दारोगा ने यूपी पुलिस से दिया इस्तीफा, कहा- ऐसे में नौकरी करना मुश्किल

छुट्टी न मिलने से परेशान दारोगा ने दिया इस्तीफा, दिल्ली पुलिस में कांस्टेबल बनने को तैयार मेरठ यूपी पुलिस के एक दारोगा ने सरकारी सिस्टम पर सवाल उठाए है। उसने यूपी पुलिस से अच्छी दिल्ली पुलिस को बताकर बृहस्पतिवार को एसएसपी मेरठ को अपना इस्तीफा सौंप दिया। दारोगा ने कहा कि यहां छुट्टी नहीं मिलती, 24 घंटे ड्यूटी करनी पड़ती है। एसएसपी ने दारोगा को कहा कि सारे सिस्टम को खराब मत कहो। नौकरी आपको नहीं करनी, अन्य लोगों को क्यों भड़का रहे हो। रोहटा थाने में तैनात 2015 बैच का दारोगा अजित सिंह बृहस्पतिवार को एसएसपी ऑफिस पहुंचा। दारोगा ने एसएसपी को अपना इस्तीफा सौंपकर कहा कि मुझे यूपी पुलिस में नौकरी नहीं करनी। ड्यूटी करते-करते अब वह बीमार रहने लगा है। मेरा इस्तीफा मंजूर करा दो। इतना सुनकर एसएसपी ने दारोगा से पूछा कोई परेशानी हो तो बताओ। जिस पर दारोगा ने कहा कि यूपी पुलिस में वह नौकरी नहीं कर सकता। छुट्टी और ड्यूटी पर दारोगा ने सवाल उठाए। इतना सुनते एसएसपी ने कहा कि आप बीमार हो, यह आपकी परेशानी है। लेकिन यूपी पुलिस पर सवाल मत उठाओ। यूपी पुलिस अच्छी है या दिल्ली पुलिस, इसको बताने वाले आप कौन होते है। दारोगा का इस्तीफा एसएसपी ने ले लिया है। एसएसपी मंजिल सैनी दहल ने बताया कि दारोगा की रिपोर्ट शासन को भेजी जाएगी। उसके बाद ही निर्णय लिया जाएगा। दारोगा ने बताया कि वह यूपी पुलिस में आने से पहले दिल्ली पुलिस में हेड कांस्टेबल था। जहां पर सिर्फ 8 घंटे की ड्यूटी करनी होती है। दारोगा ने कहा कि अब वह यूपी पुलिस में नौकरी नहीं करेगा, वापस दिल्ली पुलिस के लिये प्रयास करेगा।

अब मस्जिदें भी भगवा रंग में रंगी नजर आएंगी: आजम खान

योगी का असर! यूपी के हज हाउस की दीवारें भी हुईं भगवा, वायरल रामपुर हज हाउस की दीवारों को भगवा रंग से पेंट कराए जाने पर समाजवादी पार्टी ने सूबे की बीजेपी सरकार पर हमला बोला है। रामपुर में पार्टी के सीनियर लीडर आजम खान ने कहा, 'किसी दिन हम देखेंगे कि मस्जिदों को भी भगवा रंग में रंग दिया गया है।यही नहीं आजम खान ने कहा कि इस साल पहले की तुलना में हाजियों की संख्या में भी कमी आई है। उन्होंने कहा कि इसके लिए भी सरकार जिम्मेदार है। सोशल मीडिया में उत्तर प्रदेश हज हाउस की एक तस्वीर वायरल हो रही है। कहा जा रहा है कि सत्ता में आने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ के आदेश पर यूपी हज हाउस की दीवारों को भी भगवा कर दिया गया है। हालांकि यूपी हज समिति की ऐसी तस्वीरें अब न्यूज एंजेसी एएनआई ने भी जारी की है। एक ट्वीट में लिखा गया है कि योगी आदित्य नाथ के कार्यकाल में सभी सरकारी दफ्तरों की दीवारों को उनके पसंदीदा भगवा रंग में बदला जा रहा है। मामले में विवाद बढ़ता देख अब सूबे के कैबिनेट मंत्री मोहसिन रजा ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा है कि भगवा रंग एनरजेटिक और चमकीला है। इससे इमारतें खूबसूरत दिखाई देती है। विपक्ष के पास हमारे खिलाफ कोई बड़ा मुद्दा नहीं है। इससे पहले दिसंबर में पीलीभीत के 100 से ज्यादा सरकारी स्कूल की दीवारों को भगवा कर दिया गया था।बता दें कि ऐसा पहली बार नहीं जब सूबे में नई सरकार आने के बाद ऐसी खबरें सामने आई हों। इससे पहले लखनऊ में योगी के दफ्तर की इमारत पर भगवा रंग किया गया था। बाहरी दीवारों से लेकर छत पर केसरिया रंग किया गया।। अंदर सीएम के कमरे में तौलिया, मेजपोश और सोफा, सब कुछ केसरिया रंग का लगाया गया था। सीएम योगी का दफ्तर लाल बहादुर शास्त्री भवन में हैं, जिसे एनेक्सी कहा जाता है। सालों से सफेद रंग में नजर आ रहा एनेक्सी योगी काल में रंगीन हो गया। भवन के बाहर की दीवारों पर केसरिया रंग से पोत दिया गया। छत और अंदर के कमरों में भी कुछ ऐसा ही किया गया। इतना ही नहीं, सीएम इस भवन में पांचवीं मंजिल पर बैठते हैं। उनके कमरे में कुर्सी पर केसरिया रंग का तौलिया लगाया गया। जबकि मेजपोश और सोफा का रंग भी केसरिया जैसा है।

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3