यूपी के बिजनौर में बस ने कार को टक्कर मारी, महिलाओं-बच्चों समेत 9 की मौत

बिजनौर। बिजनौर में एक बस दुर्घटना में नौ लोगों के मारे जाने की खबर है और चार लोग गंभीर रूप से घायल बताए जा रहे हैं। मरने वालों में तीन पुरुष, तीन महिलाएं और तीन बच्चे शामिल हैं। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार गुरुवार सुबह रोडवेज बस ने एनएच-74 पर एक कार को टक्कर मार दी जिसके चलते यह हादसा हुआ। हालांकि बस किस वजह से कार से टकराई यह अभी तक साफ नहीं हो सका है। मौके पर राहत टीमें पहुंच चुकी हैं और घायलों को हर तरह की मदद दी जा री है। बिजनौर के एसडीएम सतेंद्र सिंह ने बताया कि हादसे की वजहों का पता लगाया जा रहा है। इनोवा सवार सभी लोग हरिद्वार से लखीमपुर वापस जा रहे थे। धामपुर में ग्राम सुहागपुर के पास हादसा हुआ ।अफजलगढ़ से देल्ही जा रही रोडवेज की ओवरटेक करने के प्रयास में कार पर चढ़ी। गौरतलब है कि राहत टीम के पहुंचने से पहले स्थानीय लोगों ने कार और बस में फंसे लोगों को निकाल कर नजदीकी अस्पताल में पहुंचाना शुरू कर दिया था।

बिजनौर में पीएम मोदी ने कहा- मोदी लहर को देखकर गले मिले राहुल-अखिलेश

नरेंद्र मोदी का राहुल गांधी पर तंज, गुगल पर सबसे ज्यादा चुटकुले कांग्रेस नेता के हैं बिजनौर : उत्तर प्रदेश के बिजनौर में विजय शंखनाद रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सपा-कांग्रेस गठबंधन पर तीखा हमला करते हुए कहा जो लोग आपस में 27 साल यूपी बेहाल के नारे को लेकर तू-तू, मैं-मैं कर रहे थे वे बीजेपी की लहर को देखकर अब गले लग गए हैं. प्रधानमंत्री ने अखिलेश यादव पर जमकर निशाना साधते हुए कहा कि सपा सरकार के कामों का काला चिट्ठा 11 मार्च को खुल जाएगा. उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनते ही अखिलेश के पापों का हिसाब लिया जाएगा. इससे पहले प्रधानमंत्री ने अपने भाषण की शुरुआत बिजनौर की जनता से क्षमा मांगकर की. उन्होंने कहा कि इस विशाल जन सैलाब को देखकर यह साफ़ हो गया है कि आंधी किसकी है. पीएम ने कहा, 'मैं वादा करता हूं, किसान के लिए 'किसान बीमा योजना' में उनके साथ किसी भी तरह का अन्याय नहीं होगा. जब चौधरी चरण सिंह जी प्रधानमंत्री बने थे तब खाद का दाम कम हुआ था, उसके बाद अभी जाकर खाद का दाम कम हुआ है. चौधरी चरण सिंह की तरह हमने किसानों के भले के लिए काम किया. कांग्रेस ने कभी भी चौधरी चरण सिंह की इज्जत नहीं की. सरकार बनते ही प्रदेश के खजाने से हर जिले में चौधरी चरण सिंह कल्याण कोष बनाया जाएगा.' यूपी का किसान पूरे हिंदुस्तान का पेट भरता है, लेकिन यहां के किसानों को सिर्फ 14 फीसदी बीमा का लाभ हुआ. भाजपा शासित राज्यों में 50 फीसदी से ज्यादा किसानों को फसल बीमा का लाभ हुआ. यहां की सरकार, मरी हुई सरकार है. हरियाणा जैसा छोटा राज्य जहां भाजपा का शासन है, वहां 60 फीसदी किसानों का समर्थन मूल्य पर धान लिया गया. उत्तर प्रदेश सरकार, दिल्ली की सरकार की योजना को लागू करने के लिए तैयार नहीं है. सफाई के लिए केंद्र सरकार पैसा दे रही है, लेकिन 900 करोड़ में सिर्फ 40 करोड़ खर्च किया गया. मैं सबसे कहता हूं कि उत्तर प्रदेश में परिवर्तन लाएं और कुनबे से उत्तर मांगे.

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3