मेरठ में जो खुद को नहीं बचा पाएं यूपी को क्या बचा पाएंगे : मोदी

मेरठ: पीएम मोदी बोले- यूपी को स्कैम' से मुक्ति चाहिए, S मतलब सपा, C मतलब कांग्रेस और… विजय शंखनाद रैली मेरठ| प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज यानी 4 फरवरी को उत्तरप्रदेश के मेरठ में रैली कर रहे हैं। उन्होंने लोगों को संबोधित करना शुरू कर दिया है। मोदी के रैली की शुरुआत में मेरठ का जिक्र करते हुए कहा कि वहीं से 1857 का विद्रोह शुरू हुआ था। इसके बाद मोदी ने कहा कि पहले वहां के लोग अंग्रेजों से लड़े और अब लड़ाई गरीबी से है। मोदी ने कहा, ‘उस समय अंग्रेजों से मुक्ति की लड़ाई थी, इस समय गरीबी से मुक्ति की लड़ाई है। ‘ मोदी ने कांग्रेस सपा के गठबंधन पर भी निशाना साधा। उन्होंने पूछा कि रातों-रात ऐसा क्या हो गया जो दोनों पार्टी मिल गईं। मोदी ने कहा कि मेरठ के युवाओं में बहुत कुछ करने का साहस है लेकिन राज्य सरकार उनको पीछे कर रही है। उन्होंने कहा कि वह दिल्ली से लाभ पहुंचाना चाहते हैं वह लखनऊ में रुक जाएगा। मेरठ में हुए एक मर्डर का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा, ‘मेरठ का हाल क्या है ? कोई सामान्य नागरिक शाम को जिंदा घर लौटेगा इसकी गारंटी नहीं है? ‘ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करीब पौने दो बजे हेलीकाप्टर से रैली स्थल पर पहुंचे। मोदी ने मंच पर मौजूद नेताओं व प्रत्याशियों का परिचय देना शुरू किया। मोदी का संबोधन शुरू। कहा, मुझे आज एक बार फिर इस धरती पर आने का सौभाग्य प्राप्त हुआ है। 1857 के स्वतंत्रता संग्राम का बिगुल मेरठ से बजा था। आज मुझे भी चुनाव का बिगुल बजाने का सौभाग्य इसी धरती से मिला है। यहां केशव प्रसाद मौर्य के अलावा 18 विधानसभा सीट के प्रत्याशी और पांच सांसद पहले से ही मौजूद है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की परिवर्तन रैलियों के बाद उत्तर में यह उनकी पहली चुनावी रैली होगी। इस रैली में उनके साथ भाजपा प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य, केंद्रीय राज्य मंत्री संजीव बालियान, सांसद भारतेन्दु सिंह, सत्यपाल सिंह, राजेन्द्र अग्रवाल, डॉ. लक्ष्मीकान्त बाजपेयी, विजय पाल सिंह तोमर आदि मौजूद हैं। उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव का पहला चरण 11 फरवरी से शुरू हो रहा है, जिसके तहत प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज मेरठ में भाजपा के स्टार प्रचारक के रूप में चुनावी रैली को संबोधित करेंगे। जहां पर चुनावी रैली में प्रधानमंत्री मोदी मेरठ सहित पहले चरण में शामिल सभी सीटों पर प्रत्याशियों के लिए वोट मांगेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लोकसभा चुनाव के दौरान दो फरवरी 2014 को मेरठ आए थे। यहीं माधवकुंज के सामने रैली स्थल पर उन्होंने संबोधन किया था। रैली में मेरठ, बागपत, गाजियाबाद, हापुड़, बुलंदशहर समेत आसपास के कई जनपदों से भीड़ जुटाने की तैयारी है। अभी मेरठ की सात सीटों में चार पर भाजपा का कब्जा है, जबकि तीन पर सपा काबिज है। मोदी का आगमन भाजपाइयों में नई ऊर्जा का संचार करेगा। उधर, वेस्ट यूपी में हाईकोर्ट बेंच की मांग को लेकर कचहरी से भी अधिवक्ताओं ने सभा स्थल की ओर कूच कर दिया है। वकीलों का एक गुट मोदी के विरोध का एलान कर चुका है। रैली के चलते शहर में रूट डायवर्जन किया गया है।

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3