इटावा में गाड़ी का टायर फटने के बाद हादसे से बचे क्रिकेटर सुरेश रैना

लखनऊ। टीम इंडिया में वापसी के प्रयास में लगे क्रिकेटर सुरेश रैना कल रात एक सड़क हादसे में बाल-बाल बच गए। गाजियाबाद से कानपुर आ रहे सुरेश रैना की गाड़ी का टायर कल देर रात करीब दो बजे इटावा में फट गया। इसके बाद पुलिस ने उनको दूसरी गाड़ी से कानपुर भेजा। इटावा की फ्रेंड्स कॉलोनी के पास उनकी तेज रफ्तार रेंज रोवर कार (डीएल-1- सीएम- 4919) का टायर फट गया। रैना रात में सड़क के किनारे खड़े हो गए। इस हादसे के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने दूसरी कार से उन्हें कानपुर भेजा। रैना को दिलीप ट्राफी में इंडिया ब्लू टीम की कमान सौंपी गई है। टीम को अपना मैच इंडिया रेड से 13 सितंबर से कानपुर के ग्रीन पार्क स्टेडियम में खेलना है। डिप्टी सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस (एसडीपी) राजेश कुमार सिंह ने कहा कि जिस वक्त घटना हुई उस समय रैना अपनी रेंज रोवर कार चला रहे थे। राहत की बात यह रही कि जिस वक्त गाड़ी का टायर फटा उस समय गाड़ी की गति अधिक नहीं थी। जिस कारण क्रिकेटर सुरेश रैना को कोई चोट नहीं आई। घटना के बाद पुलिस ने एक और कार की व्यवस्था की जिसमें रैना कानपुर के लिए रवाना हुए। टीम इंडिया के विस्फोटक बल्लेबाज सुरेश रैना देर रात सुनसान नेशनल हाइवे नंबर 2 पर खड़े रहे। करीब आधे घंटे तक हाइवे पर परेशान होने के बाद इटावा पुलिस की मदद से वह कानपुर के लिए रवाना हो सके। इंडिया रेड टीमों के बीच होने वाले मैच में सुरेश रैना इंडिया ब्लू टीम के कप्तान हैं। रात रैना नेशनल हाइवे नंबर दो से निजी कार से गाजियाबाद से कानपुर आ रहे थे। इटावा में उनकी कार का पिछला टायर फट गया। टायर फटने की सूचना स्थानीय पुलिस को दी। इसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची। पहले टायर को ठीक करने की कोशिश हुई, लेकिन स्टेपनी न होने की वजह से पहिया बदला नहीं जा सका। इसके बाद सुबह 5.30 बजे एसएसपी वैभव कृष्ण ने सुरेश रैना को दूसरी कार से कानपुर भेजा। रैना ने बताया कि कार खऱाब होने की वजह से दिक्कत हुई। उन्होंने कहा कि आज सुबह सात कानपुर के लैंडमार्क होटल पहुंचे।

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3