नोएडा: पॉश सोसायटी में बेहोश मिली मेड, जोरदार हंगामे के बीच पत्थरबाजी

नोेएडा दिल्ली के करीब नोएडा की एक हाई प्रोफाइल सोसायटी से रहस्यमयी तरीके से गायब हुई एक मेड बुधवार को बेहोशी की हालत में पड़ी मिली. इसी के साथ पूरे इलाके में बवाल मच गया. लोगों ने पत्थरबाज़ी शुरू कर दी. इल्ज़ाम है कि एक परिवार ने मेड को चोरी को इल्ज़ाम में बंधक बना कर दो दिनों इतना पीटा कि उसकी हालत बिगड़ गई. सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे पुलिस ने वाले हालात को संभाल लिया. इस मामले की जांच जारी है. जानकारी के मुताबिक, नोएडा के सेक्टर 78 की बेहद पॉश सोसायटी महागुन मॉर्डन जंग के अखाड़े में तब्दील हो चुकी है. लोग मरने-मारने पर उतारू हो गए. दोनों तरफ से पत्थरबाज़ी होने लगी. इसमें एक तरफ पास ही गांव में रहने वाले लोग, तो दूसरी तरफ़ सोसायटी के लोग और गार्ड. इनके बीच पुलिसवाले भी. सोसायटी के एक मकान में एक मेड के रहस्यमयी हालात में बेहोश मिलने के बाद से यहां के हालात कुछ इस तरह के हो गए. एक फ्लैट में काम करनेवाली मेड पिछले दो दिनों से गायब हो गई थी. काम पर जाने के बाद वो घर नहीं लौटी. पहले तो इस सिलसिले में पूछताछ करने पर मेड के घरवालों को सोसायटी के सिक्योरिटी गार्ड ने भगा दिया, लेकिन बाद में बताया कि मेड पांच हज़ार चुरा कर भाग चुकी है. अलबत्ता जब उसके घरवालों और गांव के लोगों ने दबाव बनाया, तो मेड सोसायटी के पास बेहोशी की हालत में पड़ी मिली. उसके जिस्म पर चोट के निशान थे. इसके बाद लोगों का गुस्सा भड़क गया. वे पत्थरबाजी करने लगे. पुलिस ने बताया कि जोहरा नामक मेड पिछले दो दिनों से गायब थी, लेकिन जहां वो काम करती थी, वहां से मेड के घरवालों को कोई साफ़ जवाब नहीं मिल रहा था. इसके बाद सिक्योरिटी गार्ड ने बताया कि वो पांच हजार रुपये चुरा कर भाग गई है. मेड के घरवालों का आरोप है कि उसे चोरी के इल्ज़ाम में सोसायटी की ही एक महिला ने बुरी तरह पीटा है. पुलिस जांच कर रही है.

ग्रेटर नोएडाः गाय खरीदकर ला रहे 2 गोपालकों की रक्षकों ने कर दी धुनाई

नई दिल्ली: ग्रेटर नोएडा एकबार फिर से चर्चा में हैं। यहां कथित गोरक्षकों ने दो लोगों पर पशु तस्करी के आरोप में हमला कर दिया। जिसमें दोनों बुरी तरह से घायल हो गए। घटना ग्रोटर नोएडा के सिरसा खदारपुर गांव का है। जहां गोरक्षकों के दल ने दो लोगों पर जानलेवा हमला किया। फिलहाल दोनों का इलाज चल रहा है।गोरक्षकों के हमले में घायल होनेवाले जयवीर और उनके रिश्तेदार भूपसिंह शामिल हैं। इनदोनों पर हमला तब किया गया जब ये अपनी गाय लेकर लौट रहे थे। उसी वक्त कथित गोरक्षकों के दल ने इनपर हमला कर दिया और बुरी तरह से घायल कर दिया। इसके बाद गोरक्षकों ने घायल जयवीर और भूपसिंह के खिलाफ ही केस भी दर्ज करवा दिया।घायलों ने बताया कि उनपर हमला करने से पहले ये जानकारी भी नहीं ली गई कि वो गाय कहां से ला रहे हैं। दरअसल सिरसा खादरपुर गांव के रहनेवाले जयवीर और भूपसिंह को एक मुस्लिम परिवार ने गाय दान में दी थी। मामले की जानकारी जब उन्हें हुई तो वो थाने पहुंचे और पूरी बात बताई। जिसके बाद सच्चाई सामने आई। इसके बाद पुलिस ने कथित गोरक्षों के चारों लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है। जयवीर और भूपसिंह सब्जी बेचने का काम करते हैं।

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3