एसडीएम ने तीन दाल गोदामों पर की छापामार कार्रवाई

हापुड़, अ.हि.ब्यूरो। दालों की बढ़ती कीमतों व दाल की काला बाजारी पर अंकुश लगाने के लिए अपर डीएम रजनीश राय के निर्देश पर सदर एसडीएम ने जिला मुख्यालय पर संचालित तीन दाल मिलों पर छापामार कार्रवाई की। एसडीएम द्वारा की गई जांच में गोदाम में रखा दालों का स्टाक सही पाया गया। उन्होंने व्यापारियों को दालों के रिटेल काउंटर लगाने के निर्देश दिए। एसडीएम द्वारा की गई छापामार कार्रवाई से व्यापारियों में हड़कंप मचा हुआ है। आपको बता दें कि राजधानी दिल्ली से 60 किलोमीटर की दूसरी पर स्थित जनपद हापुड़ में खाद्य पदार्थों में मिलावट व उसकी कालाबाजारी अधिक होनी की संभावना बनी रहती है। पिछले कुछ दिनों से दालों के दाम आसमान छूने लगे। जिस कारण दाल आम आदमी की पहुंच से दूर होती जा रही है। दालों के दाम बढ़ने से कालाबाजारी भी चरम सीमा पर होने लगी। दालों की बढ़ती कालाबाजारी पर अंकुश लगाने के लिए अपर जिलाधिकारी रजनीश राय के निर्देश पर एसडीएम मीनू राणा ने जिला मुख्यालय पर स्थित तीन दाल मिलों पर छापामार कार्रवाई की, जिससे व्यापारियों में हड़कंप मच गया। सबसे पहले एसडीएम मीनू राणा ने खुर्जा पेंच स्थित कंसल दाल मिल पर छापामार कार्यवाही की। उन्होंने गोदाम में रखी दाल का स्टाक की जांच, जिसमें सभी कुछ सही पाया गया। गोदाम के बाहर गोदाम मालिक द्वारा लगाए रिटेल काउंटर भी लगाया गया। जहां शासन द्वारा तय किए गए दालों के मूल्य के अनुसार दालों को बेचा जा रहा था। रिटेल काउंटर से एसडीएम ने दो किलो दाल भी खरीदी। बताया गया कि इसके बाद एसडीएम मीनू राणा ने गढ़ रोड स्थित अमर दाल मिल व एक अन्य दाल मिल पर भी छापामार कार्रवाई की। यहां भी जांच में एसडीएम को दाल का स्टॉक सही मिला। उन्होंने दाल मिलों से अन्य स्थानों पर दालों के रिटेल काउंटर लगाने के निर्देश दिए। जिससे आम जनता को सरकार द्वारा तय किए गए दामों पर दाल मिल सके। वहीं प्रशासन द्वारा की गई कार्रवाई से व्यापारियों में हड़कंप मचा हुआ है।

आठवें दिन भी बीएसए कार्यालय पर शिक्षक व कर्मचारियों का धरना जारी

हापुड़, अ.हि.ब्यूरो। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय पर कई विद्यालयों के शिक्षक व कर्मचारियों द्वारा विभिन्न मांगों को लेकर आठवें दिन भी धरना प्रदर्शन जारी रहा। धरने पर बैठे शिक्षक व कर्मचारियों ने चेतावनी दी कि मांग पूरी नहीं होने पर एक सितंबर से आमरण अनशन शुरू कर कसते हैं। बीएसए कार्यालय के बाहर धरने पर शिक्षक व कर्मचारियों ने बीएस के खिलाफ नारेबाजी करते हुए कहा कि आचार्य नरेन्द्र देव जूनियर हाईस्कूल के शिक्षक राज सिंह ने कहा कि उन्हें अगस्त, 2013 से वेतन नहीं मिला है। जिस कारण उन्हें भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने इस संबंध में कई बार बीएसए को अवगत कराया, लेकिन समस्या का समाधान नहीं हो सका है। जरौठी रोड स्थित किसान पूर्व माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक सुभाष चंद त्यागी व हेमलता शर्मा ने प्रबंध समिति पर उत्पीड़न करने का आरोप लगाते हुए बीएसए से न्याय की गुहार लगाई है। इसके अलावा उक्त विद्यालय में सफाई कर्मचारी के स्थान पर हरिओम शर्मा की अवैधानिक ढंग से नियुक्ति की गई। धरने पर बैठे राजनंदन त्यागी ने कहा कि गांव सबली स्थित लाला गंगा शरण स्मारक जूनियर हाईस्कूल में रिक्त प्रधानाध्यापक पद पर इलाहाबाद शिक्षा निदेशक द्वारा 31 जुलाई, 2016 तक कार्रवाई पूर्ण करने के आदेश दिए थे। इसके बावजूद सात अगस्त को समाचार पत्र में विज्ञापन प्रकाशित किया गया। इस भर्ती प्रक्रिया पर रोक लगाई जाए। सरदार पटेल जूनियर हाईस्कूल पिलखुवा में सहायक शिक्षक तेजपाल सिंह, सुनील कुमार व अनीता शर्मा का वेतन दिलाने की कार्रवाई करने की मांग की। उन्होंने कहा कि अगर उनकी मांगों को पूरा नहीं किया, तो वह आगामी 1 सितंबर से बीएसए कार्यालय पर आमरण अनशन शुरू कर सकते है। जिसकी जिम्मेदारी बीएसए की होगी। इस अवसर पर हरपाल सिंह, सुभाष संद त्यागी, राजनंदन त्यागी, श्यामराज सिंह, कृष्ण कुमार त्यागी, रतन सिंह त्यागी, हेमलता शर्मा, अमन सिंह, संजय त्यागी, विकास त्यागी, सतपाल सिंह आदि उपस्थित थे।

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3