ग्रामीण अर्थव्यवस्था में 2015-16 में कायम रहेगी सुस्ती: मूडीज

चेन्नई मार्च 2016 में खत्म होने वाले मौजूदा कारोबारी वर्ष में देश की ग्रामीण अर्थव्यवस्था में सुस्ती बनी रह सकती है. क्रेडिट रेटिंग एजेंसी मूडीज इन्वेस्टर्स सर्विस (एमआईएस) ने मंगलवार को यह अनुमान जताया. मूडीज का कहना है कि यह पूर्वानुमान हालांकि पूरी तरह तभी लागू होगा, जब मानसूनी बारिश औसत से कम होगी.
एमआईएस के उपाध्यक्ष और वरिष्ठ शोध विश्लेषक राहुल घोष के मुताबिक, 'देश की ग्रामीण अर्थव्यवस्था के कमजोर रहने से कृषि क्षेत्र में निजी खपत और गैर निष्पादक परिसंपत्तियों पर दबाव बढ़ेगा, जो देश और बैंकों की साख के लिए नकारात्मक होगा.'
'ग्रामीण आय वृद्धि दर बहुत कम'
यह बात एमआईएस के त्रैमासिक प्रकाशन इनसाइड इंडिया के ताजा संस्करण में कही गई है. रिपोर्ट के मुताबिक, देश में ग्रामीण आय वृद्धि दर 2015 में अब तक 5 फीसदी से कम रही है, जबकि 2011 में यह 20 प्रतिशत थी.
रिपोर्ट में देश में किए जा रहे सुधारों के बारे में कहा गया कि देश में बहुदलीय, संघीय लोकतंत्र के कारण नीतियों को लागू होने में समय लगता है. रिपोर्ट के मुतााबिक, ज्यादातर नीति देश की सांस्थानिक ताकत को मजबूत करने वाली हैं, लेकिन इन सुधारों को प्रभाव नजर आने में कई साल लग सकते हैं.

आरके नगर सीट से डेढ़ लाख वोटों से जीतीं जयललिता

 चेन्नई तमिलनाडु के राधाकृष्णन नगर विधानसभा उपचुनाव में राज्य की मुख्यमंत्री और ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (एआईएडीएमके) की महासचिव जयललिता की भारी मतों से जीत हुई है. जयललिता ने डेढ़ लाख से अधि‍क वोटों से जीत हासिल की है. पहले ही दौर की मतगणना में जयललिता अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) के उम्मीदवार सी. महेंद्रन से आगे निकल गईं थीं. अपनी इस जीत के लिए जयललिता ने सभी मतदाताओं और पार्टी सहयोगियों का आभार व्यक्त किया. उन्होंने कहा कि यह जीत राज्य में 2016 मेें होने वाले विधानसभा चुनाव का संकेत है.

Subcategories

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3