सरकार के चुनावी दांव से गुर्जर नाराज, एक प्रतिशत आरक्षण में पांच जातियां शामिल

जयपुर गुजरात से लेकर राजस्थान, हरियाणा सहित कई अन्य प्रदेश आरक्षण की आग झेल चुके हैं। लेकिन सरकारें फिर भी इन विषयों पर राजनीति करने से बाज नहीं आतीं। चुनाव की आहट सुनाई देते ही एक बार फिर से राजस्थान में आरक्षण का जिन्न बोतल के बाहर निकल आया है। लंबे समय से पांच प्रति​शत की आरक्षण की मांग कर रहे गुर्जर समुदाय को राजस्थान सरकार ने केवल एक फीसदी आरक्षण देने का निर्णय किया है। ये एक फीसदी आरक्षण अकेले गुर्जर समाज को नहीं मिला है। इसमें गुर्जर सहित पांच जातियां शामिल हैं। जानकारी के अनुसार सरकार के इस निर्णय से गुर्जर नेताओं में नाराजगी है। वहीं जानकार सरकार के इस निर्णय को कुछ दिनों में होने वाले अलवर व अजमेर में लोकसभा उपचुनाव से जोड़कर ​देख रहे हैं।गौरतलब है अजमेर लोकसभा सीट गुर्जर बहुल मानी जाती है, जबकि अलवर लोकसभा सीट में भी गुर्जर मतदाता भाजपा के लिए मुश्किलें खड़ी कर सकते हैं। हालांकि इससे पूर्व राज्य सरकार ने विधानसभा में लाए एक बिल के जरिए गुर्जरों को पांच फीसदी आरक्षण देने का प्रयास किया था। लेकिन सरकार के इस विधेयक पर राजस्थान हाईकोर्ट ने रोक लगा दी थी। राजस्थान सरकार ने बृहस्पतिवार को गुर्जर सहित पांच अन्य जातियों को एक प्रतिशत आरक्षण देने को निर्णय किया और सर्कुलेशन के जरिए के इस निर्णय को ​केबिनेट की मंजूरी मिल गई।

लव जिहाद को लेकर राजस्थान में तनाव,कई स्थानों पर प्रदर्शन, इंटरनेट सेवा बंद

जयपुर। लव जिहाद के नाम पर राजस्थान के राजसमंद में हाल ही में हुई पश्चिम बंगाल के एक व्यक्ति की हत्या के मामले नें तूल पकड़ लिया है। इस मामले को लेकर प्रदेश के दो जिलों में तनाव के हालत पैदा हो गए। वहीं कुछ स्थानों पर विरोध प्रदर्शन हुआ। उदयपुर में हत्या के विरोध में समुदाय विशेष के विरोध प्रदर्शन के दौरान कर गई आपत्तिजनक नारेबाजी के बाद बढ़ा तनाव गुरूवार को ओर अधिक बढ़ गया। गुरूवार को हिन्दूवादी संगठनों के कार्यकर्ताओं ने उदयपुर और राजसमंद में विरोध प्रदर्शन का प्रयास किया,लेकिन पुलिस ने बल प्रयोग कर उन्हे रोक लिया। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को हिरासत में भी लिया। इसी बीच लव जिहाद के मामले में आरोपी के पक्ष में रैली निकालने उदयपुर जा रहे उत्तरप्रदेश के मेरठ निवासी उपदेश राणा को जयपुर की बगरू पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। यूपी से उसके साथ आए लोगों को भी हिरासत में लिया गया है। उपदेश राणा हिन्दू सनातन संघ का राष्ट्रीय प्रचारक बताया जाता है। उपदेश राणा एक समुदाय विशेष के खिलाफ लगातार बयानबाजी कर सोशल मीडिया के जरिए लोगों की भावनाएं भड़का रहा था। उपदेश सोशल मीडिया पर अपने आॅडियो एवं विडियो वायरल कर लव जिहाद के खिलाफ लोगों से एकजुट होने की अपील कर रहा था ।पुलिस के अनुसार उपदेश ने पिछले चार दिन में उदयपुर,राजसमंद सहित राजस्थान के कई जिलों में अपने विडियो वायरल कर रहा था। इसके विडियो वायरल होने के बाद उदयपुर,राजसमंद जिलों में तनाव के हालात हो गए। दो समुदाय के लोग एक-दूसरे के खिलाफ सक्रिय हो गए। मामला बढ़ता देख उदयपुर जिला कलेक्टर विष्ण चरण मलिक ने उपदेश राणा के शहर में प्रवेश पर रोक लगाते हुए धारा 144 लागू कर दी । धारा 144 लागू होने के बाद अब धरना-प्रदर्शन एवं भीड़ एकत्रित होने पर रोक लग गई,कोई व्यक्ति हथियार लेकर भी नहीं घूम सकेगा । वहीं उदयपुर संभागीय आयुक्त भवानी सिंह देथा ने उदयपुर एवं राजसमंद जिलों में 24 घंटे के लिए इंटरनेट पर रोक लगा दी। पुलिस महानिरीक्षक आनंद श्रीवास्तव ने फेसबुक प्रशासन को पत्र लिखकर लोगों की भावनाएं भड़काने वालों के फेसबुक अकाउंट बंद करने के लिए कहा है । सोशल मीडिया पर नजर रखने के लिए पुलिस ने एक विशेष सेल गठित किया है । श्रीवास्वत ने बताया कि सामाजिक ताना-बाना बिगाड़ने के लिए कुछ लोग सोशल मीडिया को टूल बना रहे हैं । राजस्थान के राजसमंद जिले में पिछले दिनों पश्चिम बंगाल निवासी अफराजुल नामक व्यक्ति की हत्या कर शव जला दिया गया था । हत्याकांड और शव जलाने का सोशल मीडिया पर विडियो वायरल किया गया । आरोपी शंभूलाल रैगर इस विडियो में धारधार कुल्हाड़ी से अफराजुल की हत्या कर शव जलाता हुआ नजर आ रहा है । इस विडियो में शंभूलाल लव जिहाद के खिलाफ बयानबाजी भी करता नजर आ रहा है । पुलिस ने शंभुलाल को गिरफ्तार कर लिया । पूछताछ के दौरान शंभूलाल ने लव जिहाद के खिलाफ साहित्य पढ़ने एवं इसके खिलाफ अभियान चलाने की बात कही है । फिलहाल वह पुलिस हिरासत में है । इसी बीच दो दिन से समुदाय विशेष के लोगों ने उदयपुर सहित कुछ स्थानों पर प्रदर्शन करना शुरू किया तो तनाव बढ़ गया । शंभूलाल के पक्ष में भी विरोध प्रदर्शन होने लगे । कुछ संदेश फेसबुक पर पोस्ट करने के साथ ही विडियो वायरल किए गए । उत्तरप्रदेश निवासी उपदेश राणा ने शंभूलाल का समर्थन करते हुए उसके पक्ष में गुरूवार को रैली निकालने की घोषण की,हालांकि उसे उदयपुर पहुंचने से पहले जयपुर में ही गिरफ्तार कर लिया गया भीम पुलिस थाना अधिकारी ज्ञानेन्द्र सिंह ने बताया कि सोशल मीडिया पर कमेंट कर वातावरण बिगाड़ने के आरोप में आधा दर्जन लोगों को हिरासत में लिया गया,इनमें से दो प्रकाश सिंह एवं दिनेश सिंह को गिरफ्तार किया गया है ।

More Articles...

  1. रोडवेज बस और ट्रैक्टर में जोरदार टक्कर, एक की मौत
  2. चेन्नई पुलिस ये गलती नहीं करती, तो बच सकती थी सीआई की जान
  3. लश्कर-ए-तैयबा के 8 आतंकियों को आजीवन कारावास, सभी पर 11-11 लाख का जुर्माना
  4. जैसलमेर में अनियंत्रित होकर पलटी बस, 5 लोगों की मौत, कई घायल
  5. 'पद्मावती' पर विहिप का तीखा बयान, केंद्र रोके फिल्म नहीं तो 'जो होगा इतिहास देखेगा'
  6. आत्मा के खौफ के कारण बदला इस किले का नाम, अब लटकी मिली लाश
  7. 'ड्यूटी टाइम खत्म' बोलकर पायलट ने फ्लाइट उड़ाने से किया इंकार, बस से गए यात्री
  8. जयपुर के स्कूल को मिला था बम ब्लाट होने का ई-मेल, जांच में गलत निकली बात
  9. विवादित बिल: आपस में भिड़े सरकार के मंत्री-विधायक, सदन 1 बजे तक स्थगित
  10. नपुंसक नहीं है फलहारी बाबा,जांच में आया सामने

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3