सात दिन में दूसरी बार गैंगस्टर आनंदपाल के शव का पोस्टमार्टम हुआ

जयपुर। सात दिन पूर्व पुलिस के साथ हुई मुठभेड़ में मारे गए गैंगस्टर आनंदपाल सिंह का शुक्रवार को दूसरी बार पोस्टमार्टम कराया गया। इससे पहले भी एक बार पोस्टमार्टम कराया जा चुका था,लेकिन गैंगस्टर की मां निर्मल कंवर ने फिर से पोस्टमार्टम कराने की मांग करते हुए रतनगढ़ एडीजे कोर्ट में याचिका दायर की थी। इस याचिका पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने चूरू जिला पुलिस अधीक्षक को आदेश दिए कि सुप्रीम कोर्ट की गाइड लाइन के मुताबिक एनकाउंटर में मारे गए व्यक्ति का पोस्टमार्टम ए क्षेणी के अस्पताल में ही होता है। इससे पहले पोस्टमार्टम स्थानीय अस्पताल में कराया गया था। कोर्ट के आदेश के बाद आनंपाल का शव रतनगढ़ से चूरू जिला अस्पताल लाया गया और वहां छह सदस्यीय मेडिकल बोर्ड ने पोस्टमार्टम किया। उल्लेखनीय है कि 22 जून को पुलिस मुठभेड़ में मारे गए आनंदपाल के शव का 23 जून को पोस्टमार्टम हुआ था और उसी दिन से अस्पताल की मोर्चरी के डी-फ्रीज में रखा हुआ था। परिजनों ने सीबीआई जांच की मांग करते हुए शव लेने से इंकार कर दिया था। हालांकि गुरूवार को परिजनों का सीबीआई की मांग पर तो थोड़ा नरम रूख रहा,लेकिन आनंदपाल की मां ने कोर्ट में फिर से पोस्टमार्टम कराने की अपील दायर की थी। शुक्रवार शाम छह बजे पोस्टमार्टम की कार्रवाई पूरी होने के बाद शव को भारी पुलिस बल के साथ आनंदपाल के पैतृक गांव सांवराद रवाना किया गया। इधर तनाव की आशंका को देखते हुए प्रशासन ने नागौर और चूरू जिलों में 48 घंटों के लिए इंटरनेट पर रोक लगा दी है। पुलिस को आशंका है कि पहले से ही हंगामा कर रहे आनंदपाल के समर्थक उसका शव गांव पहुंचने पर सोशल मीडिया के माध्यम से गलत अफवाह फैला सकते है,जिससे माहौल बिगड़ सकता है। नागौर जिला कलेक्टर कुमार पाल गौतम और चूरू जिला कलेक्टर ललित कुमार शर्मा ने इंटरनेट पर रोक के आदेश जारी किए। इधर आनंदपाल एनकाउंटर मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग को लेकर राजपूत समाज के लोगों ने उसके पैतृक गांव सांवरदा में शुक्रवार को भी डेरा डाले रखा। वहीं कई जिला मुख्यालयों और कस्बों में विरोध प्रदर्शन भी हुआ। आनंदपाल समर्थकों ने कई जगह तोड़फोड़ भी की। जयपुर,सीकर,चूरू,नागौर,जोधपुर सहित कई शहरों में राजपूत समाज के लोगों ने प्रदर्शन किया।

बेरहमी से कर दी महिला की हत्या, प्रोपर्टी विवाद का शक

दो घंटे में पकड़ा गया आरोपी जयपुर राजस्थान के बाड़मेर के मगरा इलाके में एक विधवा की हत्या का मामला सामने आने के करीब दो घंटे बाद आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। जानकारी के अनुसार, मृतका मगीदेवी रेबारी अपने पति की मौत के बाद से ही अपने देवर के घर रह रही थी। इसी दौरान बृहस्पतिवार देर रात उसकी किसी ने हत्या कर दी। घटना की सूचना के बाद बाड़मेर पुलिस कप्तान डॉ. गगनदीप सिंगला भी मौके पर पहुंचे और पुलिस अधिकारीयों को तुरंत जांच के निर्देश दिए। उन्होंने बाड़मेर पुलिस उपाधीक्षक ओमप्रकाश उज्ज्वल और ग्रामीण थानाधिकारी धन्नापुरी गोस्वामी को विशेष टीम बनाकर आरोपी को जल्द से जल्द पकड़ने के आदेश दिए। इसके करीब दो घंटे बाद ही पुलिस टीम ने मृतका के जेठ के बेटे मेवाराम को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के अनुसार हत्या प्रोपर्टी विवाद के चलते की गई है। मृतका के देवर उसे अपने साथ रखना चाहते थे ताकि जमीन प्राप्त कर पाए। इसी के चलते जेठ के बेटे मेवाराम को यह नागवार गुजरा। उसे शक था कि चाची मगीदेवी उसके चचेरे भाई के नाम जमीन बेचकर रुपया नहीं कर दे। यही सोचकर उसने उसे मार डाला। हालांकि अभी आरोपी से पुलिस पूछताछ जारी है।

More Articles...

  1. पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने वालों को बचा रहे हैं वसुंधरा के करीबी - तिवाड़ी
  2. गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित करने का सुझाव
  3. राजस्थान में अब तक 10 जनों को लील चुका हैं स्वाइन फ्लू
  4. चोखी ढाणी में देखा ये सब कुछ,दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष ने कराई रिपोर्ट दर्ज
  5. इस कारण फंदे से लटकी मिली महारानी कॉलेज हॉस्टल की छात्रा
  6. एक साथ महिलाओं ने चलाई कारें, बन गया एक रिकार्ड
  7. शिवालयों में उमड़े भक्तगण, भोलेनाथ का हो रहा पंचामृत और दूध से अभिषेक
  8. भंसाली से मारपीट: विवाद की राह पर सफलता तलाशने के 'साइड-इफेक्ट'
  9. पद्मावती' पर शुरू हुआ घमासान, शिवसेना ने कहा- इतिहास से छेड़छाड़ बर्दाश्त नहीं
  10. नोटबंदी की आड़ में धंधा कर रही है बीजेपी: कांग्रेस

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3