दलित समाज की महिलाओं का विकास भवन गेट पर प्रदर्शन

फहीम कुरैशी/रामपुर। दलित समाज की सिर पर रख मेला ढोने वाली महिलाओं का सर्वे सूची में ना आने पर दलित महिलाओं ने विकास भवन गेट पर प्रदर्शन कर मुख्य विकास अधिकारी को ज्ञापन दिया। शुक्रवार को भावाधस के बैनर तले दलित समाज की महिलाओं ने विकास भवन गेट पर अपनी मांग को लेकर प्रदर्शन कर सीडीओ को ज्ञापन दिया। जिसमें कहा गया कि जनपद में सिर पर मेला उठाने वाली महिलाओं का सर्वे ब्लॉक स्तर के कर्मचारियों से कराया गया था, जिन्होंने दफ्तर में ही बैठकर सर्वे सूची बना ली थी, जिसके कारण काफी तादाद में दलित महिलाएं सर्वे सूची में आने से वंचित रह गई और उन्हें किसी भी प्रकार की सहायता भी नहीं मिली, जबकि वह महिलाएं आज भी सिर पर मेला उठाने का कार्य कर रही है।
मुख्य विकास अधिकारी से मांग की है कि जि़ले की दलित समाज की महिलाओं जो सिर पर मेला उठाने का कार्य कर रही है, किसी सरकारी संस्था से सर्वे कराया जाए ताकि जो महिलाए छूट गई है, उनका नाम सूची में आ जाए।
प्रदर्शन करने वाली केला देवी, कुंता देवी, रानी, रीना, छोटी, सुधा देवी, शीतल, भूरी बसंती, सहजो, अनीता, मोनिका, ज्योति, कलावती के अलावा काफी महिलाएं थी।

धूमधाम से निकाली राम शोभायात्रा

फहीम कुरैशी/रामपुर। शुक्रवार को रामनवमी पूरे जनपद में बड़े धूमधाम से मनाई गई और राम शोभा यात्रा आयोजन किया गया तो मंदिरों में रामभक्तों की लंबी-लंबी कतारे दिखी और पूरे दिन पूजा-पाठ चली। रात में आतिशबाज़ी का भी आयोजन किया गया है। शुक्रवार सुबह पांच बजे से ही मंदिरों में पूजा अर्चना करने वाले भक्तों की भीड़ लगना शुरू हो गई थी। दोपहर साढ़े तीन बजे हमेशा की तरह मानव सत्संग मंडल ने तत्वाधान में राम शोभायात्रा निकाली गई। शोभायात्रा रामलीला मैदान कोसी मार्ग से प्रारंभ होकर नयागंज चोहराय सर्राफा बाजार राजद्वार, ग़ांधी समाधि, आवास विकास थाना, सिविल लाइंस, रेलवे स्टेशन, गुरद्वारा, चीनी मिल गेट, राधा रोड होती ही आदर्श कॉलोनी रामलीला मैदान पर जाकर संपन्न हुई। शोभायात्रा में काफी तादाद में रामभक्त साथ थे, भजन चल रहे थे। शोभायात्रा को लेकर प्रशासन पूरी तरह अलर्ट था, हर चौराहे पर पुलिस तैनात थी, काफी फोर्स शोभायात्रा के साथ चल रही थी।

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3