विदेश भेजने के नाम पर एक लाख ठगे

बिलासपुर। थाना कैमरी क्षेत्र के ग्राम खानपुर जयदीद निवासी मौ. सुलतान खां पुत्र मुस्तर अली ने बिलासपुर कोतवाली में तहरीर देते हुए पुलिस को बताया कि मोहल्ला शीरी मियां निवासी तलहा खान पुत्र शहबेज खान से जान-पहचान है, इसी बीच एक बार तलहा खान ने सुलतान से कहा कि तुम्हारा पासपोर्ट बना हुआ तैयार है अगर आप कहो तो मैं आपको विदेश भिजवा देता हूं और इसमें एक लाख का खर्च आएगा, सोच-समझ लेना। यह सुनकर सुलतान ने सोचा कि पहचान वाला व्यक्ति है, चले जाते हैं। सुलतान ने पैसों के बारे में बात की तो कहा कि तीस हजार नकद देना पड़ेगे बाकी रुककर दे देना, उसकी चापलूसी बातो पर भरोसा करते हुए सुलतान ने 29 सितंबर, 2015 को तीस हजार नकद दिए बाकी चालीस हजार तलहा के खाते में डालवाए और तीस हजार फिर कुछ दिन रुककर दिए सारी रकम पहुंचने के बाद जब तलहा से बात की गई तो पहले तो कुछ दिन टालता रहा पर जब अधिक तकादा किया तो कहा कि मैं तुम्हारे पैसे पापस कर दूंगा पर वादे करने के उपरांत टालता रहा ओर पैसे नहीं दिए, जब सुलतान तकादा करने के लिए उसके घर पर पहुंचा तो उसके पिता शहजेब खां और तलहा ने मिलकर सुलतान के साथ मारपीट कर भगा दिया तब पीड़ित कोतवाली पहुंचा और तलहा और उसके पिता शहजेब खां के नामजद तहरीर पुलिस को दी, पुलिस ने मुकदमा लिखकर नामजद व्यक्तियों की तलाश में छापे मारे पर वह लोग फरार हो गए।

बच्चों के विवाद में बड़े भी कूदे

बिलासपुर। कोतवाली क्षेत्र के ग्राम टाह खुर्द निवासी जुल्फिकार अली पुत्र नबी अहमद के बच्चों का और मौ. अहमद के बच्चों का खेलते समय आपस में झगड़ गया, जिसकी जानकारी दोनों के परिजनों को हुई तो वह भी मौके पर पहुंच गए और अपने-अपने बच्चों का पक्ष लेते हुए बड़े भी भिड़ गए और लाठी-डंडे लेकर एक दूसरे पर टूट पड़े। झगड़े में जुल्फिकार गंभीर रूप से घायल हो गया, आसपास के लोगों ने आकर बीचबचाव कराया, तब जुल्फिकार कोतवाली पहुंचा और मौ. अहमद अहमद अली, अकरम रईस के नामजद तहरीर पुलिस को दी। पुलिस ने मुकदमा लिखकर घायल को उपचार के लिए सरकारी अस्पताल भेज दिया।

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3