आरोपी चालक के खिलाफ कार्यवाही को हिन्दू युवा वाहिनी ने किया प्रदर्शन

अमरोहा, अ.हि.ब्यूरो। हिंदू युवा वाहिनी के विभाग प्रभारी सुशील कुमार मौर्य के नेतृत्व में बड़ी संख्या में कार्यकर्ता इकट्ठा होकर पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचे और घटना को अंजाम देने वाले वाहन चालक के विरूद्व पुलिस द्वारा मुकदमा दर्ज नही करने पर पुलिस के खिलाफ जबरदस्त नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया। कार्यकर्ताओं का आरोप था कि बीती 29 अप्रैल को दोपहर करीब दो बजे जोया हाईवे पर मैक्स पिकअप ने युवा वाहिनी के जिला कार्यालय प्रभारी अमरजीत सिंह की बाइक को टक्कर मार दी, दुर्घटना में बाइक सवार अमरजीत व उनका पुत्र आदर्श कुमार गंभीर रुप से घायल हो गए थे। हालांकि जोया चौकी पर तैनात पुलिस कर्मियों ने वाहन को मौके पर ही पकड़ लिया था। कार्यकर्ताओं का आरोप है कि चौकी प्रभारी ने वाहन चालक के विरुद्व मुकदमा दर्ज कर कार्रवाही करने के बजाय पैसे लेकर चालक को जाने दिया। इसी बात से नाराज कार्यकर्ताओं ने एसपी पूनम को ज्ञापन देकर मामले की जांच कर चौकी प्रभारी के खिलाफ मुकदर्मा दर्ज कर कार्रवाही की मांग की। कार्यकर्ताओं ने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि शीघ्र ही कार्रवाही नही हुई तो संगठन पुलिस के खिलाफ आंदोलन करने को बाध्य होगा। प्रदर्शन करने वालों में सुशील कुमार मौर्य, सतपाल सिंह, राजेंद्र सिंह, धर्मपाल सिंह, अमरजीत सिंह, अरविंद्र कुमार, सतपाल, सौरभ कुमार, राजेश गोला, अर्जुन सिंह, दीपक कुमार समेत बड़ी संख्या में कार्यकर्ता शामिल रहे।

निर्दोष ग्रामीणों पर दर्ज मुकदमा तत्काल हो वापस, सौंपा ज्ञापन

अमरोहा, अ.हि.ब्यूरो। भारतीय किसान यूनियन ने मूढ़ाखेड़ा ग्रामीणों पर दर्ज मुकदमे बिना शर्त वापसी को लेकर जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा। चेतावनी दी कि अगर उनकी मांग को अनसुना किया गया तो वे लोग उग्र आन्दोलन को विवश होंगे जिसकी समस्त जिम्मेदारी पुलिस प्रशासन की होगी। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि ग्राम मूढ़ाखेड़ा में प्रशासनिक अधिकारियों की नासमझी के कारण झारखण्ड शिवमन्दिर पर विवाद उत्पन्न किया जा रहा है। गांव में लाउडस्पीकर लगाने की परम्परा 20 वर्षो पुरानी है और यह परम्परा थाने के रजिस्टर-8 में भी दर्ज है मगर प्रशासनिक अधिकारी जानबूझकर सत्ता के दवाब में ग्रामीणों पर झूठे मुकदमें कायम करके वर्षो पुरानी परम्परा को समाप्त करना चाहते हैं जिसे किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। निर्दोष ग्रामीणों पर दवाब बनाने के लिए फर्जी मुकदमा कायम किया गया है। ग्रामीणों पर दर्ज मुकदमें तत्काल वापस लिया जाये। ज्ञापन देने वालो में राजेन्द्र सिंह चौहान, जगवीर सिंह चौहान, विरेन्द्र सिंह, खचेड़ू सिंह, महावीर सिंह, होशियार सिंह, उधम सिंह आदि शामिल रहे।

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3