नायाब अब्बासी में हुई बैठक, वक्ताओं ने कोर्ट के फैसले पर जताई खुशी

अमरोहा, अ.हि.ब्यूरो।.मुस्लिम एजुकेशनल इंटीट्यूशंस वेलफेयर एसोसिएशन की एक बैठक अमरोहा कैलसा मार्ग स्थित नायाब अब्बासी गल्र्स पीजी कॉलेज में आयोजित हुई। जिसमें हाईकोर्ट इलाहाबाद द्वारा लिए गए फैसले पर खुशी जाहिर की गई। बैठक को संबोधित करते हुए हाशमी ग्रुपके अध्यक्ष डा.सिराजउद्दीन हाशमी ने कहा कि नायाब अब्बासी गल्र्स कॉलेज के प्रबंधक एम असलम फारुखी ने पूरे प्रदेश के अल्पसंख्यक शिक्षण संस्थाओं के अधिकारों के संरक्षण हेतु मा.उच्च न्यायालय में लंबी लड़ाई लड़ी जिसमें अल्पसंख्यक संस्थानों की जीत हुई है जहां अल्पसंख्यक संस्थानों के अधिकारों का संरक्षण सुनिश्चित है तो दूसरी ओर न्यायपालिका पर अल्पसंख्यकों का भी विश्वास बनाए रहा है। उच्च न्यायालय के न्यायाधीश सुनीत कुमार ने अपने ऐतिहासिक फैसले में कहा है कि अल्पसंख्यक शिक्षण संस्थानों पर किसी भी तरह का आरक्षण लागू नहीं किया जा सकता अल्पसंख्यक संस्थान अपने कोटे में किसी भी धर्म जाति या समुदाय के लोगों को प्रवेश दे सकते हैं लेकिन इस अनुपात ऐसा हो कि अल्पसंख्यक चरित्र प्रभावित न हो याद रहे कि दुर्लभ अब्बासी गर्ल्स डिग्री कॉलेज में बीएड सत्र 2014.15 में अपने पचास सेट के कोटे में जहां 41 मुस्लिम छात्राओं को प्रवेश दिया था तो नौ गैर मुस्लिम छात्राओं को भी प्रवेश कर लिया था लेकिन एम जे पी रो एड़ी खंड यूनोरस्टे बरेली ने नौ छात्राओं के परीक्षा कराने से इनकार कर दिया था उसका कहना था कि अल्पसंख्यक संस्था केवल अपने धर्म के लोगों को ही प्रवेश कर सकते हैं जो संस्था क़ायम किया है श्री फ़ारूक़ी ने इसके खिलाफ हाईकोर्ट इलाहाबाद में अपना मामला पेश किया जहां न्यायाधीश सुनीता कुमार ने यूनोरस्टे को कड़े शब्दों में लताड़ा और खा के शिक्षा के मामले में भारत जैसे लोकतांत्रिक देश में भेदभाव मानसिकता स्वीकार्य नहीं है उन्होंने रजिस्ट्रार और वी सी को आदेश दिया के उन नौ छात्राओं को अन्य छात्राओं के साथ पहली जुलाई से होने वाले बीएड की वार्षिक परीक्षा में शामिल किया जाए इस मौके पर वक्ताओं ने कहा कि आज भी न्यायपालिका में उनका पूरा विश्वास और भरोसा है कि अल्पसंख्यकों के अधिकारों की रक्षा करती है एम. असलम फ़ारूक़ी ने इस फैसले को जहां अल्पसंख्यकों अधिकारों के लिए महत्वपूर्ण बताया तो दूसरी ओर उन्होंने सभी को धन्यवाद दिया जिनके सहयोग से यह लड़ाई जीती गई बैठक में मोहम्मद कासिम तर्क, अरमान सिद्दीकी, मोहम्मद मुर्तज़ा, नासिर अली सहित भारी संख्या में एसोसिएशन के लोग मौजूद थ

दिल्ली से अमरोहा आ रही बस पलटी,दर्जनों घायल

अमरोहा, अ.हि.ब्यूरो। अमरोहा से दिल्ली को चलने वाली बस बीती रात थाना रजबपुर क्षेत्र के अतरासी-अमरोहा रोड पर पपसरा चौकी के नजदीक अनियंत्रित होकर सड़क पर पलट गई। जिसमें दो दर्जन सवारी घायल हो गईं। जिनमें चार को गंभीर हालत में रेफ र किया गया है। चालक-परिचालक भी गंभीर ïरूप से घायल हो गए। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर घटना की जानकारी ली। पुलिस ने क्रेन की मदद से बस को सड़क से उठाया। दिल्ली से अमरोहा के बीच चलने वाली प्राइवेट अमान बस शाम को अमरोहा आ रही थी, जब बस पपसरा चौकी के नजदीक पहुंची तो चालक नियंत्रण खो बैठा और बस बीच सड़क पर पलट गई। इसमें बस में सवार दो दर्जन यात्री घायल हो गए। मौके पर चीख-पुकार मच गई। बस बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई। सूचना पर 108 एंबुलेंस मौके पर पहुंची और चार घायलों को सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया। जिनमें बस चालक सुबहान व बस मालिक जहांगीर, नुजहत नसीम पुत्री नसीब निवासी नल नई बस्ती, मोहम्मद नाजिम पुत्र शाहिद कटरा गुलाम अली, रेशमा निवासी अहमदनगर, सरजुद्दीन पुत्र जहूर अहमद निवासी मंडी चौब की गंभीर हालत को देखते हुए रेफर किया गया है। जबकि बाकी घायलों ने निजी चिकित्सक के यहां इलाज कराया। जो बस हादसे का शिकार हुई है, वह दिल्ली-अमरोहा के बीच चलती है। बताया जाता है कि बस डग्गामार थी और उसकी हालत खस्ता थी। बता दें कि जिले की सीमा में सैकड़ों डग्गामार बसें फर्राटे भर रही हैं। जिनसे आए दिन हादसे होते रहते हैं। वहीं हादसे के बाद मौके पर पहुंचे लोगों ने घायलों की सुध लेने के साथ मोबाइल और रुपयों पर भी हाथ साफ कर दिया। यात्रियों ने बताया कि उनका मोबाइल और रुपये गायब हो गए हैं। जिन्हें काफी तलाशने की कोशिश की गई, लेकिन कुछ पता नहीं लगा।

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3