मंदिर पर चाचा-भतीजे की जंग, शिवपाल ने कहा- 'विरोध करने वालों से सख्ती से निपटेंगे'

संभल: कल्कि मंदिर के शिलान्यास पर एक बार फिर चाचा शिवपाल सिंह यादव और भतीजे अखिलेश यादव की जंग सामने आ गई है. यूपी के संभल में कल्कि मंदिर निर्माण पर लगाई जिला प्रशासन की रोक से नाराज शिवपाल ने कहा कि विरोध करने वालों से सख्ती से निपटेंगे. केवल इतना ही नहीं इस दौरान शिवपाल ने यह भी कहा है, ‘मैं गैर कानूनी काम करने से रोक रहा था. इसलिए मुझे मंत्रिमंडल से निकाल दिया गया.’ उत्तर प्रदेश के संभल में कल्कि मंदिर का शिलान्यास न कर पाने से नाराज़ एसपी के प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव अखिलेश सरकार के अधिकारियों पर बरसे और इस दौरान उनका मंत्री मंडल से बाहर होने का दर्द भी छलका. शिवपाल यादव ने अधिकारियों पर अड़चन डालने का आरोप लगाते हुए उन्हें दस दिन का अल्टीमेटम देते हुए कहा कि दस दिन के अन्दर अड़चने दूर कर मंदिर निर्माण की अनुमति दे दें.
आज संभल में आचार्य प्रमोद कृष्णम के बुलावे पर होने वाले कल्कि मंदिर के शिलान्यास कार्यक्रम में नेता तो पहुंचे लेकिन जिला प्रशासन की सख्ती के चलते उनकी एक न चली और यहां जिला प्रशासन ने मंदिर के निर्माण पर रोक लगा दी. जिससे मंदिर का शिलान्यास कार्यक्रम नहीं हो सका. कार्यक्रम में समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के चाचा शिवपाल यादव मुख्य अतिथि थे लेकिन जिला प्रशासन की सख्त रोक के चलते कांग्रेस और एसपी के नेताओं को वापस लौटना पड़ा. समाजवादी पार्टी के नेता और पूर्व सांसद डॉ शाफीकुर्रहमान बर्क के विरोध के चलते जिला प्रशासन ने मंदिर के शिलान्यास कार्यक्रम पर रोक लगा दी. जिससे शिवपाल यादव खासे नाराज़ दिखाई दिए औऱ इसके चलते शिवपाल, अखिलेश सरकार के अधिकारियों पर बरसे. इस दौरान शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि ”शहीद सुदेश कुमार के घर न जाकर हमारे मंत्रियों ने गलती की है. मैं आज ही शहीद के घर जाऊंगा और मुख्यमंत्री से भी उनके यहां जाने का अनुरोध करूंगा. हमें अपने सैनिकों का सम्मान करना चाहिए.
शिवपाल यादव ने कहा कि पिछले साल मैं यहां खुद भूमि पूजन के कार्यक्रम में शामिल हुआ था लेकिन अब जिला प्रशासन ने शिलान्यास पर रोक कैसे लगा दी. इस दौरान शिवपाल यादव ने अधिकारीयों को दस दिन में सभी अड़चने दूर कर मंदिर निर्माण की अनुमति देने का अल्टीमेटम सुना दिया. शिवपाल यादव ने कहा कि ”जिला प्रशासन को चाहिए कि वो विरोध करने वालों को समझा दें और अगर वो न मानें तो उन्हें सख्ती के साथ हिंदी में समझा दें.  ‘मैं गैर कानूनी काम करने से रोक रहा था, इसलिए मुझे मंत्रिमंडल से निकाल दिया गया.’
इस दौरान मंच से शिवपाल यादव का मंत्री न होने का दर्द छलका और इसलिए वो अधिकारियों पर जमकर बरसें. शिवपाल यादव ने कहा कि मैं गलत काम करने वालों का विरोध करने के कारण आज मंत्रिमंडल से बाहर हूं. आप लोग जानते हैं की गलत लोगों को संरक्षण कौन दे रहा है? समाजवादी पार्टी के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि उन्हें मंत्रिपरिषद से इसलिए हटाया गया क्योंकि उन्होंने अवैध कार्य करने वालों का विरोध किया था.
‘‘मैं अच्छा काम करने वालों के साथ हूं चाहे वह धार्मिक कार्य हो या कोई अन्य’’
शिवपाल ने कहा, ‘‘मैंने अवैध कार्य और भूमि कब्जा करने वालों का विरोध किया था. इसी वजह से मैं मंत्रिपरिषद से बाहर हूं.’’ शिवपाल को भतीजे मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने पिछले महीने अपनी कैबिनेट से बर्खास्त कर दिया. उसी समय मुलायम सिंह यादव के परिवार में बर्चस्व की लड़ाई चल रही थी और चाचा भतीजे में घमासान मचा हुआ था. शिवपाल ने यहां कल्कि महोत्सव के मौके पर कहा कि वह अवैध कार्य करने वालों के खिलाफ आवाज उठाना रखना जारी रखेंगे. ‘‘मैं अच्छा काम करने वालों के साथ हूं चाहे वह धार्मिक कार्य हो या कोई अन्य.’’
इस कार्यक्रम में कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह, कांग्रेस नेता और हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा, राज्य सभा सांसद संजय सिंह भी मौजूद रहें. इसके अलावा देश भर से साधू संत और कई राजनीतिक हस्तियों ने भी कल्कि उत्सव में भाग लिया. यहां कल्कि महोत्सव 11 नवम्बर तक चलेगा. यूपी के चुनावी माहौल में कल्कि मंदिर के निर्माण का मुद्दा राजनितिक रूप ले सकता है लेकिन उससे बड़ी बात ये कि अखिलेश सरकार के मंत्रियों पर जिस तरह शिवपाल यादव बरसे और उनपर मंदिर निर्माण में रोड़ा लगा देने का आरोप लगा गये इस से मुख्यमंत्री अपने चाचा से नाराज़ न हो जाएं.

बदायूं में बोले पीएम मोदी- अखिलेश करते हैं मेरे भाषण की नकल

बदायूं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश के बदायूं में एक रैली को संबोधित किया. इस रैली में एक बार फिर पीएम मोदी के निशाने पर सपा और कांग्रेस का गठबंधन रहा. पीएम ने अखिलेश पर भी जमकर हमला किया. पीएम ने कहा कि अखिलेश उनके भाषण की नकल करते हैं. वो उनकी तरह सवाल-जवाब पूछने लगे हैं. पीएम ने कहा कि जहां भी ये सभी नेता जाते हैं वहां सिर्फ वो मोदी की बात करते हैं अपने काम का हिसाब नहीं देते. पीएम ने कहा कि आजकल देश के नेता उनकी तरह भाषण देने की नकल करते हैं, उनकी तरह सवाल-जवाब करते हैं. अखिलेश यादव ने भी मेरी तरह सवाल-जवाब पूछे. उन्होंने पूछा कि क्या अच्छे दिन आ गए? मैं कहता हूं कि यूपी के अच्छे दिनों की जिम्मेदारी अखिलेश की है. 5 साल से अखिलेश सरकार में हैं पीएम ने कहा कि 2014 में बदायूं से मेरा सांसद नहीं जीता, लेकिन बदायूं के लोग मेरे थे. मायावती, मुलायम को जहां पहुंचना था पहुंच गए, लेकिन आजादी के बाद भी यहां बिजली नहीं पहुंच पाई. अखिलेश बोलते हैं कि काम बोलता है, जबकि बच्चा-बच्चा जानता है कि अखिलेश का काम नहीं कारनामें बोलते हैं. यहां अखिलेश के चहेते विधायक हैं, उन्होंने अपनी पार्टी पर ही आरोप लगाया कि अवैध खनन, बिजली में भ्रष्टाचार करते हैं. रैली में मोदी ने कहा कि बदायूं तो वीआईपी है, क्योंकि यह तो मुलायम, मायावती का कार्य क्षेत्र रहा है. बदायूं को दिग्गज नेताओं का साथ मिला है. वीआईपी जिला होने के बावजूद पिछड़ा हुआ है. बदायूं का नाम 100 पिछड़े हुए जिलों में है. सबसे बुरे जिले में से एक जिला बदायूं हो गया है. बदायूं की जनता ने जिसे अपना आशीर्वाद दिया, उसने इस जिले का क्या हाल बना दिया. मोदी ने कहा कि 2009 में यहां आया था, माहौल देखकर लग रहा है कि अगर 2014 में भी आया होता तो शायद आपने अपना रिजल्ट बदल दिया होता. काशी और यूपी के आशीर्वाद से मैं प्रधानमंत्री और केंद्र में स्थिर सरकार बनी. ये सरकार गरीब, वंचित, शोषित के लिए काम करेगी. आजादी के 70 सालों के बाद भी 18 हजार गांव ऐसे थे, जहां आज भी बिजली नहीं थी. आजाद भारत में ये सबसे बड़ा कलंक था. मैंने कहा 1000 दिनों के भीतर बिजली पहुंचानी है, ये काम पूरा हो गया. अकेले यूपी में 1500 गांव ऐसे थे जहां बिजली नहीं थी. यूपी में एमएलसी की तीन सीटें जीतने पर पीएम ने कहा कि 11 फरवरी को यहां की जनता ने संकेत दिया है कि आगे क्या होने वाला है. बता दिया है कि उत्तर प्रदेश में आंधी कितनी तेज है. यूपी चुनावी मैदान में जो हैं वो तो परेशान होंगे ही, लेकिन उनके कुछ लोग जो दिल्ली में बैठे हैं वो इससे ज्यादा परेशान होंगे.

More Articles...

  1. यूपी के रामपुर में 2 लड़कियों से सरेआम छेड़छाड़, वीडियो वायरल
  2. यूपी के बिजनौर में बस ने कार को टक्कर मारी, महिलाओं-बच्चों समेत 9 की मौत
  3. ऐसे दिया था जेवर कांड को अंजाम, एसएसपी ने सुनाई वारदात की कहानी
  4. मुजफ्फरनगर रेल हादसे पर बाबुओं से बोले प्रभु- शाम तक बताएं कौन है जिम्मेदार, जानें पूरी डीटेल
  5. संगीत सोम के बयान से भाजपा का कोई लेना-देना नहीं
  6. निठारी कांडः सुरेंद्र कोली ने कहा 'जज साहब मैं पागल हूं', सामने से मिला ये जवाब
  7. भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर उर्फ रावण को हाईकोर्ट से मिली जमानत
  8. थल सेनाध्यक्ष बिपिन बोले, सेना के पास हथियारों की कमी नहीं, दुश्मन से निपटने के ‌ल‌िए तैयार
  9. यूपी की राजनीति में मारी भगवान राम और कृष्ण ने एंट्री, जाने कौन है आगे
  10. पिता की अंतिम यात्रा पर बेटियों ने जम कर किया डांस, जानें क्या थी वजह

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3