सिपाही को अवैध वसूली करनी पड़ी महंगी

बिलासपुर, अ.हि.ब्यूरो। कोतवाली में एक लंबे समय तक तैनाती के समय नगर के मेन चौराहे पर ड्यूटी होने के उपरांत आने-जाने वाले वाहनों से अवैध वसूली करने में चर्चा में रहे। सिपाही हुरबिन्द्र सिंह ने साढ़े तीन साल तक जमकर पैसा कमाया, पर अब 20 दिन पूर्व उसका ट्रांसफर रामपुर कोतवाली सिविल लाइन कोतवाली हो गया है पर फिर भी अपनी पुरानी परंपरा को जारी रखते हुए प्रतिदिन सुबह पांच बजे से आठ बजे तक आने-जाने वाले वाहनों से अब भी अवैध वसूली करता देखा जाता है। 23 अप्रैल की सुबह साढ़े सात बजे बिलासपुर में अहरो अड्डे पर लकड़ी से लदी ट्रालियां को रोककर दबंगी के साथ धमकाकर वसूली कर रहा था कि इतने में उधर से समाजसेवी दैनिक अवाम-ए-हिन्द के ब्यूरो मौ. यासीन आ गए और उससे पूछा कि आपकी पोस्टिंग कहा है, यह सुनकर वह सकपका गया और कुछ सही जवाब नहीं दे सका और वहां से भागने का प्रयास करने लगा, इतने में आसपास के दुकानदारों व राहगीरो की भीड़ एकत्र हो गई, जिन्होंने उसका घेराव करके उसको खूब खरी-खोटी सुनाई, जब पत्रकार ने उसकी शिकायत उच्चाधिकारियों से करने कहा तो वह हाथ जोड़कर नौकरी का वास्ता देकर गिड़गिड़ाने लगा कि साहब एक बार माफ कर दो, अब ऐसा नहीं होगा। तब जाकर मामला शांत हुआ।
तब ही फोन पर सूचना कोतवाल सिविल लाइन को दी और बिलासपुर कोतवाल गणेश दत्त जोशी को भी भ्रष्टाचारी सिपाही के बारे में अवगत कराया तो उन्होंने शिकायत को गंभीरता से लेते हुए जांच कराकर उच्च अधिकारियों को रिपोर्ट देने और विभागी कार्रवाई का आश्वासन दिया।

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3