राजस्थान में 10 से 14 साल की उम्र के 366 बच्चे हैं तलाकशुदा

जयपुर। राजस्थान में आज भी बाल-विवाह जारी है, लेकिन बाल-विवाह का एक सच सुनकर आपके होश उड़ जाएंगे। जी हां राजस्थान में 10-14 वर्ष के करीब 366 बच्चे 'तलाकशुदा' हैं। इस बात का खुलासा मैरिटल स्टे्टस पर सामने आई एक सेंसस रिपोर्ट में हुआ। रिपोर्ट के अनुसार इसी उम्र सीमा के भीतर करीब 3,506 'विडो' हैं और 2,855 'सेपरेटेड' हैं। दंपतियों के बीच अलगाव की समस्या और समाधान को लेकर एक सर्वे किया गया। इसमें सामने आया कि 10 वर्ष से लेकर 14 वर्ष की उम्र सीमा में 2.5 लाख विवाहित लोग हैं और 15-19 वर्ष के बीच इनकी संख्या 13.62 लाख है। रिपोर्ट के अनुसार मिश्रित उम्रसीमा के विवाहित लोगों की कुल संख्या 3.29 करोड़ है, जिसमें से 4.95 फीसदी लोग नाबालिग हैं। राजस्थान यूनिवर्सिटी के सोशियॉलजी विभाग के पूर्व प्रमुख राजीव गुप्ता ने तलाक और अलगाव के कारणों पर चर्चा करते हुए कहा कि ऐसे ज्यादातर मामलों के पीछे दहेज, बेटे-बेटी में फर्क, अवैध संबंध जैसे कारण जिम्मेदार हैं। उन्होंने ऐसे नाबालिग शादी-शुदा बच्चों के साथ अपने गत अनुभवों को साझा करते हुए कहा कि अलगाव और तलाक के बाद उनकी जिंदगी बद से बदतर हो जात है, उन्हें कई वर्षों तक और कई बार जीवनभर नरक जैसी जिंदगी अकेले जीनी पड़ती है। हरियाणा भ्रूण हत्या के लिए तथा राजस्थान बाल विवाह के लिए कुख्यात है, लोग हैं की सुधरना नहीं चाहते! इन गंदगियों में ही रहने की आदत हो गई है उन्हें, जैसे सुअर को कीचड़ पसंद होता है ठीक उसी तरह। बताया गया कि राजस्थान में आखा तीज (कई जगह अक्षय तृतीया) के दिन भारी मात्रा में बाल विवाह होते हैं। हालांकि सरकार ने ऐसी गतिविधियों पर रोक लगाने के लिए तमाम पहल की हैं।

नकाब ओढ़कर सलीम चिश्ती की दरगाह पहुंचीं कैटरीना

आगरा। बॉलीवुड ऐक्ट्रेस कैटरीना कैफ आगरा पहुंची। कैटरीना कैफ ने फतेहपुर सीकरी में हजरत शेख सलीम चिश्ती की दरगाह पर चादर पोश की और मन्नत का धागा भी बांधा। कैटरीना कैफ हजरत शेख सलीम चिश्ती की दरगाह पर सुबह 6 बजे पहुंची उन्होंने वहां मन्नत का धागा बांधा और एक धागा खोला जिससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि कैटरीना की कोई एक मुराद पूरी हुई है और अब उन्होंने दूसरी के लिए फिर अर्जी लगाई है। कैटरीना कैफ सुबह लगभग 6 बजे दरगाह परिसर में पहुंची। उनके साथ उनके तीन साथी भी थे। कैटरीना कैफ सफेद सलवार सूट में नकाब लगाकर दरगाह में दाखिल हुई और लगभग 25 मिनट तक रुकीं। उन्होंने जियारत की और जियारत के दौरान उनके आने की खबर मिलते ही कैटरीना की एक झलक पाने को उनके प्रशंसकों की भीड़ जमा हो गई लेकिन सफेद सलवार सूट में आई कैटरीना ने अपने चेहरे से नकाब नहीं हटाया और लोगों की भीड़ से बचकर सीधे निकल गईं। इससे पहले भी कैटरीना कैफ अपनी फिल्मों के आने से पहले हजरत शेख सलीम चिश्ती की दरगाह पर माथा टेक चुकी हैं और दुआ मांग चुकी हैं। अंदाजा लगाया जा रहा है कि इस बार भी कैटरीना कैफ अपनी फिल्म की सफलता के लिए हजरत शेख सलीम चिश्ती की दरगाह पर दुआ मांगने आई हैं।

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3