परिवार की गैर मौजूदगी में कई लाख की चोरी

अमरोहा, अ.हि.ब्यूरो। परिवार की गैर मौजूदगी में चोरों ने घर के ताले तोडकर नकदी, सोने-चांदी के जेवरात समेत घर का अन्य कीमती सामान चोरी कर लिया। रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए तहरीर दे दी गई। चोरी की यह घटना कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला पीरजादा की है। यहा गुलाम बाकर आब्दी का परिवार रहता है। बताया जा रहा है कि कुछ समय से गुलाम बाकर बीेमार हैै। जिनका इलाज दिल्ली के अस्पताल में चल रहा है। पूरा परिवार कुछ समय से उनके साथ ही दिल्ली गया हुआ है। तथा घर पर ताले लगे हुए है। रात किसी समय कुछ लोगों ने घर के ताले तोड़कर घर में दाखिल हो गए। तथा घर को खंगालना शुरु कर दिया। चोरों ने अल्मारी के ताले तोड़कर उसमें रखी कई हजार रुपये की नकदी, सोने-चांदी के आभूषण समेत घर का अन्य कीमती समान बड़ी आसानी से समेट ले गए। सुबह घर जब पड़ोसियों ने घर के ताले टूट देखे तो उन्होने इसी की सूचना परिवार के लोगों को दी। देर शाम परिवार के लोग अमरोहा पहुंच गए। और में अंदर जाकर देखा तो घर का सारा सामान बिखरा पड़ा था। तथा अल्मारी के भी ताले टूटे हुए थे। सूचना पर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। तथा मुआयना किया, और आस-पास के लोगों से पूछताछ की लेकिन किसी को चोरी होने का पता नही था। पीडि़त परिवार केे मुताबिक चोर कई लाख रुपये का सामान चोरी कर ले गए। मामले की तहरीर दे दी गई है।

रोजेदारो पर रहमत बन कर बरसी बारिश

अमरोहा, अ.हि.ब्यूरो। तेज हवा के साथ मानसून की पहली बारिश में शहर के आजाद रोड समेत अधिकतर सड़कें पानी में जलमग्न हो गई। बिजनौर रोड,गांधी मूर्ति, कोट चौराहा, बाई पास चौराहा,कोतवाली, मंडी चौब, हिन्दू कालिज, लकडा,नकासा,छेवडा,बाजार चकली,नौबतखाना मेें भी जलभराव हो गया। करोड़ों खर्च करने पर भी जलभराव शहर को जलभराव से मुक्त करने के नाम पर नगरपालिका पिछले कुछ सालों में नाला निर्माण, चौडीकरण व सड़कों को ऊंचा कराने के नाम पर करोड़ों रुपया बहा चुकी है, लेकिन मानसून की पहली बारिश से हुए जलभराव ने फिर पोल खोल दी। नगर पालिका भले ही विकास कराने का ढिढौरा पीटती रहे, लेकिन सच्चाई से सभी रूबरू हो रहे हैं। पालिका के सभी दावों की पोल खोलकर दी। गुरुवार को हुई बारिश से शहर की सड़कें तालाब में तबदील हो गई। पूरे शहर में जलभराव तथा कीचड़ ने लोगों को घरों में रहने पर मजबूर कर दिया। जो लोग मजबूरी में घरों किसी काम से बाहर निकले, उन्हे जलभराव तथा कीचड़ ने सड़क पर चलना दुश्वार कर दिया। वही दूसरी ओर नालियों के उफनने पर सड़कों पर जहां तहां पसरी कीचड़ ने सफाई अभियान को लेकर भी सवाल खड़े कर दिए हैं। देर रात तक शहर में जलभराव की स्थिति जस की तस बनी हुई थी। जिससे लोगों को दुश्वारियों का सामना करना पड़ रहा था बुद्घवार को दिनभर सूरज ने आग बरसाई लेकिन रात साढ़े दस बजे से शुरू हुई बारिश गुरूवार की दोपहर तीन बजे तक जारी रर्ही। लोगों को गर्मी से राहत मिली। अगले दो दिन तक बारिश होने के अभी आसार हैं। सूरज की तपिश तेज थी। तापमान भी 45 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया। दोपहर 12 बजे उत्तर-पश्चिमी गर्म हवाऐं चलीं। इससे लोग बेहाल हो गए। सड़कों पर सन्नाटा छाने लगा। दोपहर सवा एक बजे तापमान आसमान पर पहुंच गया। अधिकतम तापमान 45 डिग्री सेल्सियस रहा। रात को साढ़े दस बजे झमाझम बारिश हुई तो पारा और गिर गया। लोगों को गर्मी से राहत मिली। न्यूनतम तापमान 28 डिग्री सेल्सियस रहा। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक मानसून अभी गुजरात व मध्यप्रदेश के कुछ इलाकों में पहुंचा है। दो दिन में इसके दिल्ली पहुंचने की उम्मीद है। उसके तीन दिन बाद यह पूरी तरह पश्चिमी उत्तर प्रदेश में प्रवेश करेगा। मानसून के पहले दिन 15 से 20 एमएम बारिश होने के आसार हैं। इस बीच पारा 33 से 34 डिग्री सेल्सियस के मध्य रहने की उम्मीद है। रातें और भी आरामदायक होंगी। न्यूनतम तापमान 22 से 23 डिग्री तक रहने की संभावना है।

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3