पड़ोसियों ने ही लगाई है मेरी कार में आग : मौ. शरीफ

जहांगीराबाद। नगर के मोहल्ला आहनग्रान में कुछ लोगों ने अपनी रंंिजश मानते हुए उसी कॉलोनी के निवासी की कार को आग के हवाले कर दिया। नगर के मोहल्ला आहग्राऩ के निवासी शरीफ पुत्र स्व. मौहम्मद अख्तर ने पुलिस को दी तहरीर में जानकारी देते हुए बताया कि मेरे ही पड़ोस में रहने वाले अनम, उवेस पुत्र महफूज व अनीस पुत्र अब्दुल रहमान ने मेरी अंबेसडर कार डीएल 3सी, बीएम 4269 को रात में आग के हावाले कर दिया। मौ. शरीफ ने बताया कि वह कार चलाकर अपना व अपने परिवार का पालन-पोषण करता हैं। सोमवार की रात को वह वह अपनी कार का बुक लगाकर आया था और मोहल्ले में ही रोजाना की भांति उसी स्थान पर खड़ी कर दी और अपने घर चला गया। आधी रात के बराबर में स्थित मस्जिद में रुकी जमात के लोगों ने शोर मचाया ओर जब तक में और मेरा परिवार वहां पहुचा तो कार में लगी आग अपना भयंकर रूप ले चुकी थी। जिसको पड़ोस के लोगों की मदद के बाद काफी देर बाद बुझा पाया, मगर जब कार पूरी स्वाहा हो चुकी थी। कस्बा चौकी इचंार्ज संजय कुमार ने बताया कि पीडि़त शरीफ की तहरीर मिल गई है। जांच कर उचित कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

दुकान को ध्वस्त करने के आदेश

जहांगीराबाद। कृषि उत्पादन मंडी समिति परिसर में किसान बाजार के खाली स्थान को नियम विरुद्ध आवंटन कर उस पर बनाई गई दुकान को ध्वस्त करने के आदेश मंडी सचिव ने दिए हैं। इस मामले में तत्कालीन मंडी सचिव के विरुद्ध विभागीय कार्रवार्ठ की संस्तुति डीडीए ने की है। नगरपालिका परिशद के सभासद विनय अग्रवाल ने मंडी परिशद के अपर निदेषक डॉ. रामविलास यादव से मंडी के गेट पर नियम विरुद्ध आवंटन कर अवैध रूप से दुकान बनाने की शिकायत की थी। मामले की गंभीरता को देखते हुए अपर निदेषक डॉ. रामविलास यादव ने डीडीए मेरठ नरेन्द्र मलिक की अध्यक्षता में डीडीसी बुलंदशहर सत्यप्रकाश व मंडी सचिव जहांगीराबाद अरुण कुमार की संयुक्त जांच समिति गठित कर उनको जांच सौंपी थी। जांच समिति ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि मंडी परिशद की किसान बाजार के बीच के स्थान को आवंटन करने की कोई नीति या नियमावली नही है। इस आवंटन में दुकान आवंटन समिति का निर्णय भी नहीं है। इसके बावजूद भी जनसामान्य से प्रार्थना पत्र आमंत्रित नही किए गए। सार्वजनिक नीलामी भी नहीं कराई गई। बिना प्रीमियम केवल मासिक किराये पर अनियमित व अनाधिकृत रूप से आवंटन करते हुए निर्माण करने की अनुमति भी प्रदान कर दी गई। डीडीए मेरठ की अध्यक्षता में गठित जांच समिति द्वारा यह आवंटन अनियमित व अनाधिकृत पाए जाने पर निरस्त करते हुए दुकान बनाने वालों को निर्माण को ध्वस्त करने का नोटिस जारी किया गया है। वहीं इस मामले में स्थान का आवंटन करने वाले तत्कालीन मंडी सचिव के विरूद्ध विभागीय कार्यवाही की संस्तुति भी डीडीए ने की है।
इस बारे में मंडी सचिव अरूण कुमार ने बताया कि मंडी के किसान बाजार में दुकान का निर्माण कराने वाले सुनील कुमार दीक्षित पुत्र सुरेन्द्र कुमार दीक्षित को निर्माण कार्य ध्वस्त कर लिखित रूप से कार्यालय को सूचना देने का नोटिस जारी किया गया है।

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3