साउथ अफ्रीका में रोशन किया सहारनपुर का नाम

सहारनपुर। साउथ अफ्रीका में 5 इंटरनेशनल बैड¨मटन डबल में तीन पदक 2 कांस्य व 1 रजत पदक लेकर भारत व जनपद का नाम रोशन करने वाले बीडीएम पब्लिक स्कूल के छात्र कपिल चौधरी का रेलवे स्टेशन पर माल्यार्पण कर स्वागत किया गया। सोमवार को कपिल चौधरी के सम्मान समारोह को संबोधित करते हुए डा.अशोक मलिक ने कहा कि कपिल ने अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर आयोजित बैड¨मटन प्रतियोगिता के क्वाटर फाइनल में मारीशस की जोड़ी को 21-10 तथा 21-17 से पराजित कर कांस्य पदक जीता। अल्जीरिया व मलेशिया की जोड़ी को हराकर कांस्य पदक पर कब्जा कर भारत का डंका बजाया। कपिल अगले महीने थाईलैंड में मास्टर ओपन में भारत का प्रतिनिधित्व करेगा। ग्राम बांदूखेड़ी में भी ग्रामीणों ने कपिल की उपलब्धि पर ढोल की थाप पर जश्न मनाया। शेर¨सह आर्य, केपी ¨सह, अशोक कुमार, विरेन्द्र ¨सह, मुकेश चौधरी, राजेश कुमार, विरेन्द्र ¨सह, सतपाल, सचिन कुमार, अमरदीप ¨सह, सचिन कुमार आदि रहे। साउथ अफ्रीका में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय बैडमिंटन प्रतियोगिता में सहारनपुर के कपिल चौधरी ने रजत पदक जीतकर देश, प्रदेश और सहारनपुर का नाम रोशन किया है। लौटने पर पहले रेलवे स्टेशन और उसके बाद गांव में कपिल का भव्य स्वागत किया गया। कपिल चौधरी गांव बांदूखेड़ी के रहने वाले हैं, जिनके पिता श्रीपाल पेशे से किसान हैं। साउथ अफ्रीका में हुई प्रतियोगिता में कपिल ने अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाते हुए रजत पदक जीता है। इससे पहले कपिल पांच बार राज्य स्तर पर चैंपियन रह चुका है। इसके अलावा तुर्की और नार्वे में हुई प्रतियोगिताओं में क्वार्टर फाइनल तक पहुंचा। अफ्रीका से लौटने के बाद वह सोमवार को ट्रेन से सहारनपुर पहुंचा। रेलवे स्टेशन पर पूर्व ब्लॉक प्रमुख मुकेश चौधरी के नेतृत्व में गुर्जर समाज के लोगों ने कपिल का स्वागत किया। इस दौरान मान्यता प्राप्त विद्यालय शिक्षक संघ के प्रांतीय अध्यक्ष डॉ. अशोक कुमार मलिक भी अपने साथियों के साथ पहुंचे थे। मलिक ने कहा कि वह 27 दिसंबर को बीडीएम स्कूल में कपिल के सम्मान में एक समारोह का आयोजन करेंगे। इस दौरान पंकज, अतुल, राजकुमार, यशदीप, मांगेराम, प्रमोद, अनिल, मनोज, नितिन, पप्पू, श्रवण, संदीप गुप्ता आदि मौजूद रहे।

भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर उर्फ रावण को हाईकोर्ट से मिली जमानत

सहारनपुर जातीय हिंसा के आरोपी चंद्रशेखर को मिली जमानत सहारनपुर सहारनपुर में जातीय हिंसा के आरोपी भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद को जमानत मिल गई है। उन्हें सहारनपुर में जातीय हिंसा भड़काने का आरोप में यूपी पुलिस ने जून में गिरफ्तार किया था। चंद्रशेखर को इलाहाबाद हाईकोर्ट ने दंगे से जुड़े सभी चार मामलों में जमानत दी। चंद्रशेखर पर हत्या के प्रयास, आगजनी व अन्य गम्भीर धाराओं में मुकदमे दर्ज थे। जस्टिस मुख्तार अहमद की बेंच ने जमानत मंजूर की। चंद्रशेखर को एक अन्य मामले में सेशन कोर्ट से पहले ही जमानत मिल चुकी है। भीम आर्मी के पदाधिकारियों ने चंद्रशेखर उर्फ रावण के इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप लगाया। भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद उर्फ रावण से मिलने कई पदाधिकारी जेल में गए थे। चंद्रशेखर का स्वास्थ्य टाइफाइड बुखार होने की वजह से दस दिन से खराब चल रहा था। हालत में सुधार ना होने पर जेल प्रशासन ने उन्हें सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया। तबीयत में कुछ सुधार होने के बाद चंद्रशेेखर को जेल में शिफ्ट कर दिया। मगर उनकी हालत फिर से बिगड़ने लगी थी। भीम आर्मी के पदाधिकारियों ने चंद्रशेखर को बेहतर इलाज एवं कड़ी सुरक्षा प्रदान करने की मांग की थी।

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3