डॉ. अंबेडकर की जयंती धूमधाम से मनाई

मिलक। संविधान रचितया डॉ. भीमराव अंबेडकर की 125वीं जयंती का कार्यक्रम जनपद रामपुर में धूमधाम से मनाया गया। इस अवसर पर विभिन्न संगठनों ने सभी तहसीलों में बाबा साहब के चित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। कांग्रेस कार्यालय पर जिलाध्यक्ष बलजीत सिंह बिट्ठू ने डॉ. भीमराव अंबेडकर के चित्र पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि दी तो समाजवादी पार्टी, राष्ट्रीय लोकदल, सपा व आकाशवाणी रामपुर ने भी गोष्ठी आयोजित कर श्रद्धांजलि अर्पित की। वहीं तहसील स्वार, शाहबाद, बिलासपुर और मिलक में भी विभिन्न संगठनों ने शोभायात्रा धूमधाम से निकाली व बाबा साहब के आदर्शों पर चलने का आह्वान किया। मिलक में बाबा साहब भीमराव अंबेडकर जन्मोत्सव समिति की ओर से नगर के अंबेडकर पार्क स्थित बाबा साहब की प्रतिमा पर माल्र्यापण कर बाबा साहब को श्रद्धांजलि अर्पित की गई। तत्पश्चात नगर के निरीक्षण भवन में एक गोष्ठी का आयोजन किया गया। इस अवसर पर वक्ताओं ने कहा कि बाबा साहब दलितों के मसीहा थे। उनका पूरा जीवन दलितों के संघर्ष और मान-सम्मान में गुजरा। बाबा साहब ने दबे-कुचलों को उनका हक दिलाया। इस मौके पर राधे श्याम राही, रुचि आजाद, प्रभा देवी, रमेश श्रीवास्तव, परमानंद श्रीवास्तव, संजीव श्रीवास्तव आदि मौजूद रहे।

बाबा साहब की आड़ में भाजपा दलित वोट बैंक साधने की कोशिश में: आज़म खां

फहीम कुरैशी/रामपुर। बाबा साहेब अम्बेडकर जयंती की आड़ में भाजपा की दलित वोट बैंक को साधने की कोशिश पर यूपी के कैबिनेट मंत्री मोहम्मद आजम खां ने तीखी प्रतिक्रिया दी है। आजम खां ने शुक्रवार को प्रेस को दिए अपने बयान में इसे डूबते को तिनके का सहारा जैसी कोशिश बताया है। आजम खां ने कहा कि बीजेपी की साख उखड़ती जा रही है, लिहाजा उन्हें किसी न किसी के सहारे की जरूरत तो पड़ेगी। आजम ने कहा कि बाबा साहेब कभी भी ब्रॉड नहीं रहे, लेकिन उन्हें भुनाने के लिए कुछ दिन बसपा ने और उससे पूर्व कांग्रेस ने उनकी ब्रॉडेड बनाकर रखा। आजम खां ने मायावती के उस बयान की भी आलोचना की, जिसमें मायावती ने दलितों को भाजपा और आरएसएस से होशियार रहने को कहा। आजम खां ने कहा कि मायावती पहले तो भाजपा के साथ मिलकर सरकार बना चुकी है और गुजरात जाकर नरेन्द्र मोदी का चुनाव भी लड़ा चुकी हैं। ऐसे में मायावती यह भी स्पष्ट करें कि दलित भाजपा से कब से होशियार रहें और कहा कि बसपा भाजपा दोनों एक ही है।

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3