देसी बमों से हुआ था आगरा के होटल में धमाका

लखनऊ। आगरा के बालूगंज में कल एक होटल में धमाके का राज आज खुल गया। इस होटल में गैस सिलिंडर फटने से नहीं बल्कि धमाका देसी बमों के फटने से हुआ था। मलबे की जांच में देसी बमों के खोखे बरामद होने के बाद जांच एजेंसियां आशंका जता रही हैं। कल देर रात धमाके में होटल प्रांगण में बना संचालक का दो मंजिला मकान ध्वस्त हो गया था और दो की मौत हो गई थी। होटल रिलेक्स के पिछले हिस्से में कल देर रात बने होटल संचालक मंजीत सिंह के घर में जबर्दस्त धमाका हुआ था। धमाके वक्त घर में मंजीत सिंह के भाई बलजीत सिंह और उनका परिवार सो रहा था। विस्फोट से दो मंजिला मकान धराशायी हो गया था और पूरा परिवार मलबे में दब गया। धमाका इतना जबर्दस्त था कि नजदीकी घरों में दरारें पड़ गई और होटल की खिड़कियों के शीशे चकनाचूर हो गए। पुलिस और क्षेत्रीय लोगों ने मलबे में लोगों को बाहर निकाला। हादसे में बलजीत की पुत्री निक्की और सिमरन की मौत हो गई। बलजीत, उनकी पत्नी इंद्रजीत कौर और बेटी नेहा घायल हो गए। हादसे के समय मंजीत सिंह परिवार सहित अमृतसर गए हुए थे। हादसे के बाद आशंका जताई जा रही थी कि घर में रखा सिलेंडर फटने से धमाका हुआ होगा। लेकिन घटनास्थल पर बारूद की जबर्दस्त महक आ रही थी। होटल ताजमहल से कुछ किलोमीटर दूर है और फतेहाबाद रोड (जहां ज्यादातर प्रमुख होटल हैं और पर्यटकों की सर्वाधिक आवाजाही होती है) के नजदीक है। ऐसे में आइबी, मिलिट्री इंटेलीजेंस सहित कई खुफिया एजेंसियां रात में ही मौके पर पहुंच खोजबीन में जुट गईं। आज सुबह मलबे को हटाने का काम तेजी से शुरू किया गया, जिसके बाद सुबह 11 बजे करीब मलबे से देसी बमों के अवशेष मिलना शुरू हो गया। जांच एजेंसियों के मुताबिक धमाका देसी बमों के चलते हुआ। हालांकि घर के अंदर घरेलू गैस को ग्राउंड फ्लोर से पहली मंजिल पर पहुंचाने के लिए पाइप लाइन भी लगी हुई थी, ऐसे में इसकी भी जांच की जा रही है। एसपी सिटी समीर सौरभ ने बताया कि मलबे से देसी बमों के खोखे बरामद हुए हैं। प्रथमदृष्टया लग रहा है कि देसी बमों के फटने से ही धमाका हुआ है।

शिक्षा व संस्कारों से मिलता है भाईचरे को बढ़ावा:शिवपाल

मुरादाबाद। जनपद के ग्राम गजरौला नानकबाड़ी में बाबा गणेश दास एवं संत आत्माराम द्वारा आयोजित बाबा मंगनी राम उदासीन आश्रम के 300 वें जन्मदिवस के उपलक्ष्य में आयोजित कार्यक्रम में उपस्थित श्रद्वालुओं एवं गणमान्य नागरिकों को सम्बोधित करते हुये उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि इस क्षेत्र में बिजली, पानी और सड़क तीनों समस्याओं को दूर किया जायेगा तथा आश्रम के प्रत्येक कार्य में प्रदेश सरकार अपना सहयोग देगी। इस अवसर पर कैबिनेट मंत्री शिवपाल सिंह यादव ने बाबा मगनी राम की समाधि पर चादर चढ़ायी और मत्था टेका व संतों का आशीर्वाद लिया। इस मौके पर उत्तर प्रदेश सहित पंजाब, उत्तराखंड एवं अन्य राज्यों से भी संत जन्मोत्सव में भाग लेने आये थे। श्री यादव ने कहा कि महान संत जो भी काम करते है वह समाज, प्रदेश और राष्ट्र्र के लिये करते है और ईश्वर की कृपा से ही संतों का आर्शीवाद मिलता है। आज से 300 वर्ष पहले बाबा मगनीराम के समय में जब आकाल पड़ा था तो उन्होनें इसी स्थान पर तप किया था और उसके प्रभाव से आकाल दूर हो गया। उन्होनें कहा कि ऐसे तीर्थ स्थल पर अगर अवैध कब्जा करने की दृष्टि से किसी की गलत निगाह पड़ती है तो वह उचित नहीं है। उन्होनें कहा कि आत्माराम विद्वान संत है और समाज व राष्ट्र्र के कल्याण के लिये ही उन्होनें पायलट की नौकरी छोड़कर धर्म, कर्म को अपना लिया। उन्होनें कहा कि इस आश्रम में आत्माराम जी अस्पताल या स्कूल बनवाते है अथवा जन हित का कोई कार्य करते है तो वे उन्हें पूरा सहयोग देंगे। कार्यक्रम की अध्यक्षता बाबा कल्याण दास ने की। उन्होनें कहा कि शिक्षा, संस्कारों के माध्यम से भाईचारा विकसित होता है। उदासीन आश्रम, नानकबाड़ी की गद्दी सिद्व गद्दी है और इसकी बहुत मान्यता है। संतों ने संकल्प लिया है कि वे इस आश्रम का जीर्णोधार करेंगे और परोपकार कर समाज की सेवा करेंगे। कमजोर वर्ग के प्रति सहानुभूति सभी के दिलों में रहती है और मानव जाति की सेवा के लिये सभी संत कल्याण का काम करेंगे। संत आत्माराम जी को कैबिनेट मंत्री ने शॉल उढाकर सम्मानित किया और उदासीन आश्रम की ओर से कैबिनेट मंत्री को जगत गुरू आचार्य चंद भगवान की मूर्ति भेंट की गई। इस अवसर पर महामंडेलेश्वर राघवानंद महाराज, दिव्यावर्ग मणि, मोहनदास, परमानंद महाराज, गणेश दास, दुर्गा दास ने अपने विचार प्रकट किये और डॉ. विश्वदत्त राकेश ने बाबा मगनीराम जी के अध्यात्म, दैवीय स्वरूप व उनकी जीवन पर प्रकाश डाला। इस अवसर पर शिवानंद, विक्रम यादव, हरस्वरूप शास्त्री, गुरूजीत सिंह शेखो, जयवीर सिंह, नबाब बाबा, सपा जिलाध्यक्ष हाजी इकराम कुरैशी, कुन्दरकी विधायक हाजी रिजवान, चैयरमैन जिला सहकारी बैंक राजेश यादव, संजीव गर्ग, डीआईजी ओंकार सिंह, एसएसपी लव कुमार, एडीएम सिटी रणधीर सिंह दुहण, एसपी सिटी डॉ. राम सुरेश यादव, एसडीएम सदर मुकेश चन्द्र, धर्मवीर आदि उपस्थित थे।

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3