सहारनपुर हिंसा: भाजपा सांसद के भाई पर शिकंजा, 6 के खिलाफ गैर जमानती वारंट

सहारनपुर उतर प्रदेश के सहारनपुर जिले में साम्प्रदायिक माहौल को खराब करने के आरोप में बीजेपी सांसद के भाई सहित छह लोगों के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया गया है. इसके साथ ही कोर्ट ने भीमा आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद उर्फ रावण सहित तीन के खिलाफ भी गैर जमानती वारंट जारी किया. आरोपियों की गिरफ्तारी कभी भी हो सकती है. वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बबलू कुमार ने बताया कि कोर्ट ने सड़क दूधली प्रकरण के आरोप में जिन छह लोगों के खिलाफ वारंट जारी करने का आदेश दिया है, उसमें बीजेपी सांसद राघवलखनपाल शर्मा के भाई राहुल लखनपाल, उनके समर्थक जितेन्द्र सचदेवा, सुमित जसुजा, अशोक भारती, भाजपा महानगर अध्यक्ष अमित गगनेजा शामिल हैं. एसएसपी ने बताया कि सांसद के भाई समेत 6 लोगों की गिरफ्तारी कभी भी हो सकती है. इस कार्यवाही के बाद से ही सभी आरोपी भूमिगत हैं. बताते चलें कि 20 अप्रैल को हुए दुधली प्रकरण में बाबा साहेब की शोभायात्रा के दौरान हुई साम्प्रदायिक हिंसा में सांसद भी आरोपी है, लेकिन अभी तक पुलिस ने उनके खिलाफ गैर जमानती वारंट नहीं लिया है. सहारनपुर में थाना बडगांव के अन्तर्गत ग्राम शब्बीरपुर को लेकर तरह-तरह के भ्रामक और फर्जी पोस्ट डालने वाले एक व्यक्ति के खिलाफ थाना सदर बाजार में एक मामला दर्ज किया है. सतपाल तंवर नामक एक व्यक्ति ने सोशल मीडिया पर पोस्ट डालकर भ्रामक प्रचार करते हुए दलितों को आर्थिक सहायता देने के नाम पर धन एकत्र करने का प्रयास किया है. वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बबलू कुमार ने बताया कि आरोपी शख्स के खिलाफ थाने में रिपोर्ट दर्ज करा दी गई है. पुलिस उक्त व्यक्ति की तलाश भी कर रही है. उक्त व्यक्ति ने मनोज रानी के नाम से खाता खुलवाया है. उधर, डीआईजी सहारनपुर ने भीम आर्मी के संस्थापक चन्द्रशेखर, मंजीत और कमल वालिया पर 12-12 हजार का इनाम घोषित किया है. पुलिस ने यहां दलित संगठन भीम सेना द्वारा वसूले जा रहे चंदे के लिए एक कैंप को हटा दिया. पड़ोस के सहारनपुर में हाल में अंतरजातीय झड़पों में कथित भूमिका के लिए संगठन जांच के घेरे में है. अधिकारियों ने बताया कि समूह के कार्यकर्ताओं ने शुक्रताल में मेले में एक कैंप लगाया जिसे पुलिस ने हटा दिया है. इसके साथ ही उन्हें चेतावनी भी दी गई है. पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) विनीत भटनागर ने बताया कि कार्यकर्ताओं ने इश्तहार भी बांटे और लोगों से यहां राठेरी गांव में 14 जून को संगठन द्वारा आयोजित एक पंचायत में भागीदारी करने की अपील की है. संगठन के कार्यकर्ताओं ने पैसे वसूलने के लिए कैंप लगाया और सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और चंदे के लिए रखे बक्से हटा दिए हैं.

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3