अंजुमन हुसैनी के सौगवारान ने किया मातम

हापुड़। मुहर्रम की चार तारीख को इमाम बारगाह सय्यद जमाल हुसैन शाह सिकंदरगेट में एक मजलिस का आयोजन किया। मजलिस में बड़ी तादाद में समाज के लोग शामिल हुए और साथ ही अंजुमन हुसैनी के सौगवारान ने जुलूस निकालकर सीनाजनी व जंजीर का मातम किया। मौलाना अली जव्वाद ने खिताब करते हुए कहा कि इमाम हुसैन अ.ने किसी एक मजहब के लिए कुर्बानी नहीं दी, बल्कि आलमे इंसानियत को जिंदा रखने के लिए कुर्बानी दी। खिताब के बाद जुलजनाह और अलम बरामद किए। जिसमें अंजुमन हुसैनी के सौगवारान ने सीना जनी व जंजीर जनी का मातम किया। जिसमें अंजुमन हुसैनी के नौहाख्वान मौहम्मद अली नकवी व अथहर अब्बास जरगाम, तहसीन हैदर नौहा खुवानी करते हुए जुलूस सिकंदरगेट स्थित इमाम बारगाह से किला कोना, इमाम बारगाह, कोटला सादात, इमाम बारगाह व इमाम बारगाह नवाब असकरी मिर्जा गेट से होते हुए खिड़की बाजार, पुराना बाजार से होते हुए इमाम बारगाह सैयद जमाल हुसैन शाह सिकंदर गेट पर पहुंचकर संपन्न हुआ। जुलूस का संचालन अध्यक्ष राशिद हुसैन रिजवी व सेके्रटरी हसीन रिजवी ने किया।

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3