बुलंदशहर गैंगरेप पर अखिलेश सख्त, मुख्य संदिग्ध की पहचान

बुलंदशहर बुलंदशहर में हाईवे पर मां बेटी के साथ गैंगरेप मामले में पुलिस ने 18 संदिग्धों को हिरासत में लिया है। मुख्य संदिग्ध की पहचान का दावा किया जा रहा है। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने इस घटना को गंभीरता से लेते हुए कड़ी नाराजगी जाहिर की है। उन्होंने सवाल किया है कि आखिर पुलिस गश्त कहां था। सीएम ने घटना की जानकारी होते ही तुरंत डीजीपी, प्रमुख सचिव गृह और आला अधिकारियों को तलब किया। घटना की जानकारी लेने के बाद मुख्यमंत्री ने नाराजगी जताते हुए आसपास के दोनों थानेदारों को निलंबित करने के निर्देश दिए। इस बीच, एडीजी लॉएंड आर्डर ने दावा किया है मुख्य संदिग्ध की पहचान हो गई है। जल्दी ही गिरफ्तारी कर ली जाएगी। मुख्यमंत्री के आदेश पर डीजीपी सैय्यद जावीद अहमद और प्रमुख सचिव गृह देवाशीष पंडा राजकीय हेलीकॉप्टर से बुलंदशहर पहुंच रहे हैं। साथ ही एडीजी कानून-व्यवस्था दलजीत चौधरी को भी आ रहे हैं। तीनों अधिकारी कुछ ही देर में बुलंदशहर पहुंच जाएंगे। उन्हें हर घंटे घटना की प्रगति सीएम को देने के निर्देश दिए गए हैं। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को शाम 4 बजे तक दोषियों को गिरफ्तार करने को कहा है । सीएम ने गिरफ्तारी न होने पर एएसपी, एसएसपी व सीओ के निलंबन के भी आदेश दिए हैं। उन्होंने पूछा कि आखिर पुलिस गश्त कहां था। इस बीच एडीजी लॉ एंड आर्डर दलजीत सिंह चौधरी ने दावा किया कि जांच में घटना में कुछ हरियाणा व राजस्थान के क्रिमिनल ट्राइब्स के शामिल होने का संदेह है। मुख्य संदिग्ध की पहचान हो गई है।मेरठ जोन के आईजी सुजीत पांडेय का कहना है कि पुलिस की टीम खुलासे को लगी हुई हैं।घटना का शीघ्र खुलासा होने की उम्मीद है।हाईवे पर गश्त बढाने के निर्देश दिए गए हैं।

बुलंदशहर गैंग रेप: दलजीत चौधरी का दावा, एक आरोपी की हुई पहचान

बुलंदशहर में मां-बेटी के साथ रेप के मामले में पुलिस ने अभी तक 15 लोगों को हिरासत में लिया है. वहीं यूपी डीजीपी जावीद अहमद ने कहा है कि ये वारदात बहुत संगीन है और अपराधियों को जल्द ही पकड़ा जाएगा. वहीं एडीजी एलओ ने दावा किया कि अपराधियों में 1 बदमाश की हुई शिनाख्त हो गई है. डीजीपी ने बताया कि सभी संदिग्ध लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है. बता दें कि एडीजी (एलओ) दलजीत चौधरी बुलंदशहर के लिए रवाना हो चुके हैं. रवाना होने से पहले दलजीत चौधरी ने बताया कि पुलिस की बड़ी लापरवाही से ये वारदात हुई है.एडीजी एलओ ने दावा किया कि हमारी पुलिस टीमें बदमाशों के करीब पहुंच चुकी है. यूपी पुलिस की टीमें अन्य प्रदेशों में भी भेजी गईं. इस वारदात को अंजाम घुमंतु गिरोह से जुड़े डकैतों ने दिया है. वहीं बुलंदशहर पुलिस ने बदमाशों को पकड़ने के लिए पांच पुलिस टीम बनाई गई है, लेकिन 48 घंटे बीत जाने के बाद भी आरोपी पुलिस की पहुंच से दूर हैं.

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3