देना चाहिए. हम इसका किसी भी तरह से समर्थन नहीं करते. ऐसा विरोध बिल्कुल गलत है.'' लोकेंद्र कालवी ने कहा, ''ये घटना पूरी तरह दुर्भाग्यपूर्ण है. करणी सेना के लोग इसलिए विरोध कर रहे हैं क्योंकि फिल्म में पद्मावती की छवि को गलत तरीके से दिखाया गया है.'' कांग्रेस प्रवक्ता अर्चना ने कहा, "घटना बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है. जिन परिस्थियों में घटनाक्रम सामने आया है उसे समझना पड़ेगा. ये इशारा कर रहा है कि देश में किस प्रकार का आक्रोश है, पता नहीं किसने क्या मतलब निकाला है. ऐसी परिस्थितियों के लिए व्यवस्था जिम्मेदारी है. देश भर में जो घटनाक्रम हो चुका है उसे समझने में व्यवस्था ने बहुत देर कर दी है." श्याम बेनेगल ने कहा, ''मुझे विश्वास नहीं हो रहा है, सिर्फ एक फिल्म को लेकर कोई हत्या कैसे कर सकता है. ये बहुत भयावह है, इसे तुरंत रोकना चाहिए. राज्य सरकार की जिम्मेदारी है कि इस तरह की घटनाएं ना हों. एक फिल्म के आधार पर किसी की हत्या नहीं की जा सकती. ऐसा पहले कभी नहीं हुआ.'' श्याम बेनेगल ने कहा, ''किसी भी फिल्म होता है लेकिन फिल्म के विरोध में किसी की हत्या नहीं हो सकती. सरकार की जिम्मेदारी है कि फिल्म से जुड़े लोगों को सुरक्षा देनी चाहिए. हम जंगल राज में नहीं रह रहे हैं.''

More Articles...

  1. 'ड्यूटी टाइम खत्म' बोलकर पायलट ने फ्लाइट उड़ाने से किया इंकार, बस से गए यात्री
  2. जयपुर के स्कूल को मिला था बम ब्लाट होने का ई-मेल, जांच में गलत निकली बात
  3. विवादित बिल: आपस में भिड़े सरकार के मंत्री-विधायक, सदन 1 बजे तक स्थगित
  4. नपुंसक नहीं है फलहारी बाबा,जांच में आया सामने
  5. क्या राजस्थान में है राम रहीम की राजदार हनीप्रीत, मोबाइल ट्रेस!
  6. जयपुर बवाल: 84 घंटे बाद कर्फ्यू में दो घंटे की ढील, असमाजिक तत्वों पर रहेगी नजर
  7. आॅपरेशन थियेटर में झगड़ा करने वाले डॉक्टर्स की छुट्टी, कोर्ट ने लिया प्रसंज्ञान
  8. राम रहीम मामला: गायब हुई 25 वर्षीय महिला अनुयायी मामले में 7 को सुनवाई
  9. सरकारी गौशाला में गायों की बचाने आगे आया मुस्लिम व्यापारी
  10. ज्वैलरी फर्म के 38 ठिकानों पर आयकर छापे, चार राज्यों में एक साथ कार्यवाही

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3