दीवार पर खून के छींटे बयां कर रहे इस बर्बरता की दास्तां...

मेरठ यहां उस समय सनसनी फैल गई जब एक बंद घर में दंपति का सड़ी-गली हालत में शव पड़ा मिला। वहीं दीवार पर खून के छींटे बर्बरता की दास्तां बयां कर रहे है। दोनों के सिर पर भारी वस्तु से प्रहार कर धारदार हथियार से गला काटा गया। गोली मारने के अलावा तेजाब से चेहरा भी जलाया गया। घटना करीब चार दिन पुरानी बताई गई। पुलिस हत्या के पीछे अवैध संबंध और रंजिश मानकर चल रही है। पुलिस के अनुसार लिसाड़ी गेट क्षेत्र के लक्खीपुरा गली नंबर 18 निवासी भोली पुत्री अनवार की शादी करीब 10 साल पूर्व हापुड़ निवासी समीर से हुई थी। शादी के तीन साल बाद समीर की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। पति की हत्या के आरोप में जेल गई भोली दो साल बाद जमानत पर छूटी थी। इसी साल 11 मार्च को भोली ने रेहान गार्डन निवासी सलीम पुत्र मोबीन से शादी की थी। दो जुलाई से दंपति लक्खीपुरा में किराए पर रह रहा था। रविवार शाम घर से दुर्गंध उठने पर आसपास के लोगों की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने मकान का ताला तोड़ा। जहां बरामदे में एक ही चारपाई पर भोली और सलीम के शव पडे़ मिले। एसपी सिटी मान सिंह चौहान के अनुसार भोली और सलीम दोनों आपराधिक प्रवृत्ति के थे। महिला के परिजनों ने इस मामले में भोली के साथ जेल गए नजदीकी समेत चार लोगों पर नामजद केस दर्ज कराया है। हत्या के कारण जांच के बाद स्पष्ट होंगे। सलीम के घर का ताला तोड़कर जैसे ही पुलिस और मोहल्ले के कुछ लोग अंदर घुसे तो वहां का मंजर देख उनकी रूह कांप उठी। दीवार पर पडे़ खून के छींटे उनके साथ हुई बर्बरता बया कर रहे थे। बरामदे की एक चारपाई पर दोनों के शव पडे़ थे। दोनों का एक-एक पैर चारपाई के नीचे था। दोनों के सिर एक ही तरफ थे। उनके सिरहाने की दीवार पर और चारपाई के नीचे खून के छींटे थे। शवों के पास एक बैग और फावड़े का हत्था पड़ा था जबकि कुछ फोटो, आधार कार्ड, आदि कागजात बिखरे पड़े थे। पास ही एक मोबाइल फोन बंद पड़ा था। जो भोली का माना जा रहा था। पुलिस के अनुसार अंदेशा है कि सोते हुए दोनों के सिर पर पहले किसी भारी वस्तु से प्रहार किया गया। फिर धारदार हथियार से दोनों का गला रेता गया। सिर के पास बने निशान से गोली मारने की आशंका है। लेकिन शव गलने की वजह से अभी कुछ स्पष्ट नहीं कहा जा सकता।

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3