मुजफ्फरनगर के भुम्मा में धार्मिक स्थल में विस्फोट, एक घायल

मुजफ्फरनगर, मुजफ्फरनगर के मीरापुर थाना क्षेत्र के गांव भुम्मा में सोमवार की रात एक युवक की दूसरे संप्रदाय के चार युवकों द्वारा की गई हत्या के कारण तनाव बरकरार है। मंगलवार सुबह मृतक के घर और घटनास्थल के सामने स्थित एक धार्मिक स्थल में विस्फोट से एक व्यक्ति घायल हो गया। इस घटना के बाद माहौल और गरम हो गया है। मौके पर पहुंची पुलिस ने एक और जिंदा सुतली बम बरामद किया।
धार्मिक स्थल में मौजूद लोगों ने आरोप लगाया कि सुतली बम दूसरे संप्रदाय के लोगों ने फेंका है, लेकिन पुलिस का कहना है कि सुतली बम रमजान के दिनों में इफ्तारी के समय गोला फोड़ने के लिए रखे हुए थे। इससे अफवाहों का दौर शुरू हो गया है। मृतक सतबीर के शव का पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया गया। इसके गांव पहुंचने पर माहौल बिगड़ने की आशंका में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। तनाव को देखते हुए गांव में पीएसी और आरएएफ तैनात कर दी गई है।
इस बीच, केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री संजीव बालियान कोलकाता से मुजफ्फरनगर के लिए चल दिये हैं। उनके यहां पहुंचने के बाद ही ग्रामीण अगला निर्णय करेंगे।
 मीरापुर के गांव भुम्मा में सोमवार की रात्रि सतबीर उर्फ गुलगुल की दूसरे संप्रदाय के चार युवकों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। यह घटना सतबीर के घर के सामने स्थित धार्मिक स्थल पर तैनात दो पुलिसकर्मियों की आंखों के सामने हुई। इसके विरोध में गुस्साए लोगों ने जमकर हंगामा किया और पुलिस की जीप में तोड़फोड़ कर दी। दोनों संप्रदायों के बीच पथराव हुआ। कुछ लोगों ने हवाई फायरिंग भी की।
लोगों ने शव को उठाने का विरोध करते हुए मौके पर पहुंचे सीओ के साथ धक्का मुक्की की, तो दूसरी तरफ धार्मिक स्थल से लोगों ने एसपी क्राइम और पुलिस फोर्स पर पथराव कर दिया। डीआईजी अशोक राघव देर रात पहुंचे और ग्रामीणों की मांग पर उन्होंने एसओ मीरापुर शोएब मियां समेत तीन पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया। इसके बाद ही पुलिस बल प्रयोग कर शव को कब्जे में ले सकी थी।

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3