मुजफ्फरनगर रेल हादसे पर बाबुओं से बोले प्रभु- शाम तक बताएं कौन है जिम्मेदार, जानें पूरी डीटेल

खतौली उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर के खतौली में कलिंग-उत्कल एक्सप्रेस हादसे का शिकार हो गई. इस हादसे में 24 लोगों की जान चली गई, जबकि 150 से ज्यादा जख्मी हैं. दुर्घटना इतनी भयावह थी कि पटरी से उतरे 13 कोच एक-दूसरे पर जा चढ़े. यहां तक कि एक कोच पास के मकान में और दूसरा कोच ट्रैक के किनारे स्थित तिलक राम इंटर कॉलेज कॉलेज में जा घुसा.इस मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ आईपीसी की धारा 304A (लापरवाही की वजह से मौत) का केस दर्ज किया गया है. वहीं इस हादसे को लेकर रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष को पहली नजर में मिले सबूतों के आधार पर आज शाम तक जबावदेही तय करने के निर्देश दिए हैं. रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने कहा कि वह हालात पर बारीकी से नजर रख रहे हैं और पटरियों की मरम्मत उनकी शीर्ष प्राथमिकता है. रेलमंत्री ने टि्वटर पर लिखा है, 'मरम्मत प्राथमिकता है. सात डिब्बों को हटा दिया गया है. घायलों के लिए सर्वश्रेष्ठ संभव चिकित्सा सेवा की व्यवस्था की जा रही है. हालात पर करीब से नजर रख रहा हूं.' रेलवे बोर्ड के मेंबर मोहम्मद जमशेद ने मीडिया से बातचीत में कहा कि शनिवार शाम को उत्कल एक्सप्रेस के 13 डिब्बे पटरी से उतरे. राहत-बचाव कार्य में NDRF की मदद ली गई. सभी अधिकारी तुरंत साइट पर रवाना हुए. राज्य मंत्री मनोज सिन्हा भी घटनास्थल पहुंचे. रेल मंत्री भी नजर बनाए हुए हैं. करीब 20 की मौत और 92 लोग घायल हुए हैं, जिसमें से 22 गंभीर और 70 सामान्य रूप से घायल हैं. बचाव कार्य में स्थानीय लोगों ने भी मदद की. उन्होंने कहा कि 10 बजे तक रेलवे ट्रैक बहाल होने की उम्मीद है. जो भी घटना हुई कमिश्नर रेलवे सेफ्टी, उत्तरी मंडल कल से उसकी जांच करेंगे. इसके अलावा उन्होंने कहा कि जो मरम्मत का काम चल रहा था, उस समय जो कॉशन लेना चाहिए था, वो नहीं लिया गया. शुरुआती जांच में जो भी जिम्मेदार होगा, उस पर कार्रवाई की जाएगी. शाम तक इसकी रिपोर्ट आ जाएगी. इसके अलावा आईपीसी की धारा 304A के तहत अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है. हादसे से जुड़ा गेटमैन और एक रेलवे कर्मचारी का ऑडियो सामने आने पर मोहम्मद जमशेद ने कहा कि इसकी जांच होगी.

निठारी कांडः सुरेंद्र कोली ने कहा 'जज साहब मैं पागल हूं', सामने से मिला ये जवाब

गाजियाबाद नोएडा के बहुचर्चित निठारी कांड में सजायाफ्ता कैदी सुरेंद्र कोली ने सीबीआइ के विशेष न्यायाधीश पवन कुमार तिवारी की अदालत में मंगलवार को एक नई अर्जी दी, जिसमें उसने कहा कि ‘मैं पागल हूं। कार्य और अपराध की प्रवृति नहीं जानता था। लिहाजा मेरे विरुद्ध कार्रवाई पागलों (विक्षिप्त) के लिए नियत कार्रवाई के अनुसार होनी चाहिए’। वहीं सुनवाई के दौरान सीबीआइ के विशेष न्यायाधीश ने उसकी इस अर्जी को खारिज कर दिया। मामले में सुनवाई के लिए अगली तारीख 23 नवंबर की नियत की गई है। निठारी में हत्या व दुष्कर्म के कई मामलों में सुनवाई के लिए सजायाफ्ता कैदी सुरेंद्र कोली और मोनिंदर सिंह पंधेर कड़ी सुरक्षा में सीबीआइ की विशेष अदालत में पेश हुए। अदालत में सुरेंद्र कोली ने खुद बहस करते हुए एक बार फिर खुद को बीमार बताया। कोली ने कहा, मैं पागल हूं। साथ ही इस बार उसने बाएं हाथ के कंधे और बाजू में दर्द की बात अदालत को बताई। इससे पहले उसने दाएं हाथ के कंधे और बाजू में दर्द की शिकायत की थी। मामले में जिला कारागार के चीफ मेडिकल अफसर ने अदालत में पेश होकर उसके पूरी तरह स्वस्थ होने और बहाना बनाने के संबंध में स्पष्टीकरण दिया था। मालूम हो, कि 29 दिसंबर 2006 को नोएडा के निठारी में मोनिंदर सिंह पंधेर की कोठी के पीछे नाले में पुलिस को 19 बच्चों और महिलाओं के कंकाल मिले थे, जिसके बाद पुलिस ने मोनिंदर सिंह पंधेर और उसके नौकर सुरेंद्र कोली को गिरफ्तार किया था। सीबीआइ के विशेष न्यायाधीश पवन कुमार तिवारी की अदालत में मंगलवार को सुरेंद्र कोली ने फिर से गवाहों को तलब करने और पुन: गवाही कराने की अर्जी भी दी। इस बार उसने मंजुला कृष्णन (आर्थिक सलाहकार व चेयरपर्सन मिनिस्ट्री ऑफ वूमेन एंड चाइल्ड डेवलपमेंट), बलविंदर कुमार (सेक्रेट्री डिपार्टमेंट ऑफ वूमेन एंड चाइल्ड डेवलपमेंट, यूपी सरकार), वीएन गौड (ज्वाइंट कमिश्नर, मिनिस्ट्री ऑफ होम अफेयर्स), जेएस कोचर (डायरेक्टर, चाइल्ड अफेयर्स, मिनिस्ट्री ऑफ वूमेन एंड चाइल्ड डेवलपमेंट), के. स्कंदन, डा. विनोद कुमार (एमडी, चीफ मेडिकल सुपरिटेंडेंट, नोएडा), मूर्ति देवी, डा. संजीव (एसोसिएट डायरेक्टर, सीएफआइ, भोपाल), डा. ममता सूद (एसोसिएट प्रोफेसर, एम्स), चंद्रशेखर (मेट्रो पॉलिटियन, मजिस्ट्रेट, पटियाला) की दोबारा से गवाही की अर्जी दी है। इस दौरान अदालत में कोली ने बहस भी की।

More Articles...

  1. इस्लाम में तीन तलाक और हलाला सामाजिक बुराई, बीएचयू के एमए के एग्जाम में पूछा सवाल
  2. एक बार फिर सुर्खियों में अभिनेत्री रिया सेना, कुत्ता बना वजह
  3. दारोगा ने यूपी पुलिस से दिया इस्तीफा, कहा- ऐसे में नौकरी करना मुश्किल
  4. अब मस्जिदें भी भगवा रंग में रंगी नजर आएंगी: आजम खान
  5. अमेठी में ही लगेगा मेगा फूड पार्क, यूपी व मोदी सरकार फेल : राहुल गांधी
  6. यूपी पुलिस ने घायलों को नहीं पहुंचाया अस्पताल, कहा- गाड़ी गंदी हो जाएगी
  7. अखिलेश यादव कन्नौज से तो नेताजी मैनपुरी से लड़ेंगे 2019 का लोकसभा चुनाव
  8. बालिका के मस्तिष्क की जटिल सर्जरी की
  9. दिल्ली से अमरोहा आ रही बस पलटी,दर्जनों घायल
  10. पुलिस के लिए गले की फांस बनी प्रताप की मौत

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3