डीएम का अचानक दौरा, कार्यदायी संस्था के भुगतान पर रोक

बदायूं। जिला चिकित्सालय में डिजिटल एक्सरे रूम तैयार करने वाली कार्यदायी संस्था प्रॉगनासेस मेडीकल सिस्टम प्राइवेट लिमिटेड के भुगतान पर अग्रिम आदेशों तक डीएम शम्भू नाथ ने रोक लगा दी है। एक्सरे रूम गुणवत्ता को नजरअंदाज़ कर तैयार किया गया, जिसके कारण उसकी सीलिंग (फालिंग रुफ) गिर गई है। मंगलवार को डीएम ने एसएसपी सौमित्र यादव के साथ जिला चिकित्सालय में आकस्मिक रूप से छापामार कर चिकित्सालय के हालातों का जायजा लिया तो पूरे अस्पताल में हड़कंप मच गया। डीएम ने पूरी ओपीडी का गहन निरीक्षण किया, चिकित्सकों और मरीजों से भी वार्ता की और दवा वितरण खिड़की से दवा प्राप्त करने वाली महिला की दवाइयों को भी चैक किया। एंटीरेवीज के इंजेक्शन लगने वाले रूम का भी निरीक्षण किया और एक मरीज को बुलाकर उससे वार्ता की उसके हाथ में कुत्ते ने काटा था, डीएम ने उसके जख्म को भी देखा। डीएम ने पर्चा बनने वाली खिड़की का भी मुआयना किया और वहां कई लोगों के एकत्र होने पर डीएम ने ऐतराज जताया, जिससे डॉ. हरपाल सिंह ने अवगत कराया कि इन चारों लोगों को इसी कार्य के लिए लगाया गया है। नाक, कान तथा गले से संबंधित चिकित्सक के ओपीडी कक्ष में मकड़ी के जाले लगे होने पर डीएम ने नाराजगी जताते हुए साफ-सफाई पर विशेष ध्यान देने के  निर्देश दिए। मोहल्ला मीरा जी चौकी निवासी जुवैदा ने डीएम से शिकायत की कि रविवार के दिन उसके जीजा को इमरजेंसी में दिखाने पर किसी चिकित्सक ने प्राइवेट डॉक्टरों के यहां इलाज कराने के लिए रैफर कर दिया, जिस पर डीएम ने कड़ी नाराजगी जताई और और तुरंत हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ. रियाज अहमद को बुलाकर इलाज करने के निर्देश दिए। सीएमएस अवकाश पर पाए गए। इस अवसर पर चिकित्सकगण भी मौजूद रहे।

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3