परिषदीय स्कूलों में दादा-दादी व नाना-नानी दिवस मनाया

हापुड़/ब्यूरो। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी देवेन्द्र गुप्ता के निर्देश पर जनपद में संचालित प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालयों में दादा-दादी व नाना-नानी दिवस धूमधाम से मनाया गया। इस अवसर पर सरकारी स्कूलों में प्रधानाचार्यों द्वारा बच्चों के दादा-दादी व नाना-नानी को उपहार भेंटकर सम्मानित किया गया।

जिले में 300 से अधिक शिक्षक अवकाश पर

हापुड़। जनपद में संचालित प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालयों मे कार्यरत करीब 300 से अधिक शिक्षक बीएलओ कार्य से बचने के लिए आकस्मिक व चिकित्सा अवकाश पर चले जाने से बीएलओ कार्य प्रभावित होने लगा है। अधिकारी भी इस मामले को लेकर स्वयं का लाचार महसूस कर रहे हैं। जबकि उच्चतम न्यायालय का आदेश है कि शिक्षकों को गैर शिक्षण कार्य में नहीं झोंका जाए। मिली जानकारी के अनुसार जनपद में 428 प्राथमिक व 209 उच्च प्राथमिक विद्यालय संचालित है। जिसमें वर्तमान समय में 2050 शिक्षक शिक्षिकाएं तैनात हैं। जिले के तीन सौ से ज्यादा शिक्षक इन दिनों चाइल्ड केयर लीव (सीसीएल) और चिकित्सा अवकाश पर चले गए हैं। इसकी वजह इनको बीएलओ की ड्यूटी में लगाया जाना है। बीएलओ की ड्यूटी करने से बचने के पीछे असली वजह यह है कि शिक्षकों को बीएलओ की ड्यूटी के बदले बेहद मामूली धनराशि दी जाती है। यह धनराशि भी कई कई साल बाद इन्हें मिलती है और इसके अलावा बीएलओ की ड्यूटी करने के लिए उन्हें घर घर जाकर कार्य करना पड़ता है। इसके ऊपर उच्चतम न्यायालय का यह आदेश भी शिक्षकों के लिए परेशानी का सबब बना हुआ है कि शिक्षक कार्य के दिनों में बीएलओ की ड्यूटी नहीं करेंगे। ऐसे में इन शिक्षकों को अवकाश के दिनों में बीएलओ का कार्य करना होगा।

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3